शातिर ठग गिरफ्तार:एसपी बनकर चित्तौड़गढ़ के एमएलए से ठगे 10 लाख रुपए, आरोपी पर पहले से दर्ज हैं 47 मुकदमें

चित्तौड़गढ़3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस गिरफ्त में आरोपी सुरेश उर्फ भेरा राम। - Dainik Bhaskar
पुलिस गिरफ्त में आरोपी सुरेश उर्फ भेरा राम।
  • एमएलए ने बताया कि उसने एसपी के नाम पर फोन करके रिश्तेदार के हॉस्पिटल में भर्ती होने की बात कहते हुए रुपए मांगे थे
  • आरोपी सुरेश शातिर ठग है, पहले भी वह विधायक, मंत्री और अधिकारी के नाम पर फोन करके ठगी कर चुका है

(रमेश टेलर). एसपी दीपक भार्गव बनकर एमएलए चंद्रभानसिंह आक्या से दस लाख रुपए की ठगी करने के आरोप में पुलिस ने पाली के हिस्ट्रीशीटर और शातिर ठग को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बताया कि आरोपी सुरेश उर्फ भेरा राम शातिर ठग है। उसके खिलाफ पहले भी 47 मुकदमें दर्ज है। वह पहले भी कभी विधायक, कभी मंत्री तो कभी बड़ा अधिकारी बनकर लोगों से ठगी कर चुका है।

सदर थानाधिकारी विक्रमसिंह ने बताया कि चित्तौड़गढ़ एमएलए चंद्रभानसिंह आक्या द्वारा थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई गई थी। इसमें उन्होंने कहा था कि 30 मई को एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा उनके मोबाइल नबंर पर फोन कर दस लाख रुपए ट्रांसफर करने की बात कही। फोन करने वाले ने खुद को एसपी दीपक भार्गव बताया। साथ ही अपने परिचित के अस्पताल में भर्ती होने की बात कही। विधायक आक्या के मोबाइल पर आए नबंर में भी नाम दीपक भार्गव आने से उन्हें विश्वास हो गया। उन्होंने उदयपुर में अपने चचेरे भाई महिपाल सिंह को आए नबंर पर दस लाख रुपए ट्रांसफर करने को कहा।

इसके बाद एमएलए चंद्रभानसिंह आक्या ने एसपी दीपक भार्गव को फोन लगाकर वाक्या बताया तो एसपी भार्गव ने बताया कि उन्होंने कोई फोन नही किया। किसी ठग ने उन्हें फोन किया है। इस रिपोर्ट पर सदर थाने में प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू की गई।

एमएलए के मोबाइल पर आए नबंरों की जांच की गई तो वह पाली के निकले। एक टीम पाली भेजी गई। इसके बाद पाली के कोतवाली थाना क्षेत्र के रजत नगर निवासी सुरेश उर्फ भेरा रामको पकड़ करके चित्तौड़ लाया गया। जिसने एसपी बनकर एमएलए से ठगी करना स्वीकार किया।

खबरें और भी हैं...