गहलोत बोले- सरकार गिराने के लिए 200 लोगों की टीम:BJP की टीम में बाउंसर और कार्यकर्ता शामिल, मोदी हॉर्स ट्रेडिंग का नया मॉडल लाए

जयपुर/ अहमदाबाद2 महीने पहले

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विधायकों की खरीद-फरोख्त से सरकार गिराने को लेकर BJP और केंद्र सरकार को फिर निशाने पर लिया है। उन्होंने कहा- मोदी पता नहीं कैसा मॉडल लेकर आए हैं। यह हॉर्स ट्रेडिंग का मॉडल है। आजादी के बाद पहली बार आया है। हॉर्स ट्रेडिंग करके विधायकों को पहले गुड़गांव और मानेसर ले जाया गया।

उन्होंने कहा- इनकी 200 लोगों की टीम फिक्स है। इन्हें बाकायदा ट्रेनिंग दी हुई है। इसमें बाउंसर भी होते हैं। इनके कार्यकर्ता भी होते हैं। एक टीम बनाई हुई है, मिस्टर जैन करके कोई एमएलए हैं। वो भी सक्रिय रहते हैं। गहलोत गुरुवार को अहमदाबाद में मीडिया से बात कर रहे थे।

उन्होंने कहा- मध्य प्रदेश के कांग्रेस विधायकों को पहले ले गए तो दिग्विजय सिंह और जीतू पटवारी समझाकर वापस लाए। फिर उन्हें बेंगलुरु ले जाया गया। वहां कांग्रेस विधायकों को 30 से 35 ​करोड़ रुपए दिए गए।

आपके आशीर्वाद से बच गया वर्ना मुख्यमंत्री नहीं रहता
गहलोत ने कहा- केंद्र और बीजेपी मैनेजमेंट करके साम, दाम, दंड और भेद करके सरकारें गिरा रहे हैं। दिल्ली में गर्व से सीना चौड़ा करके घूम रहे हैं। गोवा, कर्नाटक, मणिपुर, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र में कैसे सरकारें गिराई गईं। राजस्थान को हमने बचा लिया, वरना मैं यहां मुख्यमंत्री के तौर पर नहीं बैठा होता। मुख्यमंत्री कोई दूसरा ही होता यहां। आपके आशीर्वाद से बच गया हूं।

बीएसपी-निर्दलीय विधायकों को हमने एक रुपया नहीं दिया
प्रदेशवासियों की दुआएं थीं। विधायकों ने हमारा साथ दिया। 34 दिन तक विधायक बाड़ेबंदी में मेरे साथ बैठे रहे। होटल से बाहर जाते ही पहली किस्त 10 करोड़ की थी। उसे छोड़कर विधायक हमारे साथ बैठे रहे। इतिहास में ऐसा कहीं नहीं सुना होगा। बीएसपी के साथी मुझसे जुड़े। हमने उन्हें आज तक एक रुपए नहीं दिया। ऐसा कभी होता है। निर्दलीय विधायकों ने समर्थन दिया। वे चार साल से ​साथ दे रहे हैं। यह गुडविल होती है सरकार की।

हॉर्स ट्रेडिंग पूरी नहीं होती है तो राज्यसभा चुनाव स्थगित करवा देते हैं
गहलोत ने कहा- गांधी के प्रदेश में मोदी कैसा मॉडल ले आए हैं। जीतने के बाद भी कांग्रेस विधायक को तोड़ा गया, जबकि यहां सरकार गिरने की कोई आशंका ही नहीं थी। 2017 में भी इन्होंने कांग्रेस विधायकों को तोड़ा और 2012 में भी यही किया था। हॉर्स ट्रेडिंग नहीं कर पाते तो चुनाव स्थगित करवा देते हैं। हम कैसे भूल सकते हैं, जब हमारे यहां भी गुजरात के साथ राज्यसभा के चुनाव स्थगित हुए थे। उस वक्त हॉर्स ट्रेडिंग पूरी नहीं हो पाई थी, इसलिए राज्यसभा चुनाव स्थगित करवा दिए थे।

स्वतंत्रता दिवस पर लगाए थे गंभीर आरोप
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने स्वतंत्रता दिवस पर BJP पर गंभीर आरोप लगाए थे। उन्होंने कहा था- पैरा-मिलिट्री फोर्स के ट्रकों में भरकर BJP दफ्तरों तक पैसे पहुंचाए जाते हैं। पूरा सिस्टम इनका है। इसलिए इन्हें पकड़ेगा कौन? गहलाेत ने नोटबंदी के जरिए भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने का आरोप लगाया था।