• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Effect Of Kovid Third Wave, From Court temple school coaching To Government, Then All Will Run Virtually

आज से वर्चुअल मोड पर कैबिनेट और मंत्रिपरिषद:कोविड थर्ड वेव का असर,कोर्ट-मंदिर-स्कूल-कोचिंग से लेकर सरकार तब सभी चलेंगे वर्चुअली

जयपुरएक वर्ष पहले
आज से वर्चुअल मोड पर कैबिनेट और मंत्रिपरिषद की बैठक होगी।

राजस्थान सरकार और मुख्यमंत्री की तमाम बैठकें और कैबिनेट-मंत्रिपरिषद अब से वर्चुअली होंगी। आज दोपहर 1 बजे से राज्य कैबिनेट और 2 बजे से मंत्रिपरिषद की बैठक प्रस्तावित है। ये दोनों बैठकें वर्चुअल ही होगी। जिसमें कोरोना को लेकर भी चर्चा की जाएगी। एक्सपर्ट डॉक्टर्स भी वर्चुअली ही वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बैठक में जुड़ेंगे। मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से जानकारी दी गई है कि केन्द्र सरकार भी कैबिनेट मीटिंग्स को वर्चुअली कर रही है। कोविड संक्रमण बढ़ रहा है और कई राज्य सरकारें भी अब मीटिंग्स वर्चुअली कर रही हैं।

कोरोना के खतरे के बीच राजस्थान हाईकोर्ट, मंदिर, स्कूल सभी ऑनलाइन मोड पर आ गए हैं। राजस्थान हाईकोर्ट रजिस्ट्रार जनरल ने आदेश निकाले हैं कि 5 से 14 जनवरी 2022 तक हाईकोर्ट केवल वर्चुअल मोड पर ही काम करेगी। इस पीरियड के दौरान जहां तक संभव है 75 फीसदी कोर्ट स्टाफ को रोटेशन के आधार पर ऑफिस में बुलाया जाएगा। बाकी स्टाफ वर्क फ्रॉम होम पर रहेंगे। हाईकोर्ट के साथ ही जयपुर और जोधपुर के सभी सबॉर्डिनेट कोर्ट्स,जयपुर और जोधपुर मेट्रोपॉलिटन कोर्ट, जिला और सेशन कोर्ट्स में भी आज से यह आदेश लागू हो गया है।

प्रमुख मंदिरों में वर्चुअल दर्शन होंगे,खाटूश्यामजी में पाबंदियां शुरू

राजस्थान के प्रमुख मंदिरों में भी वर्चुअल दर्शनों की व्यवस्था की जा रही है। श्री श्याम मंदिर कमेटी खाटूश्यामजी मंदिर ने कोविड महामारी के ओमिक्रॉन वैरिएंट के चलते आम लोगों की सेहत को ध्यान में रखते हुए साप्ताहिक अवकाश, रविवार, शुक्ल पक्ष की ग्यारस, बारस, मुख्य उत्सवों के दौरान मंदिर के पट्ट बंद रखने का फैसला लिया है।मंदिर में प्रसाद, फूल माला, नारियल, ध्वजा लेकर आने पर रोक लगा दी गई है। बाहरी राज्यों से दर्शन के लिए आने वाले लोगों को आरटीपीसीआर जांच साथ लाना अनिवार्य कर दिया गया है। जयपुर के गोविंद देवजी मंदिर,मोती डूंगरी गणेश मंदिर, चूरू के सालासर बालाजी मंदिर, अजमेर दरगाह शरीफ, एकलिंगजी मंदिर, चारभुजानाथ मंदिर समेत प्रमुख मंदिरों में सोशल डिस्टेंसिंग और कोविड प्रोटोकॉल की पालना शुरू कर दी गई है। भीड़ कंट्रोलिंग के लिए पुलिस-प्रशासन के अधिकारी व्यवस्थाएं देख रहे हैं। मेले और उत्सव नहीं होंगे। कोविड की पिछली लहरों के अनुभव के आधार पर सभी मंदिरों में ऑनलाइन दर्शन की तैयारियां मंदिर प्रबंधन कमेटियों की ओर से अपने-अपने लेवल पर की जा रही हैं। जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग,सीएमएचओ भी जिलों में रिव्यू कर रहे हैं।

स्कूल और कोचिंग भी वर्चुअली
8वीं क्लास तक सरकार ने जयपुर नगर निगम की सीमा में ऑफलाइन स्कूल बंद करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही ऑनलाइन एजुकेशन का ऑप्शन खुला रखा है। प्राइवेट और सरकारी स्कूल्स में ऑनलाइन एजुकेशन आगे भी जारी रखी जाएगी। साथ ही सरकार सीनियर क्लासेज के लिए भी ऑनलाइन एजुकेशन पर विचार कर रही है। जल्द ही इस पर फैसला लिया जा सकता है। केन्द्र सरकार की SOP का इंतजार किया जा रहा है। प्रदेश सरकार ने केन्द्र से सभी बच्चों का निशुल्क वैक्सिनेशन अनिवार्य करने की मांग की है।

इन्वेस्ट राजस्थान समिट-2022 भी वर्चुअली
जयपुर एग्जीबिशन एंड कन्वेंशन सेंटर (JECC) में 24-25 जनवरी को होने वाली स्टेट इन्वेस्टर समिट ‘इन्वेस्ट राजस्थान 2022‘ के भी अब वर्चुअली होगी। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि समिट के लिए 15 जनवरी तक संबंधित विभागों से जुड़े एमओयू और एलओआई कर लिए जाएं। गहलोत ने कहा कि समिट के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग और कोविड प्रोटोकॉल का ध्यान रखा जाए। उन्होंने इस समिट को वर्चुअल मोड पर भी रखने के निर्देश दिए हैं। ताकि ज्यादा से ज्यादा इंवेस्टर्स और इंडस्ट्रियलिस्ट, एंटरप्रेन्योर वर्चुअली जुड़ सकें।