20 गांवों के ग्रामीण हुए परेशान,:मेड़ता रोड में बाइपास फाटक पर मालगाड़ी एक घंटे तक खड़ी रहने से तीन ट्रेनें हुई लेट

नागौर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

भास्कर संवाददाता | मेड़ता रोड मेड़ता रोड में रेलवे स्टेशन के पास स्थित बाइपास के पास आधा किमी में तीन रेलवे फाटक आमजन के लिए परेशानी का सबब बन गई है। बाइपास से बीकानेर से जयपुर जा रही मालगाड़ी एक घंटे तक खड़ी रहने के कारण तीन ट्रेनों के सैकड़ों यात्रियों को लेटलतीफी का सामना करना पड़ा तो दूसरी ओर बीस गांवों के ग्रामीणों को भयंकर परेशानी का सामना करना पड़ा। बाइपास पर बैठे यात्रियों को ट्रेन के आने का इंतजार करना पड़ा। गुुरुवार को सुबह करीब साढ़े नौ बजे बीकानेर से जयपुर की ओर जाने वाली मालगाड़ी आकर खड़ी होने के बाद जोधपुर-वाराणसी को रवाना किया गया। बीकानेर साइड में सिकंदराबाद-हिसार को रवाना किया गया। इस कारण मालगाड़ी करीब एक घंटे तक खड़ी रह गई। ऐसे में जैसलमेर से जयपुर की ओर जाने वाली लीलण एक्सप्रेस को छापरी में खड़ी कर दिया गया। करीब एक घंटे 40 मिनट की देरी का सामना करना पड़ा। इसी प्रकार जयपुर से सूरतगढ़ जाने वाली ट्रेन को खेडूली में एक घंटे तक खड़ी रखा गया। इसी प्रकार बीकानेर से दादर की ओर जाने वाली ट्रेन को छापरी सहित अन्य स्टेशनों पर खड़ी रखने से एक घंटे की देरी से वह मेड़ता रोड पहुंची। दूसरी ओर बीस गांवों के ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना पड़ा।> रेलवे फाटक सी 99 ए बन गया है बीस गांवों के लिए नासूर मात्र आधा किमी की दूरी में तीन रेलवे फाटक स्थित है। तीसरी फाटक सी 99 ए है। जहां पर मालगाड़ी खड़ी होने के दौरान लोको पायलेट, सह चालक को बदला जाता है। फिर मालगाड़ी आगे आने पर गार्ड को भी बदला जाता है। ऐसे में करीब एक घंटे का समय खराब होता है। इस कारण आए दिन फाटक पर जारोड़ा सहित बीस गांवों को जाने वाले ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। करीब एक किमी तक कतारे लग गई।फाटक के बाहर स्टार्टर लगा होने से मालगाड़ी खड़ी होती है फाटक के बीच में- मेड़ता रोड बाइपास से ट्रेन को फुलेरा रेलमार्ग की ओर रवाना करने के लिए फाटक संख्या सी-99 ए के बाहर सिग्नल लगाया हुआ है। रिपीटर लगाया जा सकता है। मगर अब तक रिपीटर भी नहीं लगाया गया है और ना ही यहां पर स्टार्टर सिगंनल को हटाया जाकर प्लेटफार्म के पास में लगाया गया है। मालगाड़ी का चालक स्टार्टर के पास मालगाड़ी को खड़ी करने के कारण फाटक के बीच में ही मालगाड़ी खड़ी रहती है।

खबरें और भी हैं...