पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • As The Number Of Positive Cases Increased, The Death Toll Also Began To Scare; 78 Percent Of The People Who Died In April Broke Their Strength In The First Week Of May

राजस्थान में कोरोना से हालात बेकाबू:पिछले 7 दिनों में 1107 लोगों की जान गई, यह अप्रैल में हुई कुल मौतों का 78%; छोटे जिलों में सुधार के संकेत

जयपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राजस्थान में बढ़ते कोरोना के मामलों ने हालात बिगाड़ कर रख दिए हैं। नए केस के साथ ही अब मौत के आंकड़ों ने भी सरकार और लोगों की चिंता बढ़ा दी है। मई के पहले सप्ताह में राज्य में 1107 लोगों की कोरोना की वजह से मौत हो गई। अप्रैल में यह आंकड़ा 1421 था। यानी पिछले महीने मुकाबले 78% मौतें पिछले 7 दिनों में ही रिकॉर्ड की गई हैं।

हालांकि, राहत की बात यह है कि रिकवर मरीजों की संख्या में भी धीरे-धीरे इजाफा हो रहा है। राज्य में जिलेवार रिकवरी की स्थिति देखें, तो छोटे जिले डूंगरपुर, बांसवाड़ा, भरतपुर, नागौर में स्थिति बेहतर होने लगी है। उधर, बाड़मेर, जैसलमेर, चूरू, हनुमानगढ़ में हालात बिगड़ रहे हैं।

बीते दिन फिर से बढ़े मामले
पिछले 24 घंटे में 18,231 नए संक्रमित मिले, जबकि रिकॉर्ड 164 लोगों की जान गई। इससे पहले 2 मई को सबसे अधिक 18,298 मरीज आए थे। उसके बाद तीन दिन तक लगातार नए मरीजों के आंकड़े में गिरावट आई थी। मगर पिछले दो दिनों से फिर संक्रमित बढ़ने लगे हैं।

विशेषज्ञों की मानें, तो मई का ये महीना मौत के मामले में डरावना रहने वाला है। पहली लहर जब सितंबर, अक्टूबर और नवंबर में थी, इस दौरान कुल 1,264 लोगों की कोरोना से जान गई थी। ऐसे में मई के पहले सप्ताह के आंकड़ों को देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि दूसरी लहर कितनी घातक है।

डूंगरपुर में 90% रिकवरी
राजस्थान में पॉजिटिव केसों की संख्या में बढ़ोतरी के बीच राहत की खबर यह है कि अलग-अलग जिलों में रिकवरी रेट अब तेजी से बढ़ने लगा है। डूंगरपुर 90% रिकवरी रेट के साथ टॉप पर है। डूंगरपुर में अब तक 14,153 लोग पॉजिटिव हो चुके हैं। इनमें 12,709 लोगों ने कोरोना को मात दी है। इसी तरह, नागौर, भरतपुर में भी स्थिति काफी बेहतर है। सबसे बड़ी राहत की बात प्रमुख हॉटस्पॉट जिलों में शामिल कोटा से है, यहां रिकवरी रेट 85% तक पहुंच गया है।

सवाई माधोपुर में हालत चिंताजनक
रिकवरी के मामले में सवाई माधोपुर की स्थिति चिंताजनक है। राज्य में सबसे कम 40% रिकवरी सवाई माधोपुर जिले में है। यहां अब तक 8]381 मरीज मिले हैं, जिसमें 3,362 मरीज ही ठीक हुए हैं। इसके अलावा जैसलमेर, हनुमानगढ़ और चूरू में भी स्थिति खराब है, जहां रिकवरी रेट 50% से भी कम है।

उदयपुर में वैक्सीन की किल्लत
उदयपुर में वैक्सीन की डोज खत्म होने के कगार पर है। यहां शनिवार को सिर्फ 18 से 44 साल की उम्र के लोगों का वैक्सीनेशन हो रहा है। आरसीएचओ डॉ. अशोक आदित्य की मानें, तो जिले में केवल इतनी ही डोज बची है कि शनिवार को ही इस उम्र के लोगों का वैक्सीनेशन हो सकता है। अगर डोज नहीं आई तो रविवार को मजबूरन इस उम्र के लोगों का वैक्सीनेशन भी बंद करना पड़ेगा।

खबरें और भी हैं...