पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पार्क में बच्ची की दर्दनाक मौत:झूले का धक्का लगने से नीचे गिरी 13 साल की बच्ची की गर्दन टूटी, सिर फट गया

राजसमंद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
झूले पर खेलते वक्त तेज रफ्तार झूला बच्ची से दो बार टकराया। पहली बार में बच्ची की गर्दन टूटी और दूसरी बार में झूले की टक्कर से उसका सिर फट गया। - Dainik Bhaskar
झूले पर खेलते वक्त तेज रफ्तार झूला बच्ची से दो बार टकराया। पहली बार में बच्ची की गर्दन टूटी और दूसरी बार में झूले की टक्कर से उसका सिर फट गया।
  • राजस्थान के राजसमंद की घटना

राजसमंद में शनिवार को एक पार्क में हुए हादसे में 13 साल की बच्ची की दर्दनाक मौत हो गई। झूले पर खेलते वक्त तेज रफ्तार झूला बच्ची से दो बार टकराया। पहली बार में बच्ची की गर्दन टूटी और दूसरी बार में झूले की टक्कर से उसका सिर फट गया। हादसे में बच्ची की मौके पर ही मौत हो गई। हादसे के बाद पार्क में हड़कंप मच गया। आसपास के लोग तुरंत बच्ची को अस्पताल ले गए, लेकिन वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

पुलिस अधिकारी योगेंद्र व्यास ने बताया कि हादसा सिंचाई विभाग के पार्क में हुआ है। इसमें पार्क के पास में ही रहने वाली ममता (13 साल) की मौत हो गई। ममता अपनी सहेलियों के साथ रोजाना की तरह पार्क आई थी। वह 7-8 सहेलियों के साथ झूला झूल रही थी, तभी यह घटना हुई।

हुआ यूं कि बच्ची पार्क में लगे हुए पैर से चलने वाले झूले को हाथ से धक्का दे रही थी। उसकी सहेलियां झूले में बैठी थी। तभी वह झूले के साथ आगे चली गई। झूला वापस आया तो बैलेंस बिगड़ने से बच्ची नीचे गिर गई, जिसमें उसकी गर्दन टूट गई। इसके बाद झूला दोबारा वापस आया और उसके सिर से टकराया। इसमें उसका सिर फट गया।

हादसे में बच्ची की मौके पर ही मौत हो गई। पार्क में घूमने आए लोग बच्ची को तुरंत कमला नेहरू अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। व्यास ने बताया कि हादसे की जानकारी मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। शव को पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया गया।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आसपास का वातावरण सुखद बना रहेगा। प्रियजनों के साथ मिल-बैठकर अपने अनुभव साझा करेंगे। कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा बनाने से बेहतर परिणाम हासिल होंगे। नेगेटिव- परंतु इस बात का भी ध...

और पढ़ें