पेपर देने या पास कराने वालों पर शिकंजा:जोधपुर-नागौर में 4-4, सीकर में 3 और डूंगरपुर-अलवर में 2-2 शातिर गिरफ्तार

राजस्थान4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नकल गिरोह के 4 आरोपी गिरफ्त में। - Dainik Bhaskar
नकल गिरोह के 4 आरोपी गिरफ्त में।

राजस्थान में रीट अभ्यर्थियों के साथ-साथ सरकार और प्रशासन के लिए भी सबसे बड़ी परीक्षा बन चुकी है। प्रदेशभर में शनिवार को राजस्थान पुलिस की टीमों ने जोधपुर, नागौर, डूंगरपुर, अलवर और सीकर में ताबड़तोड़ कार्रवाई कर कुल 15 शातिरों को दबोच लिया है।

नागौर- पुलिस ने 25 अभ्यर्थियों से 10-10 लाख रुपए लेकर रीट परीक्षा पास करवाने की गारंटी लेने वाले सूफिया कॉलेज के संचालक जावेद अख्तर व उसे भाई खालिद समेत 4 लोगों को गिरफ्तार किया है।

सीकर- पुलिस को चकम देकर भागे कार सवार नागाैर के बीएसएफ जवान नरेंद्र राठाैड़, दूजाेद के नाई बजरंगलाल, सीकर के रामस्वरूप व रानाेली के महेंद्र जाट को देर रात हसामपुर के पास से दबोच लिया गया।

जोधपुर- कमिश्ररेट की जिला पूर्व पुलिस ने फर्जी परीक्षार्थी गिरोह के मीरा गुरुकुल कोचिंग संस्थान संचालक बाड़मेर के धोरीमन्ना हाल पावटा निवासी भंवरलाल विश्नोई, बाड़मेर के रोहिला गांव के सरकारी स्कूल शिक्षक मोहनलाल, जालोर जिले के सांचोर के रमेश विश्नोई व बाड़मेर धोरीमन्ना के रावताराम जाट के साथ दो अन्य परीक्षार्थियों को धर दबोचा। इनके पास से 4.5 लाख नकद और 10 लाख के दो चेक बरामद किए।

डूंगरपुर- सागवाड़ा पुलिस व जिला स्पेशल टीम ने दबिश देकर रीट में पास करवाने के नाम पर जादेला सरकारी स्कूल के शारीरिक शिक्षक हरीश पाटीदार व उसके भतीजे मनीष पाटीदार काे गिरफ्तार किया है। आराेपी शारीरिक शिक्षक अम्बाडा ग्राम पंचायत के उपसरपंच का पति है। दाेनाें चाचा-भतीजे रीट में पास कराने की एवज में अभ्यर्थियाें से एडवांस रुपए लेते हैं। परीक्षा पास हाेने के बाद 12 लाख रुपए लेने की बात सामने आ रही है।

अलवर- सागवाड़ा पुलिस व जिला स्पेशल टीम ने दबिश देकर रीट में पास करवाने के नाम पर जादेला सरकारी स्कूल के शारीरिक शिक्षक हरीश पाटीदार व उसके भतीजे मनीष पाटीदार काे गिरफ्तार किया है। आराेपी शारीरिक शिक्षक अम्बाडा ग्राम पंचायत के उपसरपंच का पति है। दाेनाें चाचा-भतीजे रीट में पास कराने की एवज में अभ्यर्थियाें से एडवांस रुपए लेते हैं। परीक्षा पास हाेने के बाद 12 लाख रुपए लेने की बात सामने आ रही है।

काली कमाई का लालच- सरकारी स्कूल का पीटीआई, जेईएन और शराब ठेकेदार, सैलून संचालक, ड्राइवर और बीएसएफ का जवान नहीं रहे पीछे

खबरें और भी हैं...