पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Covaxin Instead Of Covishield, Some Got Vaccinated And Some Returned, Jodhpur Latest News Update

कोवीशील्ड का स्लॉट बुक किया, लेकिन मिली कोवैक्सिन:लोग बोले- इसे WHO से मान्यता की बात चल रही, इसलिए कोवीशील्ड ही लगवानी; कुछ ने लगावाया टीका तो कुछ वापस लौटे

जोधपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मंडोर बूथ पर समझाइश करते अधिकारी। - Dainik Bhaskar
मंडोर बूथ पर समझाइश करते अधिकारी।

जोधपुर में आज बुधवार को करीब आठ दिन बाद 18+ वालों का वैक्सीनेशन शुरू हुआ। ऐसे में वैक्सीन लगाने के लिए युवाओं में खासा उत्साह देखा गया। लेकिन उत्साह पर तब पानी फिर गया जब वे कोवीशील्ड लगवाने काफी दूरी से पहुंचे और सेंटर पर कोवैक्सिन होने की जानकारी मिली। ऐसे में कुछ युवा वापस लौट गए। जिन्हें समझाने की भी कोशिश की गई।

दरअसल, मंगलवार शाम 18+ की स्लॉट बुकिंग शुरू हुई थी। जिसमें कई युवाओं ने बुकिंग करवा ली। करीब 8 हजार स्लॉट बुक हुए। सुबह से ही सेंटर पर युवा वैक्सीन लगवाने पहुंच गए। वहीं, कुछ युवा आज सीधे ही सेंटर पर वैक्सीन लगवाने पहुंचे। उनको यह कह कर रवाना कर दिया कि सिर्फ ऑनलाइन बुकिंग वालों को ही टीका लगा रहे हैं।

कोवैक्सिन ही लगी

18 से 44 के लिए कोवैक्सिन का ही स्लॉट होने से आज युवाओं को को वैक्सीन लगी। मंडोर बूथ पर बूथ कोवीशील्ड लगावाने पहुंचे युवाओं ने विरोध किया तो अधिकारियों ने उनको समझाया। ऑनलाइन बुकिंग के दौरान कोवीशील्ड और मौके पर कोवैक्सिन होने से कुछ युवा नाराज हुए। इनमे कुछ ने कोवैक्सिन लगावाई तो कुछ बाद में लगवाने की बात कहकर चले गए।

मौके पर वैक्सीन लगवाने आए अमीत गहलोत ने कहा कि टीका कोई भी हो लगवाना है, लेकिन जैसी जानकारी मिली की कोवैक्सिन को लेकर डब्लयूएचओ से मान्यता की बात चल रही है। ऐसे में यह चाह रहे थे की कोवैक्सिन की जगह कोवीशील्ड ही लगावाएं। अब अगले स्लॉट में लगाएंगे।

शिवानी पंवार ने कहा की आई तो कोवीशील्ड के लिए, लेकिन कोवैक्सिन लगाई जा रही है। वैक्सीन लगवानी जरुरी थी इसलिए जो भी लगवा रहे हैं लगवा थी। हम सभी एक परिवार के 5 सदस्य साथ आए और सभी ने टीका लगवा लिया।

खबरें और भी हैं...