फोन टैपिंग केस में गहलोत के ओएसडी को चौथा नोटिस:दिल्ली क्राइम ब्रांच ने सीएम के ओएसडी को 6 दिसंबर को पूछताछ के लिए तलब किया

जयपुर6 महीने पहले
सीएम अशोक गहलोत के साथ ओएसडी लोकेश शर्मा (फाइल फोटो)

फोन टैपिंग केस में दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्राच ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के ओएसडी को फिर नोटिस जारी कर 6 दिसंबर को सुबह 11 बजे पूछताछ के लिए तलब किया है। इस केस में गहलोत के ओएसडी लोकेश शर्मा को चौथी बार क्राइम ब्रांच ने पूछताछ के लिए बुलाया है। अब तक तीन बार दिए गए नोटिस पर लोकेश शर्मा पूछताछ के लिए पेश नहीं हुए थे।

पिछले महीने 12 नवंबर को भी पूछताछ के लिए बुलाया था, उस वक्त लोकेश शर्मा ने दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। हाईकोर्ट ने 13 जनवरी तक गिरफ्तारी पर रोक लगा रखी है। 22 अक्टूबर को भी लोकेश शर्मा पिता की बीमारी का हवाला देकर पेश नहीं हुए थे। इससे पहले 24 जुलाई को पूछताछ के लिए बुलाया था।

केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत की शिकायत पर इसी साल 25 मार्च को सीएम के OSD लोकेश शर्मा और पुलिस अफसरों के खिलाफ फोन टैपिंग, ऑडियो वायरल करके छवि खराब करने के मामले में केस दर्ज किया था। लोकेश शर्मा ने इस FIR को दिल्ली हाईकोर्ट में चुनौती दी हुई है। हाईकोर्ट में अब तक तीन बार सुनवाई हो चुकी है,लोकेश शर्मा को 13 जनवरी तक हाईकोर्ट से गिरफ्तारी पर राहत मिली है। 13 जनवरी तक दिल्ली क्राइम ब्रांच लोकेश शर्मा को गिरफ्तार नहीं कर सकती लेकिन उनसे पूछताछ हो सकती है।

केस में अब तक किसी से पूछताछ नहीं
दिल्ली क्राइम ब्रांच ने चौथी बार नोटिस जारी कर सीएम के ओएसडी को पूछताछ के लिए बुलाया है। लोकेश शर्मा से पहले सरकारी मुख्य सचेतक महेश जोशी को 24 जून को पूछताछ के लिए बुलाया था, लेकिन उन्होंने उम्र का हवाला देते हुए पूछताछ के लिए जाने से इनकार कर दिया था। अब तक इस केस में किसी से पूछताछ नहीं हुई है। सचिन पायलट की बगावत के समय विधायकों की खरीद फरोख्त का दावा करते हुए कुछ ऑडियो आए थे। उनमें केंद्रीय मंत्री शेखावत की आवाज का दावा किया था। विधानसभा में सरकार ने माना था कि सीएम के ओएसडी ने वायरल ऑडियो भेजे थे। इस आधार पर ही सीएम के ओएसडी के खिलाफ एफआईआर करवाई थी।

खबरें और भी हैं...