8वीं में फेल तो अगली कक्षा में नहीं होंगे प्रमोट:फिर से आठवीं कक्षा में पढ़कर एग्जाम देकर ही पास हाेना हाेगा, उच्च स्तर पर गजट नोटिफिकेशन

नागौर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अब आठवीं में फैल होने पर अगली कक्षा में प्रमोट का मौका नहीं मिलेगा। ऐसे विद्यार्थी काे फिर से आठवीं कक्षा में पढ़कर एग्जाम देकर ही पास हाेना हाेगा। उच्च स्तर पर गजट नोटिफिकेशन इसी सत्र से लागू करने की कवायद चल रही हैं। एक्सपर्ट एवं शिक्षाविदों के अनुसार नया गजट नोटिफिकेशन इसी सत्र से लागू इस संबंध में जल्द से जल्द स्पष्ट आदेश जारी करने की सलाह दी हैं ताकि समय रहते आठवीं में अध्ययनरत विद्यार्थियों काे इस बात की जानकारी मिले और उसी अंदाज में सीरियस हाेकर पढ़ सके। इधर शिक्षा विभाग के जिला स्तर के अधिकारियों काे इस भी आदेश का इंतजार हैं। शिक्षा के अधिकार अधिनियम के तहत पहली से आठवीं तक के बच्चों काे फैल नहीं करने का नियम हैं। हालांकि इसमें ग्रेडिंग निर्धारित हाेती हैं। अब आठवीं कक्षा के लिए अब नियम बदल गए हैं। केंद्र व राज्य सरकार का गजट नोटिफिकेशन के जरिए बदलाव किए हैं। 16 सितंबर 2020 काे गजट नोटिफिकेशन जारी हुअा था। इसमें बताया था कि आठवीं में अब विद्यार्थी फैल भी हा़े सकेंगे। इस संबंध में केंद्र सरकार ने अधिसूचना जारी की थीं। इसके अनुसार आठवीं कक्षा की मुख्य परीक्षा में यदि कोई विद्यार्थी पास नहीं होता है तो उसे सप्लीमेंट्री घोषित किए जाने का प्रावधान तय हुआ है। सप्लीमेंट्री परीक्षा का आयोजन 60 दिन के भीतर होगा। इसमें फेल होने पर विद्यार्थी को कक्षा नवीं में दाखिला नहीं दिया जाएगा। ऐसे विद्यार्थियों को फिर से कक्षा आठवीं पढ़नी होगी। काेराेना के कारण पहले लागू नहीं हा़े पाया था, लेकिन अभी संस्था प्रधानों काे जानकारी नहीं...काेराेना के कारण गत सत्र में यह नियम लागू नहीं हा़े पाया था। लेकिन इस बार उच्च स्तर पर गजट नोटिफिकेशन का नियम लागू हाेने की उच्च स्तर पर कवायद चल रही हैं। हालांकि धरातल पर यानी स्कूल स्तर पर संस्था प्रधानों काे इस नए नियम की जानकारी नहीं हैं।

एक्सपर्ट एवं शिक्षक संघों ने कहा : स्थिति जल्द स्पष्ट करनी चाहिए, ताकि कोई भी असमंजस में नहीं रहे राजस्थान शिक्षक संघ राष्ट्रीय के पदाधिकारियों के अनुसार काेराेना के कारण गत सत्रों में गजट नोटिफिकेशन जारी नहीं हा़े पाया था। हालांकि अब इसी सत्र से लागू हाेने की चर्चा चल रही हैं। लेकिन सरकार एवं शिक्षा विभाग काे जल्द से जल्द स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए ताकि विद्यार्थी, अभिभावक एवं स्कूल के शिक्षक भी असमंजस में नहीं रहे। इसी प्रकार एक्सपर्ट के अनुसार बताया कि शिक्षा विभाग बहुत बड़ा महकता हैं। लाखाें की संख्या में विद्यार्थी पढ़ते हैं। इसलिए यदि काेई भी नया नियम हा़े ताे, सत्र की शुरुआत से ही स्थिति स्पष्ट कर देनी चाहिए। हालांकि आठवीं कक्षा के लिए गजट नोटिफिकेशन सही हैं। कारण इससे बच्चों की नींव मजबूत हाेगी। एक्सपर्ट एवं शिक्षक संघों ने कहा : स्थिति जल्द स्पष्ट करनी चाहिए, ताकि कोई भी असमंजस में नहीं रहे राजस्थान शिक्षक संघ राष्ट्रीय के पदाधिकारियों के अनुसार काेराेना के कारण गत सत्रों में गजट नोटिफिकेशन जारी नहीं हा़े पाया था। हालांकि अब इसी सत्र से लागू हाेने की चर्चा चल रही हैं। लेकिन सरकार एवं शिक्षा विभाग काे जल्द से जल्द स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए ताकि विद्यार्थी, अभिभावक एवं स्कूल के शिक्षक भी असमंजस में नहीं रहे। इसी प्रकार एक्सपर्ट के अनुसार बताया कि शिक्षा विभाग बहुत बड़ा महकता हैं। लाखाें की संख्या में विद्यार्थी पढ़ते हैं। इसलिए यदि काेई भी नया नियम हा़े ताे, सत्र की शुरुआत से ही स्थिति स्पष्ट कर देनी चाहिए। हालांकि आठवीं कक्षा के लिए गजट नोटिफिकेशन सही हैं। कारण इससे बच्चों की नींव मजबूत हाेगी।

खबरें और भी हैं...