पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • CM's Advisor DB Gupta, ACB Chief Alok Tripathi And RPSC Chairman Deepak Upreti's Tenure Complete, New Appointments Possible In Next 30 Days

ब्यूरोक्रेसी के 3 बड़े चेहरे:सीएम के सलाहकार डीबी गुप्ता, एसीबी प्रमुख आलोक त्रिपाठी एवं आरपीएससी चेयरमैन दीपक उप्रेती का कार्यकाल पूरा, अगले 30 दिन में नई नियुक्तियां संभव

जयपुर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
30 सितंबर को सीएम के सलाहकार डीबी गुप्ता एवं एसीबी के डीजी डा.आलोक त्रिपाठी और 15 अक्टूबर को आरपीएससी चेयरमैन दीपक उप्रेति का कार्यकाल पूरा हो रहा है
  • गुप्ता को मुख्य सूचना आयुक्त बनाए जाने की चर्चा
  • त्रिपाठी को भी मिल सकती है नई जिम्मेदारी
  • एसीबी मुखिया की कतार में 4 डीजी

राज्य सरकार को अगले 30 दिन में 3 बड़े फैसले करने हैं। क्योंकि, 30 सितंबर को सीएम के सलाहकार डीबी गुप्ता एवं एसीबी के डीजी डा.आलोक त्रिपाठी और 15 अक्टूबर को आरपीएससी चेयरमैन दीपक उप्रेति का कार्यकाल पूरा हो रहा है। गुप्ता को राज्य का मुख्य सूचना आयुक्त बनाया जा सकता है। वहीं, आलोक त्रिपाठी को भी कोई नई जिम्मेदारी मिल सकती है। वैसे, पुलिस यूनिवर्सिटी के कुलपति की सीट भी अभी खाली है।

एसीबी डीजी की पोस्ट के लिए 4 सीनियर आईपीएस कतार में हैं, वर्तमान में ये चारों डीजी हैं। इनमें डीजी होमगार्ड राजीव कुमार दासोत, डीजी क्राइम मोहनलाल लाठर, डीजी जेल भगवान लाल सोनी और डीजी प्लानिंग यूआर साहू शामिल हैं। सरकार किसी डीजी स्तर के अधिकारी को यहां का जिम्मा देती है तो फिर इनमें से किसी को डीजी एसीबी की कमान मिल सकती है।

सीएम सलाहकार डीबी गुप्ता

पूर्व सीएस एवं सीएम सलाहकार डीबी गुप्ता इस माह रिटायर होंगे। वे आगे सलाहकार रहेंगे या फिर मुख्य सूचना आयुक्त की जिम्मेदारी मिलेगी। हालांकि, फैसला सरकार को करना है। चर्चा है गुप्ता को तीन महीने पहले अचानक सीएस पद से हटाया गया था तब मुख्य सूचना आयुक्त बनाए जाने का वायदा सरकार ने किया था।

संभावना इसी की बताई जा रही है। लेकिन, सरकार की तरफ से नियुक्ति से संबंधित नोटिफिकेशन अभी तक जारी नहीं हुआ है। गुप्ता को भाजपा शासन में सीएस की कुर्सी मिली थी। लेकिन, गहलोत सरकार ने गुप्ता को कायम रखा। कार्यकाल से तीन महीने पहले यानी जुलाई में अचानक गुप्ता को सीएस से हटा कर सीएम ने अपना सलाहकार नियुक्त कर दिया।

एसीबी डीजी आलोक त्रिपाठी

सरकार के सियासी संकट के दौरान केंद्रीय एवं राज्य की सरकारी एजेंसियां भी सबसे चर्चित रही, उनमें स्थानीय एजेंसी एसओजी और एसीबी शामिल थी। विधायकों की खरीद-फरोख्त से संबंधित मामले अभी तक एसीबी में चल रहे हैं। लेकिन, सियासी संकट के साथ उनकी जांच भी अब ठंडे बस्ते में।

इस बीच अब एसीबी के मुखिया आलोक त्रिपाठी का सरकारी सेवाकाल इसी महीने की आखिरी तारीख को पूरा हो रहा है। इसलिए, सरकार अब नए मुखिया की तलाश में हैं। मौजूदा व्यवस्था में एसीबी में एडीजी दिनेश एम.एन. हैं और दूसरा पद रिक्त हैं। पहली स्थिति में दिनेश एम.एन को ही चार्ज दिया जा सकता है। यदि सरकार डीजी को यहां बैठाती है तो चार अफसर इस कतार में है।

आरपीएससी चेयरमैन दीपक उप्रेति

आरपीएससी चेयरमैन दीपक उप्रेती 15 अक्टूबर को 62 साल के हो जाएंगे। नियमानुसार आरपीएससी में अध्यक्ष एवं मैंबर की अधिकतम आयु 62 साल या अधिकतम 6 साल का कार्यकाल है। वहां 7 में से सिर्फ 3 ही मैंबर है। ऐसे में चेयरमैन के साथ सदस्यों की भी नियुक्ति की जा सकती है।

इन दिनों बड़ी संख्या में भर्तियां की जानी है और कई भर्तियां प्रोसेस में भी है। इसलिए, सरकार यहां तत्काल किसी न किसी की नियुक्ति करेगी। अब इसमें कोई रिटायर आईएएस या आईपीएस भी हो सकता है। फिर 4 मैंबर के पद भी रिक्त हैं। उप्रेति को पिछली भाजपा सरकार ने जुलाई, 2018 में नियुक्ति किया था, जब वे एसीएस होम के पद पर थे और रिटायर होने वाले थे।

सितंबर की आखिरी तारीख को डीबी गुप्ता का रिटायरमेंट है। वर्तमान में ब्यूरोक्रेसी के सबसे सीनियर मोस्ट अधिकारी हैं। गुप्ता के रिटायरमेंट के बाद सचिवालय में सबसे सीनियर अधिकारी मुख्यसचिव राजीव स्वरूप होंगे। मौजूदा हालात में कोई परिवर्तन नहीं होता है तो वरिष्ठता के लिहाज से टॉप 10 ब्यूरोक्रेट्स में सिर्फ 3 ही अधिकारी सचिवालय में रह जाएंगे।

इनमें सीएस के अलावा एसीएस वीनू गुप्ता और एसीएस सुबोध अग्रवाल। बाकी सीनियर अफसर या तो दिल्ली में है या फिर सचिवालय से बाहर पोस्टेड हैं। आईएएस ऊषा शर्मा, नीलकमल दरबारी, वी. श्रीनिवास एवं शुभ्रा सिंह दिल्ली में है। वहीं, रवि शंकर श्रीवास्तव, गिरिराज सिंह, एवं पी के गोयल सचिवालय से बाहर पोस्टेड हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में हैं। आपकी मेहनत और आत्मविश्वास की वजह से सफलता आपके नजदीक रहेगी। सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा तथा आपका उदारवादी रुख आपके लिए सम्मान दायक रहेगा। कोई बड़ा निवेश भी करने के लिए...

और पढ़ें