• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Congress Chintan Shivir: CM Ashok Gehlot And PCC President Govind Dotasara Are Looking After Sonia Gandhi, Rahul Gandhi

चिंतन शिविर में लखनवी कबाब, बाटी-चोखा, कैर-सांगरी:देशभर से आए नेताओं के लिए लजीज खाना, पक रहे 10 राज्यों के पकवान

उदयपुर/जयपुर3 महीने पहले

कांग्रेस के चिंतन शिविर (नव संकल्प शिविर) में आए नेताओं की मेहमान नवाजी का शानदार इंतजाम किया गया है। लजीज व्यंजनों के साथ ही राजस्थानी फोक प्रोग्राम का मेहमान आनंद ले रहे हैं। पहले दिन मंथन के बाद शनिवार शाम होटल ताज अरावली में भव्य आयोजन हुआ। स्वाद को खास बनाने के लिए 10 राज्यों से शेफ बुलाए गए हैं। राजस्थानी भुजिया, कैर-सांगरी की सब्जी, दाल-बाटी चूरमा, लखनवी कबाब, लिट्टी-चोखा, ढोकला-थेपला, झींगा, आलू-पोश्तो, लाल मांस भी मेहमानों को परोसा जा रहा है।

झीलों की नगरी उदयपुर में देशभर से कांग्रेस नेता जुटे हैं। गांधी परिवार सहित देशभर से आए बड़े-बड़े नेताओं को उनकी पसंद का भोजन मिल सके, इसका पूरा ध्यान रखा गया है। होटल ताज अरावली में सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, अजय माकन, मल्लिकार्जुन खड़गे सहित कई वीवीआईपी ठहरे हुए हैं। इसी होटल में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा भी ठहरे हैं, जो खुद मेहमानों की देखरेख कर रहे हैं।

कुछ बड़े नेताओं ने अपनी पसंद के खाने के लिए अलग से व्यवस्था रखने के लिए पहले से ही ऑर्डर दिया था।
कुछ बड़े नेताओं ने अपनी पसंद के खाने के लिए अलग से व्यवस्था रखने के लिए पहले से ही ऑर्डर दिया था।

खान-पान का खास ख्याल
शिविर में अलग-अलग राज्यों से बड़े नेता आए हैं। सबका खानपान अलग है। इसका भी शिविर में विशेष ध्यान रखा गया है। 10 राज्यों के शेफ बुलाए गए हैं। विभिन्न राज्यों से आए शेफ की निगरानी में ईस्ट, वेस्ट, नॉर्थ, साउथ सभी तरह के पकवान बनाए जा रहे हैं। मेहमानों को राजस्थान, पंजाब, यूपी, कर्नाटक, जम्मू-कश्मीर, बिहार, गुजरात, महाराष्ट्र, बिहार और बंगाल के फेमस डिश परोसी जा रही है।
राजस्थानी भुजिया, कैर-सांगरी की सब्जी और दाल-बाटी चूरमा तैयार कराया गया। अन्य प्रदेशों के नेताओं की पसंद को ध्यान में रखते हुए लखनवी कबाब, लिट्टी-चोखा, ढोकला-थेपला, झींगा, आलू-पोश्तो, लाल मांस भी परोसा जा रहा है। कुछ बड़े नेताओं ने अपनी पसंद के खाने के लिए अलग से व्यवस्था रखने के लिए पहले से ही ऑर्डर भी दिया था।
कांग्रेस में राहुल को फिर अध्यक्ष बनाने की मांग तेज:सोनिया ने अचानक बैठक बुलाई; कल CWC की बैठक में उठ सकता है ये मुद्दा

सभी नेताओं के लिए नेटवर्क की भी व्यवस्था
शिविर स्थल यानी ताज अरावली उदयपुर शहर के बाहर है। ऐसे में वहां मोबाइल नेटवर्क की समस्या रहती है। गांधी परिवार और अन्य वीवीआईपी मेहमानों को यहां नेटवर्क की समस्या का सामना नहीं करना पड़े, इसके लिए शिविर शुरू होने से पहले ऑप्टिकल फाइबर बिछा दी गई। अब वहां सभी का मोबाइल नेटवर्क ठीक तरह से काम कर रहा है।

यह भी पढ़ें...