• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Nagaur
  • When The Young Man Who Came With The Patient Made A Video, The CHC In charge And The Young Man Had A Fight; The Police Took The Young Man To The Police Station; Left Later

हॉस्पिटल में महिलाओं को जांचे लिख रहा था प्राइवेट युवक:मरीज के साथ आये युवक ने वीडियो बनाया तो CHC इंचार्ज और युवक में हुई मारपीट; पुलिस युवक को पकड़ थाने ले गई; बाद में छोड़ा

नागौर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हॉस्पिटल में महिला मरीजों को जांचे लिखता वीडियों में दिखा रहा प्राइवेट युवक।  - Dainik Bhaskar
हॉस्पिटल में महिला मरीजों को जांचे लिखता वीडियों में दिखा रहा प्राइवेट युवक। 

जिले की डेगाना राजकीय CHC पर मंगलवार को जमकर हंगामा हुआ। हॉस्पिटल में वीडियो बना रहे युवक और हॉस्पिटल इंचार्ज संजय केड़िया के बीच जमकर बहसबाजी और मारपीट भी हुई। इसके बाद हंगामे की सुचना पर मौके पर पहुंची पुलिस वीडियों बनाने वाले युवक को पकड़कर थाने ले गई और थोड़ी देर बाद पुलिस ने उसे छोड़ भी दिया।

थाने से बाहर आते ही युवक मुकेश जाट ने एक वीडियो जारी कर आरोप लगाया कि मंगलवार को डॉक्टर उषा केड़िया के चेंबर में उनकी गैर हाजिरी में एक बाहरी प्राइवेट युवक गजेंद्र वैष्णव महिला मरीजों को सोनोग्राफी सहित अन्य जांचे लिख रहा था और उन्हें कुछ चुंनिंदा लैब पर जांचे करवाकर रिपोर्ट लाने का कह रहा था। इस दौरान उसने वीडियों बनाना शुरू कर दिया। जिस पर गजेंद्र की सुचना पर मौके पर आये हॉस्पिटल इंचार्ज डॉक्टर संजय केड़िया ने उसके साथ मारपीट कर दी। इसके बाद मौके पर आई पुलिस भी बिना किसी गलती के उसे पकड़कर थाने ले गई और तकरीबन एक घंटे तक थाने में बैठाये रखा। बताया जा रहा है की वीडियो बनाने वाला मुकेश जाट भी शहर में संचालित एक प्राइवेट लैब पर काम करता है।

डेगाना थाने में वीडियों बनाने वाला युवक मुकेश जाट।
डेगाना थाने में वीडियों बनाने वाला युवक मुकेश जाट।

पीड़ित युवक ने वीडियो भी किया वायरल
इस दौरान युवक मुकेश जाट ने एक वीडियों भी वायरल किया जो आज दोपहर का ही बताया जा रहा है। वायरल हुए वीडियों में हॉस्पिटल में बने डॉक्टर चेंबर में एक युवक महिला मरीजों की पर्चियां बनाता दिख रहा है। वीडियों में सभी महिला मरीज लाइन बनाकर बारी-बारी युवक के पास आती दिख रही है। बताया जा रहा है कि वीडियों में दिखाई दे रहा युवक ही प्राइवेट युवक गजेंद्र है, जो सभी महिला मरीज़ों को बिना किसी मेडिकल डिग्री के जांचे लिख रहा था और चहेती प्राइवेट लैब में भेज रहा था।

इस संबंध में जब हॉस्पिटल इंचार्ज डॉक्टर संजय केड़िया से बात करने का प्रयास किया गया तो उन्होंने खुद को ऑपरेशन थिएटर में होने का हवाला देते हुए दस मिनिट बाद फोन करने को कहा। इसके बाद तक़रीबन एक घंटे बाद उन्हें दुबारा फोन किया गया तो उन्होंने फोन नहीं उठाया। वहीं मारपीट की घटना को लेकर जब हॉस्पिटल प्रबंधन से सीसीटीवी फुटेज चाही गई तो सीसीटीवी कैमरे खराब होने व लम्बे समय से बंद पड़े होने की बात बताई गई।

एसडीएम से मिलने पहुंचे डॉक्टर्स।
एसडीएम से मिलने पहुंचे डॉक्टर्स।

इस पुरे मामले को लेकर डॉक्टर जगदम्बे सिंह, डॉक्टर रामेश्वर लाल बेनीवाल, डॉक्टर राजेश बारूपाल व डॉक्टर प्रेमरतन गोदारा सहित अन्य डॉक्टरों ने एसडीएम मुकेश कुमार चौधरी से हॉस्पिटल व्यवस्था सुचारु रूप से बनाये रखने के लिए मुलाकत की। इसे लेकर एसडीएम ने उन्हें पूरी जानकारी लिखित में देने और अपने उच्च अधिकारियों को भी अवगत कराने को कहा।

इनपुट : राकेश सियाक (डेगाना)

खबरें और भी हैं...