नूपुर शर्मा की हत्या करने पाक से आया घुसपैठिया:अजमेर दरगाह में जियारत के बाद मर्डर की थी प्लानिंग, 11 इंच लंबा चाकू मिला

श्रीगंगानगर/जयपुर3 महीने पहले
पाकिस्तान के मंडी बहाउद्दीन के रहने वाले रिजवान अशरफ को 16 जुलाई को BSF ने पकड़ा था। - Dainik Bhaskar
पाकिस्तान के मंडी बहाउद्दीन के रहने वाले रिजवान अशरफ को 16 जुलाई को BSF ने पकड़ा था।

बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (BSF) ने राजस्थान में इंटरनेशनल बॉर्डर से घुसपैठ कर रहे एक पाकिस्तानी नागरिक को पकड़ा है। घुसपैठिया भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा को मारने की फिराक में था। उसके पास से कई संदिग्ध सामान भी मिला है। खुफिया एजेंसी इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB), रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (RAW) और मिलिट्री इंटेलीजेंस एजेंसी की संयुक्त टीम उससे पूछताछ कर रही है।

सूत्रों ने बताया कि 16 जुलाई की रात करीब 11 बजे श्रीगंगानगर जिले से लगे हिंदूमलकोट बॉर्डर फेंसिंग पर संदिग्ध व्यक्ति घूम रहा था। पेट्रोलिंग टीम को शक हुआ तो उससे पूछताछ की। वह सही से जवाब नहीं दे सका। तलाशी लेने पर उसके पास से दो चाकू मिले, जिसमें एक 11 इंच का धारदार चाकू था। इसके अलावा धार्मिक किताबें, मैप, कपड़े और खाने का सामान भी मिला।

उत्तरी पाकिस्तान का रहने वाला है आरोपी
पूछताछ में आरोपी ने अपना नाम रिजवान अशरफ बताया है। वह उत्तरी पाकिस्तान के मंडी बहाउद्दीन शहर का रहने वाला है। उसने बताया कि नूपुर शर्मा की हत्या के इरादे से बॉर्डर क्रॉस किया। साजिश को अंजाम देने से पहले वह अजमेर दरगाह जाने वाला था। BSF ने आरोपी को स्थानीय पुलिस को सौंप दिया। पुलिस ने उसे स्थानीय कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे पांच दिन के लिए रिमांड पर भेज दिया गया।

भास्कर ने जब श्रीगंगानगर में तैनात BSF अफसरों से इस बारे में बात की तो उन्होंने कहा कि एक पाकिस्तानी घुसपैठिए को पकड़ा गया है। SP आनंद शर्मा ने बताया कि घुसपैठिए रिजवान अशरफ से कड़ाई से पूछताछ की तो भारत आने का सच उगल दिया। उसने कहा कि, नूपुर शर्मा के विवादित बयान देने के बाद से वह बहुत गुस्से में था। उसने तय कर लिया था कि, उसे मारकर ही दम लेगा।

SP के मुताबिक उसे नहीं पता था कि वह भारत की किस पोस्ट पर पहुंचेगा या नूपुर शर्मा कहां रहती है। इसके बावजूद उसने भारत आने का फैसला किया। वह पहले भारत में घुसने और फिर नूपुर शर्मा को ढूंढने का मकसद लेकर आया था। प्रारंभिक पूछताछ में उसका किसी आतंकी संगठन से कनेक्शन सामने नहीं आया है। जांच जारी है।

कन्हैया के हत्यारे गौस मोहम्मद (बाएं) और रियाज जब्बार (दाएं) का भी पाकिस्तान की संस्था दावत-ए-इस्लाम से लिंक मिला था।
कन्हैया के हत्यारे गौस मोहम्मद (बाएं) और रियाज जब्बार (दाएं) का भी पाकिस्तान की संस्था दावत-ए-इस्लाम से लिंक मिला था।

कन्हैयालाल के हत्यारों का भी पाक कनेक्शन
उदयपुर के कन्हैयालाल के हत्यारों का भी पाक कनेक्शन सामने आया था। राजस्थान के गृह राज्य मंत्री राजेंद्र यादव ने बताया कि दोनों हत्यारे पाकिस्तान के दावत-ए-इस्लाम कट्‌टरपंथी संगठन से जुड़े हुए थे। हत्यारे गौस मोहम्मद ने पाकिस्तान में ट्रेनिंग भी ली थी। दोनों पाकिस्तान के 10-12 मोबाइल नंबरों पर लगातार बात करते थे। रिजवान की गिरफ्तारी से अब एक बार फिर नूपुर शर्मा केस में पाकिस्तानी कनेक्शन सामने आया है।

ये भी पढ़ें-
बेरहम हत्या का पाकिस्तान और 26/11 से निकला कनेक्शन:एक के बाद एक खुलासे होते रहे, जिन्हें पढ़कर हर कोई हिल गया