सिंचाई प्रणाली होगी पारदर्शी / नर्मदा नहर प्रोजेक्ट और गंग-भांखडा नहर पर लगेगा स्काडा सिस्टम, मोबाइल से दिख जाएगा नहर में पानी

नर्मदा नहर परियोजना में स्काडा सिस्टम लगाया जाएगा। इससे इंटरनेट के जरिए नहर से संबंधित आंकड़े मोबाइल पर देखे जा सकेंगे। नर्मदा नहर परियोजना में स्काडा सिस्टम लगाया जाएगा। इससे इंटरनेट के जरिए नहर से संबंधित आंकड़े मोबाइल पर देखे जा सकेंगे।
X
नर्मदा नहर परियोजना में स्काडा सिस्टम लगाया जाएगा। इससे इंटरनेट के जरिए नहर से संबंधित आंकड़े मोबाइल पर देखे जा सकेंगे।नर्मदा नहर परियोजना में स्काडा सिस्टम लगाया जाएगा। इससे इंटरनेट के जरिए नहर से संबंधित आंकड़े मोबाइल पर देखे जा सकेंगे।

  • ऑनलाइन होगी नहर का पानी छोड़ने की प्रक्रिया, किसान होगा हाईटैक

दैनिक भास्कर

Jun 24, 2020, 06:15 PM IST

जयपुर. (श्यामराज शर्मा)। प्रदेश के नर्मदा नहर प्रोजेक्ट और गंग-भांखड़ा नहर पर भी स्काडा सिस्टम लगाया जाएगा। स्काड़ा सिस्टम वेब आधारित होने के कारण नहर में प्रवाहित पानी व अन्य आंकड़े किसान तथा जनता द्वारा इंटरनेट (सेटेलाइट) से किसी भी जगह या स्थान से देखे जा सकते हैं। किसान अपने मोबाइल पर भी नहर में आने वाले पानी की जानकारी ले सकेगा।

इससे सिंचाई प्रणाली पारदर्शी होगी। इसके साथ ही स्काडा से पानी प्रबंधन को बेहतर किया जा सकेगा। जल संसाधन विभाग ने स्काडा का वर्कऑर्डर देने की प्रक्रिया शुरु कर दी है। यह काम एक साल में पूरा हो जाएगा। 
जल संसाधन विभाग के प्रमुख सचिव नवीन महाजन ने बताया कि नदियों, नहरों व सिंचाई सिस्टम की ऑनलाइन सिस्टम से मॉनिटरिंग करने पर काम कर रहे हैं ताकि सिंचाई प्रणाली पारदर्शी हो सके और किसानों को पूरे हक का पूरा पानी मिल सके।

एडीसीपी से होगा नदियों में जल प्रवाह का मापन

जल संसाधन विभाग ने नदियों में जल प्रवाह का सटीक मापन करने के लिए एडीसीपी सिस्टम लगाया जा रहा है। गंग-भाखड़ा नगर सिस्टम व अन्य नदियों पर यह लगाने से जल प्रवाह की स्थिति की जानकारी होने से बेहतर प्रबंधन किया जा सकेगा। इसके साथ ही राज्य के लिए नेशनल वाटर इन्फार्मेटिक सेंटर के सहयोग से इंटीग्रेटेड वाटर एंड क्रॉप इन्फॉरमेशन एंड मैनेजमेंट सिस्टम (आईडब्ल्यूसीआईएमएस) विकसित किया जा रहा है। इसके माध्यम से डिजिटल प्लेटफार्म पर सतही जल, भूजल व कृषि संबंधित महत्वपूर्ण सूचनाएं एक ही प्लेटफार्म पर मिल सकेगी।

इंदिरा गांधी नगर प्रोजेक्ट में लगा है स्काडा

इंदिरा गांधी नगर प्रोजेक्ट में पहले से ही स्काडा सिस्टम लगा हुआ है। यहां पर फीडर, मुख्य नहर, ब्रांच नहर व सब ब्रांच नहरों के स्टेशनों पर अल्ट्रासोनिक उपकरणों से निरंतर नहरों में पानी के प्रवाह का आंकलन किया जाता है। प्रोजेक्ट के इंजीनियर व कर्मचारी अपने फील्ड स्टेशनों पर और किसान इंटरनेट के जरिए लगातार जानकारी लेते हैं। ऐसे में नहर के अंतिम छोर पर किसान को मिलने वाले पानी की पूरी जानकारी मिलती है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना