7 महीने बाद कोरोना से एक दिन में 15 मौतें:प्रदेश में 16 हजार से ज्यादा पॉजिटिव मिले, हर चौथा रोगी और पांचवीं मौत जयपुर से

जयपुर5 महीने पहले

राजस्थान में शुक्रवार को भी तीसरी लहर में सबसे ज्यादा मौतें हुईं और सबसे ज्यादा मरीज सामने आए। 7 महीने बाद राजस्थान में कोरोना से 15 मौत हुईं। वहीं 16 हजार 878 नए पॉजिटिव मिले। इससे पहले जून में 25 मौत हुई थी। 16 हजार 878 में से 4035 केस जयपुर में मिले। वहीं 15 दम तोड़ने वालों में से 3 जयपुर के थे। यानी हर चौथा मरीज और पांचवां मरने वाला जयपुर से हैं।

इसके अलावा जोधपुर में 2222, अलवर में 1371 संक्रमित मिले। मौतों की बात करें तो जयपुर में 3, अजमेर-बीकानेर में 2-2 मरीजों ने दम तोड़ दिया। 8 जिलों बाड़मेर, भरतपुर, दौसा, नागौर, पाली, राजसमंद, सीकर, टोंक में 1-1 पॉजिटिव मरीज की मौत रिकॉर्ड हुई। प्रदेश में कोविड पॉजिटिव मरीजों की मौत का आंकड़ा लगातर बढ़ता जा रहा है। बुधवार को 12, गुरुवार को 13 मौतें हुई थी। कोरोना की तीसरी लहर में 4 जनवरी से 21 जनवरी तक 95 मौतें हो चुकी हैं। शुक्रवार को 10 हजार 175 मरीज ठीक हुए। एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 84 हजार 787 पहुंच गई है।

यपुर में 4035, जोधपुर में 2222 नए केस
जिलेवार संक्रमण की बात करें तो शुक्रवार को अजमेर में 657, अलवर में 1371, बांसवाड़ा में 115, बारां में 140, बाड़मेर में 298, भरतपुर में 898, भीलवाड़ा में 396, बीकानेर में 386, बूंदी में 81, चित्तौड़़गढ़ में 682, चूरू में 243 केस मिले। इसी तरह दौसा में 77, धौलपुर में 89, डूंगरपुर में 439, गंगानगर में 200, हनुमानगढ़ में 311, जयपुर में 4035, जैसलमेर में 94, जालोर में 59, झालावाड़ में 202, झुंझुनूं में 185, जोधपुर में 2222, करौली में 123, कोटा में 594 रोगी मिले। वहीं नागौर में 315, पाली में 504, प्रतापगढ़ में 316, राजसमंद में 156, सवाईमाधोपुर में 211, सीकर में 285, सिरोही में 129, टोंक में 208, उदयपुर में 857 नए केस सामने आए।

गहलोत बोले- कोरोना को हल्के में मत लीजिए:ओमिक्रॉन के पोस्ट कोविड इफेक्ट पर चेताया