ड्रामा / बुजुर्ग की मौत पर हंगामा, 4 घंटे तक पड़ा रहा शव, डिस्कॉम से 5 लाख के हुए लिखित समझौते के बाद उठाया शव

X

  • पांच लाख की राहत देती है सरकार, डिस्कॉम ने

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

नागौर. पांचौड़ी थाना इलाके के चावंडिया गांव में शुक्रवार को अचानक आए हाई वॉल्टेज से घरों में करंट दौड़ने से एक बुजुर्ग की मौत के बाद दूसरे दिन शनिवार जेएलएन हॉस्पिटल में परिजनों ने हंगामा खड़ा कर दिया। परिजनों ने मुआवजे की मांग को लेकर शव लेने से इनकार कर दिया। इससे हॉस्पिटल में विवाद की स्थिति बनने पर थाने से पुलिस जाप्ता एवं अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे। इसके बाद ग्रामीणों में समझाइश का प्रयास किया गया, लेकिन बात नहीं बनी। 
ग्रामीण मृतक के परिवार को मुआवजा नहीं देने तक शव नहीं लेने पर अड़ गए। पुलिस ने बताया सुबह 10 बजे परिजनों की मौजूदगी में पोस्टमार्टम हुआ। इसके ठीक बाद परिजन मुआवजे की मांग करने लगे। काफी देर तक चली समझाइश के बाद डिस्कॉम अभियंता मौके पर पहुंचे और उन्होंने मृतक के परिवार को बतौर मुआवजा 5 लाख देने की घोषणा की, लेकिन परिजनों ने लिखित में आश्वासन मांगा। इस पर अभियंताओं ने लिखित में 5 लाख देने का आश्वासन दिया। हालांकि यह राशि बिना हंगामा किए हुए भी मिल जाती। क्योंकि सरकार द्वारा ऐसी घटना में पांच लाख तक की राशि दी जाती है।

इसके बाद परिजन शव लेने को तैयार हुए। दोपहर 2 बजे शव परिजनों को सौंपा गया। इस दौरान बड़ी संख्या में ग्रामीण एकत्रित थे। उल्लेखनीय है कि पांचौड़ी के चावंडिया गांव में शुक्रवार को घरेलू लाइन बड़ी विद्युत लाइनों की चपेट में आ गई। इससे घरों में हाई वॉल्टेज दौड़ गया। इससे कई घरों के इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरण जल गए और किसना राम पुत्र हीरा राम करंट की जद में आ गया। इससे उसकी मौत हो गई। पुलिस के अनुसार परिजनों ने विद्युत निगम के खिलाफ लापरवाही की रिपोर्ट दी है, जिसकी वजह से बुजुर्ग की मौत हो गई। पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर अनुसंधान शुरू कर दिया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना