पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • 6 Dogs Posted In Jaipur Airport Security Force Retired, Used To Work On Salary Of 11 Thousand Rupees; Farewell To The Chariot

डॉग्स की रिटायरमेंट सेरेमनी:जयपुर एयरपोर्ट सुरक्षा फोर्स में तैनात 6 डॉग हुए रिटायर्ड, 11 हजार रुपए सैलेरी पर करते थे काम; रथ में सवार कर दी विदाई

जयपुर19 दिन पहले
डॉग्स के रिटायर्ड होने के बाद उनके साथ अधिकारी।

अब तक हमने सरकारी या निजी कंपनियों में काम करने वाले कर्मचारियों-अधिकारियों के सेवानिवृत (रिटायरमेंट) होते देखा और सुना है, लेकिन जयपुर में एक अनूठा रिटायरमेंट देखने को मिला। यहां सुरक्षा दस्ते में तैनात डॉग स्क्वॉड के 6 डॉग को उनकी सेवा अवधि पूरी होने के बाद सर्विस से रिटायर्ड किया गया। खास बात ये रही कि इन डॉग्स के रिटायरमेंट सेरेमनी को किसी बड़े अधिकारी रिटायरमेंट सेरेमनी जैसा ही मनाया गया। बकायदा पूरे सम्मान के साथ इन्हें फूलमाला पहनाई और उनको जीप में बैठाकर उन जीप को रथ के समान रस्सी से सिपाहियों ने खींचा।

दरअसल ये पूरा दृश्य जयपुर एयरपोर्ट पर देखने को मिला। जहां एयरपोर्ट सुरक्षा व्यवस्था को चाक चौबंद रखने वाले डॉग स्क्वॉड के 6 सिपाहियों को रिटायर किया गया। केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के सुरक्षा दस्ते में साल 2011-12 में शामिल हुए ये 6 डॉग 10 साल की सर्विस पूरी करने के बाद रिटायर हुए। डॉग बारियो, इडाना, एडिसन, बेंसन, जेना और क्रिसी की विदाई के लिए समारोह आयोजित किया। समारोह के मुख्य अतिथि एयरपोर्ट निदेशक जयदीप सिंह बलहारा रहे। वहीं बीसीएएस के क्षेत्रीय निदेशक राकेश कुमार विशिष्ट अतिथि थे, जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता सीआईएसएफ के कमांडेंट वाई.पी. सिंह ने की। सेवानिवृत्ति के बाद इन सभी डॉग्स के रथ को एयरपोर्ट निदेशक सहित अन्य अधिकारियों ने रस्सी से खींचा। अब एयरपोर्ट की सुरक्षा में 5 नए डॉग शामिल किए गए हैं। 6 डॉग की सेवानिवृत्ति के बाद इनका ऑक्शन किया जाएगा।

चेहरे पर मुस्कान, लेकिन दिल था भारी

डॉग स्क्वॉड के यह सभी डॉग बेहद फुर्तीले रहे। इन्होंने हर किसी को प्रभावित किया। यही कारण था कि इन डॉग को विदाई देते समय अफसरों के चेहरे पर मुस्कान भले थी, लेकिन दिल के अंदर एक कसक भी थी। अफसर और सीआईएसएफ के जवान इन डॉग्स की शौर्य गाथा के चर्चे पूरे कार्यक्रम के दौरान करते रहे।

इन हीरो की उपलब्धियों पर एक नजर

इन डॉग्स ने आईटीबीपी प्रशिक्षण केंद्र पंचकुला से प्रशिक्षण लिया। डॉग बारियों सितंबर 2019 में ऑल इंडिया पुलिस मीट में शामिल हुआ। डॉग इडाना इंटर सेक्टर कॉम्पिटिशन (आरटीसी) बहरोड़ में शामिल हुई। इडाना को आंतरिक सुरक्षा के लिए श्रीनगर एयरपोर्ट पर भी 16 फरवरी 2020 से 17 जनवरी 2021 तक लगाया गया था। डॉग बेन्सन ने दिल्ली में 70वीं रिपब्लिक परेड में हिस्सा लिया।

हर महीने मिलता था 11 हजार रुपए वेतन

सेवा के दौरान सभी डॉग्स को 11 हजार रुपए प्रतिमाह सैलेरी मिलती थी। सैलेरी इनके खान-पान व चिकित्सा पर खर्च की जाती थी। अब इन डॉग्स को आम जनता को ऑक्शन किया जाएगा, लेकिन रिटायरमेंट के बाद इन डॉग्स को पेंशन नहीं मिलेगी। वहीं अब 5 नए डॉग्स प्रिंस, मैक्स, ब्रिटो, रॉकी और मॉली सुरक्षा के लिए तैनात किए गए हैं।

सप्ताह 3 दिन नॉनवेज और 4 दिन वेज

ऑन सर्विस इन डॉग्स का बकायदा डाइट चार्ट तैयार होता है। सप्ताह में इन्हे 3 दिन नॉनवेज और 4 दिन वेज खाना खिलाया जाता है। नॉनवेज में सुबह अण्डे और आधा लीटर दूध। वहीं वेज में सुबह दलिया और दूध दिया जाता है। इसी तरह नॉनवेज में 200 ग्रमा मटन और वेज में जो सामान्य वेजिटेबल बनती है उसे दिया जाता है।

नीलामी के बाद खरीदने वाले मालिक की होगी पूरी जिम्मेदारी

डॉग्स को आज से ओपन नीलाम किया जाएगा। इसे खरीदने वाले मालिक की ही आगे की सारी जिम्मेदारी होगी। वहीं डॉग की देखरेख करेगा और उसे लावारिस नहीं छोड़ेगा। अगर डॉग के साथ कोई अनहोनी होती है तो उसकी इन्फोर्म उसे सीआईएसएफ को करनी होगी। क्योंकि ऐसा कुछ होने पर हम इसकी एक रिपोर्ट तैयार करके मुख्यालय भिजवाते है।

खबरें और भी हैं...