पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

राजस्थान की राजनीति में उबाल:कांग्रेस कार्यालय में नाराज कार्यकर्ताओं ने पायलट के फोटो और नाम पर कालिख पोती, जिलाध्यक्ष बोले-यह ठीक नहीं

चित्तौड़गढ़22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जिला प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में नाराज पार्टी कार्यकर्ताओं ने उपमुख्यम्री सचिन पायलट की फोटो पर कालिख पोत दी।
  • शाम को भाजपा के खिलाफ होने वाले प्रदर्शन टाले, कारण पार्षद परिवार में गमी को बताया
Advertisement
Advertisement

(राकेश पटवारी)। राज्य में अशोक गहलोत सरकार पर आए संकट और उसमें पीसीसी चीफ और डिप्टी सीएम सचिन पायलट की भूमिका सोमवार को जिलेभर में भी चर्चा में रही। कुछ कार्यकर्ता गहलोत के प्रति समर्थन और पायलट का विरोध जताने के लिए उग्र तेवर दिखाने से भी नहीं चूके। उन्होंने डीसीसी कार्यालय में सचिन पायलट के फोटो और नाम पर कालिख पोत दी। हालांकि इसे जिलाध्यक्ष मांगीलाल धाकड़ ने अति उत्साह और जल्दबाजी करार देते हुए ठीक नहीं माना।

प्रदेश सरकार व पार्टी को लेकर दो दिन से जयपुर व दिल्ली में गहराए राजनीतिक घटनाचक्र के बीच सोमवार दोपहर डेढ बजे रेलवे स्टेशन मार्ग स्थित जिला कांग्रेस कार्यालय के बाहर कुछ कार्यकर्ता एकत्रित हुए।  पायलट विरोधी और गहलोत व कांग्रेस समर्थित नारेबाजी नारेबाजी करते हुए डीसीसी भवन में दाखिल हुए।

फ्लेक्स में लगे पायलट के फोटो पर कालिख पोत दी 
इन कार्यकर्ताओं ने वहां मुख्य हाल में मंच के पीछे लगे बड़े फ्लेक्स में सचिन पायलट के फोटो पर कालिख पोत दी। फ्लेक्स को फाड़ कर नारेबाजी की। सीढ़ियों के पास सभाभवन की उद्घाटन पटि्टका में पायलट के नाम पर भी कालिख पोती। इसका उदघाटन दो साल पहले पायलट ने ही किया था।

भवन पर बाहर की ओर लटके एक अन्य फ्लेक्स में भी ऐसा ही किया। हालांकि इनमें आलाकमान व सीएम अशोक गहलोत सहित अन्य नेताओं के फोटो व नाम भी होने से बाद में फलेक्स को सम्मानपूर्वक हाल में जाकर रख दिया।

इस घटनाचक्र से सकते में आए भवन के एक मात्र कर्मचारी युवक ने जिलाध्यक्ष मांगीलाल धाकड़ को अवगत कराया। इसके बाद उन्होंने डीसीसी गेट को बंद करने के निर्देश देते हुए युवक को हड़काया। पुलिस की गुप्तचर टीम भी पहुंची और रिकार्डिंग कर लौट गई। इस बीच प्रदर्शन के बाद दीपक पटवारी की तबियत खराब होने पर उनको जिला अस्पताल ले जाकर भर्ती कराया गया।

बोले जिलाध्यक्ष - ये एकाएक हुआ उचित नहीं

इस बारे में जिलाध्यक्ष ने कहा कि इस घटना के समय वे वहां नहीं थे। उन्होंने कहा, पहले मुझे सूचित करते। ऐसा करके गलती की है। पायलट कहीं जा रहे थे तो ऐसी जल्दबाजी क्यों की। जब पीपीसी में भी वापस पोस्टर लगा दिए गए तो यहां ऐसी भावुकता क्यों की। विरोध प्रदर्शन का दूसरा तरीका भी होता है। कालिख पोती है तो उसे कल साफ करवाएंगे। आगे से भी निर्देश लेंगे। पोस्टर में हमारे कई नेताओं के फोटो भी हैं। पायलट नेता रहे तो सैकड़ों उदघाटन किए होंगे। क्या हम ऐसे कालिख पोतेंगे। - मांगीलाल धाकड जिलाध्यक्ष कांग्रेस

शाम को होने वाले प्रदर्शन टाले, कारण पार्षद परिवार में गमी को बताया
प्रदेश में चल रहे राजनीतिक घटनाचक्र के बीच ही कांग्रेस के सोशल मीडिया पर शाम को दो जगह प्रदर्शन की सूचना देते हुए कार्यकर्ताओं को बुलावा दिया गया। इसमें एक ब्लाक कांग्रेस व एक जिला युवक कांग्रेस का था। हालांकि ये प्रदर्शन पीएम नरेंद्र मोदी सहित भाजपा नेताओं के खिलाफ बताए गए पर दोपहर में ही दोनों प्रदर्शन स्थगित करने की सूचना भी आ गई। इसका कारण कांग्रेस पार्षद बालमुकुंद मालीवाल के पिता का आकस्मिक निधन होने को बताया गया।

जिले के दोनों विधायकों सहित अन्य नेताओं पर भी रही सबकी नजर

प्रदेश सरकार व कांग्रेस में उत्पन्न हालात में सबकी नजर जिले के नेताओं खासकर दोनों पार्टी विधायकों पर भी बनी रही। इनमें से एक निम्बाहेड़ा विधायक उदयलाल आंजना सरकार में केबिनेट मंत्री भी हैं। दूसरे बेगूं के विधायक राजेंद्र विधुड़ी हैं। आंजना शनिवार रात तक अपने पैतृक गांव केसुंदा में ही थे, लेकिन वे रविवार सुबह जयपुर और सीएम हाउस पहुंच गए थे। इसी तरह बेगूं विधायक विधुडी भी सोमवार सुबह मुख्यमंत्री निवास पर पहुंचकर विधायक दल की बैठक में शामिल हो गए।

गौरतलब है कि गत विस चुनाव तक आंजना प्रदेश कांग्रेस की राजनीति में खुलकर पायलट व सीपी जोशी खेमे में ही थे। यहां तक कि उनका मंत्री पद भी पायलट कोटे में ही गिना जाता था पर कुछ समय बाद ही उनकी सीएम गहलोत से करीबी बढ़ने लगी। जिसका अप्रत्याक्षित असर जिले की राजनीति में भी साफ दिखाई देने लगा। यहां तक कि जिले में पायलट के कुछ अन्य कट्‌टर समर्थक भी या तो तटस्थ या गहलोत गुट से करीबी बढ़ाने लगे। संगठन के कुछ पदाधिकारी जरूर पायलट के ही संपर्क में रहे।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज आप अपनी रोजमर्रा की व्यस्त दिनचर्या में से कुछ समय सुकून और मौजमस्ती के लिए भी निकालेंगे। मित्रों व रिश्तेदारों के साथ समय व्यतीत होगा। घर की साज-सज्जा संबंधी कार्यों में भी समय व्यतीत हो...

और पढ़ें

Advertisement