6-8 महीने में मंत्रिमंडल विस्तार के संकेतों पर गरमाई सियायत:बीजेपी विधायक रामलाल बोले- कांग्रेस विधायकों में असंतोष दबाने के लिए CM ने चली जादुई चाल

जयपुर8 महीने पहले
6-8 महीने में मंत्रिमंडल विस्तार के संकेतों पर गरमाई सियायत

बीजेपी ने कहा है कि प्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार के बाद कांग्रेस विधायकों में भारी असंतोष हो गया है। जिसे दबाने के लिए मुख्यमंत्री ने एक और जादुई चाल चली है। गहलोत ने अगले 6 से 8 महीने में मंत्रिमंडल विस्तार करने की बात इसीलिए कही है। बीजेपी विधायक और प्रदेश मुख्य प्रवक्ता रामलाल शर्मा ने CM के उस बयान पर राज्य सरकार को घेरा है। जिसमें गहलोत ने पिछले साल पायलट कैम्प की बगावत को याद करते हुए कहा है कि मंत्री नहीं बन पाने वाले विधायकों को आगे किसी भी तरह की शिकायत नहीं आने दी जाएगी। हाईकमान का इशारा हुआ तो फिर से मंत्रिमंडल विस्तार किया जा सकता है।

रामलाल शर्मा,बीजेपी विधायक व मुख्य प्रवक्ता
रामलाल शर्मा,बीजेपी विधायक व मुख्य प्रवक्ता

विधायकों का असंतोष दबाने के लिए CM ने चली जादुई चाल

रामलाल शर्मा ने कहा कि कांग्रेस विधायकों में बढ़ता असंतोष दबाने के लिए मुख्यमंत्री ने एक और जादुई चाल चली है। उन्होंने कहा है कि 6-8 महीने बाद फिर से मंत्रिमंडल में फेरबदल कर पुनर्गठन किया जाएगा। एक तरह से विरोध करने वाले विधायकों को गहलोत आश्वस्त कर रहे हैं कि वो विरोध नहीं करेंगे, तो हो सकता है उनका नम्बर भी आ सकता है। लेकिन राजनीति के क्षेत्र में काम करने वाले तमाम विधायक जानते हैं कि मुख्यमंत्री किस लिए यह बात कह रहे हैं। लेकिन जिन विधायकों को पहले यह आश्वासन दिया था कि आपको हमारे साथ जुड़ने पर प्रदेश मंत्रिमंडल में मौका दिया जाएगा। मंत्रिमंडल में शामिल नहीं करने पर उनमें असंतोष है। जिस तरह कांग्रेस की अंदरूनी कलह को उजागर करने वाले विधायकों के बयान आए वो भी चौंकाने वाले हैं।

जनता को 2 साल और भुगतना पड़ेगा

रामलाल ने कहा लेकिन इस सब बातों से जनता को कोई वास्ता नहीं है। सरकार चलाना और बनाना मुखिया की जिम्मेदारी है। लेकिन इस झगड़े का नुकसान पिछले 3 साल से राजस्थान की जनता भुगत रही है और अगले 2 साल और भुगतना पड़ेगा। कार्यकाल पूरा करना सरकार की मजबूरी है। कार्यकाल के दौरान जनता के हितों को ध्यान में रखते हुए काम करने वाली सरकार को ही अच्छा माना जाता है। मौजूदा कांग्रेस सरकार से राजस्थान की जनता को कोई उम्मीद नहीं है। सरकार जनता का विश्वास खो चुकी है। आने वाले समय में इसका रिजल्ट भी देखने को मिलेगा।

खबरें और भी हैं...