पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बस नदी में गिरने से 4 की मौत पर हड़कंप:तमाम अधिकारी मौके पर पहुंचे, 20 मिनट देरी से पहुंची एंबुलेंस; मॉक ड्रिल का पता चलने पर अफसरों ने ली राहत

डूंगरपुर3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मौके पर पहुंची रेस्क्यू टीम को निर्देश देते अधिकारी। - Dainik Bhaskar
मौके पर पहुंची रेस्क्यू टीम को निर्देश देते अधिकारी।

उदयपुर की तरफ से आ रही एक निजी बस बिजली के पोल से टकराकर नदी में समा गई। इस हादसे में 4 लोगों की मौत हो गई। दर्जनभर से ज्यादा लोग घायल हो गए। हादसे की सूचना मिलते ही हड़कंप मच गया। अधिकारी मौके पर पहुंच गए। प्रशासन के स्तर से हुए मॉकड्रिल में अधिकारियों व स्टाफ की मुस्तैदी खूब दिखी। हकीकत में घटना होने पर केवल पुलिस और एंबुलेंस ही पहुंचती है। मॉकड्रिल था तो संबंधित साहब भी मौके पर पहुंच गए। पुलिस व प्रशासन की ओर से गुरुवार को हादसे के दौरान विभागीय अधिकारियों की सतर्कता को परखने के लिए एक मॉक ड्रिल का आयोजन किया गया। शाम करीब साढ़े 4 बजे क बाद जिला मुख्यालय के सभी अधिकारियों के पास एक हादसे की सूचना जाती है। बताया जाता है कि एक निजी बस बिजली के पोल से टकराकर दो नदी में गिर गई। हादसे में बस में सवार 4 यात्रियों की मौके पर मौत हो गई, जबकि एक दर्जन से ज्यादा यात्री घायल हो गए है।

डीएम पहले से थे मौजूद

मॉक ड्रिल को लेकर कलेक्टर सुरेश कुमार ओला, एसपी सुधीर जोशी पहले से मौके पर मौजूद थे। जैसे ही सूचना सभी विभागों को दी गई तो एक-एक कर अधिकारी मौके पर पंहुचने लगे। इस दौरान सबसे पहले नगर परिषद डूंगरपुर व बिजली निगम की टीम पंहुची। वही करीब 20 मिनट बाद देरी से एम्बुलेंस पंहुची, जिसे लेकर कलेक्टर ने नाराजगी भी जताई। वहीं विभागीय अधिकारियों को अलर्ट रहने के निर्देश दिए गए। वहीं देरी से आने वाले विभागों व अधिकारियों को इस तरह के हादसे में तुरंत मौके पर पंहुचकर लोगों को राहत पंहुचाने के निर्देश दिए गए है।

मॉकड्रिल के दौरान मौजूद अधिकारी।
मॉकड्रिल के दौरान मौजूद अधिकारी।

हकीकत में होती है परेशानी
यह हादसा एक मॉक ड्रिल था। इसकी जानकारी पुलिस कंट्रोल रूम से सभी विभागों व अधिकारियों को फोन कर दी गई। कई अधिकारी इस रिहर्सल की भनक लगते ही सबसे पहले पंहुच गए। हकीकत में बड़ा हादसा होने पर केवल पुलिस और एंबुलेंस ही पहुंचती है। वह भी अधिकतर देखने में आता है कि देर से ही पहुंचती हैं।

रिपोर्ट- चिंतन जोशी

खबरें और भी हैं...