जूता उछाल कांड के बाद बोले मंत्री चांदना:एक-दो दिन के घटनाक्रम की परवाह नहीं करें, ये सब कीचड़ बाहर का है

जयपुर3 महीने पहले

पुष्कर में जूता उछाल कांड के बाद मंत्री अशोक चांदना ने सचिन पायलट और उनके समर्थकों पर फिर इशारों-इशारों में हमला किया है। चांदना ने कहा- पिछले एक-दो दिनों से कई घटनाक्रम पूरे राजस्थान में चल रहे हैं, उनकी परवाह आप लोगों को करने की जरूरत नहीं है। ये सब कीचड़ जो है बाहर का है, इसको बाहर ही रहने दो। अपने अंदर घुसने नहीं देना।

यहां न किसी की हवा आ रही न यहां से किसी की हवा जा रही, मस्त रहो। बाहर की किसी खबर से, बाहर की किसी बात से विचलित होने की आवश्यकता नहीं है। चांदना मंगलवार को हिंडौली में ब्लॉक स्तरीय ग्रामीण ओलिंपिक खेल प्रतियोगिता में बोल रहे थे।

पुष्कर में खेल मंत्री अशोक चांदना के भाषण के दौरान जूते उछाले जाने की घटना के बाद सीएम अशोक गहलोत और पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट के खेमे आमने-सामने हो गए हैं। दोनों खेमों के समर्थक सोशल मीडिया पर एक -दूसरे को निशाने पर ले रहे हैं। सोमवार देर रात चांदना ने जिस तरह पायलट को खुलकर चेतावनी दी, उससे कड़वाहट और बढ़ गई है।

चांदना ने सीधे तौर पर पायलट को निशाने पर लेते हुए जूते फिंकवाने की घटना के लिए जिम्मेदार ठहरा दिया। चांदना ने सोमवार देर रात ट्वीट किया था- मुझ पर जूता फिंकवाकर पायलट यदि मुख्यमंत्री बनें तो जल्दी से बन जाएं। क्योंकि आज मेरा लड़ने का मन नहीं है। जिस दिन मैं लड़ने पर आ गया तो फिर एक ही बचेगा। यह मैं चाहता नहीं हूं।

दो साल में यह पहला मौका है, जब पायलट को गहलोत सरकार के किसी मंत्री ने इस तरह सीधी धमकी देते हुए निशाने पर लिया है। चांदना मुख्यमंत्री गहलोत खेमे के हैं। पायलट खेमे के गुर्जर विधायक और समर्थक इसी बात को लेकर चांदना को निशाने पर लेते रहे हैं।

अशोक चांदना का ट्वीट।
अशोक चांदना का ट्वीट।

बैंसला और पायलट समर्थकों के पहले भी निशाने पर रहे चांदना
चांदना कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला के समर्थकों के निशाने पर रहे हैं। दो साल पहले कर्नल बैंसला ने एमबीसी आरक्षण को लेकर आंदोलन किया था। तब चांदना को बात करने के लिए भेजा गया था। उस समय भी चांदना को हुटिंग का सामना करना पड़ा था। चांदना पर कमेंट करते हुए कई वीडियो भी उस दौरान सोशल मीडिया पर चले थे।

सोमवार को पुष्कर में कर्नल किरोड़ी बैंसला के अस्थि विसर्जन का कार्यक्रम था। इसमें चांदना बोलने पहुंचे तो लोग जूते उठाने लगे।
सोमवार को पुष्कर में कर्नल किरोड़ी बैंसला के अस्थि विसर्जन का कार्यक्रम था। इसमें चांदना बोलने पहुंचे तो लोग जूते उठाने लगे।

करौली प्रभारी रहते वक्त भी चांदना को झेलना पड़ा विरोध
पायलट की बगावत के बाद से अशोक चांदना गुर्जर समाज के एक वर्ग के निशाने पर रहे हैं। चांदना जब करौली के प्रभारी मंत्री थे, तब पायलट समर्थकों ने उन्हें घेरकर नारेबाजी की थी। पायलट का साथ नहीं देने पर सवाल जवाब किए थे। हालांकि आक्रोशित युवाओं को चांदना ने समझाते हुए कहा था कि अकेले उनके जाने से पायलट सीएम नहीं बन सकते थे।

गहलोत समर्थक गुर्जर विधायकों को गद्दार कहा, इससे शुरुआत

टोंक के जोधपुरिया धाम में हफ्ते भर पहले भगवान देवनारायण के मेले में सचिन पायलट समर्थक विराटनगर विधायक इंद्राज गुर्जर ने गहलोत समर्थक गुर्जर विधायकों को गद्दार कहा था। इंद्राज ने कहा था- लोग समाज से वोट लेते हैं, लेकिन जब समाज को देने की बारी आती है तो लोग भाग जाते हैं। जिस संकट में हम लड़े उस संकट में मैंने और जीआर खटाणा ने मिलकर काम किया। भगवान देवनारायण का आशीर्वाद आपके साथ है। जब भी आगे चुनाव आएंगे तो उन लोगों से बात करेंगे, जिन्होंने समाज से 'गद्दारी' की। यहां पढ़ें पूरी खबर...

पायलट के जन्मदिन से एक दिन पहले इंद्राज गुर्जर ने बयान दोहराते हुए कहा था कि सबका सब्र का बांध टूटने वाला है। पायलट कांग्रेस की सरकार लेकर आए, 21 से 100 सीटों पर लेकर आए उन्हें कितने दिन तक घर बैठाकर रखोगे।

पायलट समर्थकों ने सिकराय में ममता भूपेश की हुटिंग की थी
इस महीने की शुरुआत में ही सिकराय में हुए एक कार्यक्रम में पहुंचीं मंत्री ममता भूपेश की पायलट समर्थकों ने जबर्दस्त हुटिंग की थी। ममता भूपेश के सामने पायलट समर्थकों ने नारेबाजी की। अगले दिन इसी क्षेत्र में हुए कार्यक्रम में पायलट ने समर्थकों को नसीहत दी।

पायलट ने समर्थकों से कहा था- किसी की हुटिंग न करें
पायलट ने सिकराय के कार्यक्रम में कहा था कि हमें एक-दूसरे को ताकत देने का काम करना है एक-दूसरे की टांग नहीं खींचनी है। किसी के लिए भला नहीं बोल सकते तो बुरा बोलने का अधिकार भी किसी को नहीं है। सबका सम्मान करना है, किसी के जयकारे नहीं लगा सकते तो किसी की मुखालफत भी नहीं करें। हमें सबको साथ लेकर चलना है। पायलट की इस नसीहत के सप्ताह भर बाद ही पुष्कर के जूता उछाल कांड में अब पायलट समर्थकाें पर आरोप लग रहे हैं।

आगे तल्खी और झगड़ा और बढ़ेगा
चांदना के सचिन पायलट को सीधा निशाने पर लेने और धमकी देने वाले ट्वीट के बाद कांग्रेस की अंदरूनी सियासत गर्माई हुई है। पायलट समर्थक विधायकों की इस पर फिलहाल प्रतिक्रिया नहीं आई है। सोशल मीडिया पर पायलट समर्थक चांदना को खूब खरी खोटी सुना रहे हैं। आगे सभाओं में इस तरह की घटनाएं बढ़ने के आसार बन गए हैं।

ये भी पढ़ें-

गहलोत जिंदाबाद का नारा नहीं लगाया तो उठा लेगी पुलिस:राजीव गांधी अमर रहे भी बोलना होगा; राजस्थान के CM के सलाहकार की धमकी