कांग्रेस ऑफिस में नेताओं में गाली-गलौज और हाथापाई:साथी बोले बाहर कैमरे हैं; ड्रेस और ड्यूटी लगाने को लेकर उलझे

जयपुर4 महीने पहले

कांग्रेस के नेताओं के बीच चल रही खींचतान का असर अब नीचे के स्तर पर भी पहुंच गया है। प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में नए पीसीसी मेंबर्स की बैठक से पहले दो नेता आपस में भिड़ गए। कांग्रेस के अनुशासित सिपाही माने जाने वाले सेवादल संगठन के ही दो सीनियर नेताओं में हाथापाई हो गई। वहां मौजूद अन्य नेताओं ने बीच-बचाव कर झगड़ा शांत करवाया।

झगड़े की शुरुआत शनिवार दोपहर बाद सेवादल नेताओं की ड्यूटी को लेकर हुई। कांग्रेस सेवादल के नेता ही पार्टी की बैठकों में आने जाने वालों की पहचान करने से लेकर एंट्री गेट और बैठक स्थल की व्यवस्थाएं संभालते हैं।

सेवादल के सचिव हरिकृष्ण तिवाड़ी की बैठक की व्यवस्थाएं संभालने की जिम्मेदारी थी। तिवाड़ी को प्रदेश सचिव सुंदर जैन ने प्रॉपर ड्रेस में नहीं होने पर टोका तो नाराज हो गए।

हरिकृष्ण तिवाड़ी बैठक में अलाउ नहीं थे। इसके बावजूद अंदर पहुंच गए थे। इसके बाद उन्हें सेवादल प्रदेश सचिव ने बाहर निकाल दिया। इससे वे नाराज होकर झगड़ने लगे। बात गाली-गलौज तक पहुंच गई। बात इतनी आगे बढ़ी कि दोनों में हाथापाई हो गई। यह घटना कई नेताओं की मौजूदगी में हुआ।

कैमरे हैं कुछ तो ध्यान रखो
नेताओं को झगड़ते देख साथी नेताओं ने उन्हें टोका। कहा- सार्वजनिक रूप से तो भद्द मत पिटवाइए। बाहर कैमरे हैं। इसके बाद भी एक-दूसरे से झगड़ते रहे। कांग्रेस सेवादल को अनुशासित संगठन होने का दावा किया जाता है, लेकिन आज की घटना ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं।

मौके पर मौजूद नेताओं ने बीच-बचाव कर झगड़ा शांत करवाया।
मौके पर मौजूद नेताओं ने बीच-बचाव कर झगड़ा शांत करवाया।

झगड़ने वाले नेता से जवाब-तलब
बिना प्रॉपर यूनिफार्म के बैठक में पहुंचने वाले सेवादल पदाधिकारी को झगड़े के बाद वरिष्ठ नेताओं ने जमकर फटकार लगाई। झगड़ने वाले नेता के खिलाफ एक्शन लेने की भी तैयारी है। सेवादल प्रमुख हेमसिंह ने जवाब तलब किया है। आज हुई इस घटना ने संगठन की किरकिरी खूब करवाई है। कांग्रेस की बैठकों में पहले भी नेता उलझते रहे हैं, लेकिन सेवादल के नेता झगड़ा शांत करवाते हैं। आज सेवादल के ही नेता उलझ गए।

पहले भी उलझते रहे हैं नेता
कांग्रेस की बैठकों में नेता पहले भी आपस में उलझते रहे हैं। चुनावों में टिकटों को लेकर इसी तरह नेताओं के झगड़े सामने आते रहे हैं। कांग्रेस में गुटबाजी की वजह से निचले स्तर पर भी नेताओं में मतभेद सामने आते रहे हैं।

ये भी पढ़ें...

गहलोत ने राहुल के लिए हाथ खड़े करवाए:राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने का रखा प्रस्ताव, सभी पदों पर फैसले का अधिकार हाईकमान पर छोड़ा

खबरें और भी हैं...