पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Controversy: Railway Minister Piyush Goyal Tells Old Technology New, Jaipur Official Claims He Had Developed It 20 Years Back

कंट्रोवर्सी:रेल मंत्री पीयूष गोयल ने सोशल मीडिया पर पुरानी तकनीक को नया बताया; रिटायर्ड अफसर बोले- 20 साल पहले ही विकसित कर चुका

जयपुर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रेल मंत्री की सोशल मीडिया पर पोस्ट के बाद एक अधिकारी ने दावा किया वे 20 साल पहले इस तकनीक को बना चुके।
  • रेलमंत्री बोले, अजमेर मंडल के इंजीनियर ने ट्रैक मॉनिटरिंग के लिए रेल साइकिल बनाई
  • सेवानिवृत अधिकारी बोले- रेलमंत्री की गुड बुक्स में आने के लिए किसी भी हद तक गिर सकते

(शिवांग चतुर्वेदी). रेल मंत्री पीयूष गोयल इन दिनों सोशल मीडिया पर एक पोस्ट से विवादों में आ गए हैं। ऐसा इसलिए- क्योंकि हाल ही रेल मंत्री ने अपने फेसबुक पेज और ट्विटर अकाउंट पर जिस तकनीक को नया बताया है, असल में वह तकनीक रेलवे में करीब 20 साल पहले ही लॉन्च हो गई थी। रेल मंत्री की इस पोस्ट पर आपत्ति जताते हुए रेलवे के एक रिटायर्ड सीनियर ऑफिसर ने आरोप लगाया है कि रेलवे अधिकारी पिछले कुछ समय से रेल मंत्री पीयूष गोयल को खुश करने और उनकी गुड बुक्स में आने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं।

क्या है मामला
दरअसल, 29 जुलाई को रेल मंत्री पीयूष गोयल के फेसबुक पेज और ट्विटर पर एक पोस्ट अपलोड की गई। इसमें वीडियो के जरिए रेलवे ट्रैक पर चलती हुई एक साइकिल दिखाई गई है। कहा गया है कि इस तकनीक को पहली बार अजमेर मंडल के मारवाड़ जंक्शन के सहायक अभियंता (एडीईएन) ने ईजाद किया है।

जिसकी मदद से रेलवे ट्रैक की देखरेख करने वाले ट्रैकमैन को आने-जाने में सहूलियत होगी और वो एक बार में लंबे हिस्से की निगरानी कर सकेगा। रेल मंत्री की इस पोस्ट को बड़ी संख्या में लोगों ने शेयर और लाइक भी किया लेकिन रेलवे के ही एक रिटायर्ड वरिष्ठ अधिकारी ने मंत्री के इस दावे को गलत बताया।

20 साल पहले ही दे चुका था ये तकनीक
इंडियन रेलवे सर्विसेज ऑफ सिग्नल इंजीनियरिंग के रिटायर्ड सीनियर ऑफिसर अधिकारी ओपी मेहरा ने रेल मंत्री के सोशल मीडिया पर किए जा रहे महिमा मंडन को सिरे से खारिज किया। उन्होंने कहा कि वे इस रेल साइकिल तकनीक का ईजाद जुलाई 2001 में ही कर चुके थे जिसे सफल ट्रायल के बाद काम में भी लेना शुरू किया गया था।

इसे उन्होंने उत्तर पश्चिम रेलवे के अजमेर मंडल में बतौर सीनियर डीएसटीई रहते हुए ईजाद किया था। हाल ही मारवाड़ जंक्शन के एईएन द्वारा तैयार की गई रेल साइकिल को नई तकनीक बताना गलत है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि रेलवे अधिकारी इन दिनों रेलमंत्री को खुश करने में इतना व्यस्त हैं कि इसके लिए वे किसी भी हद तक गिर सकते हैं।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें