6 स्टेट में वांटेड गैंगस्टर के गांव पहुंचा भास्कर:पढ़ाई के लिए चंडीगढ़ गया और जॉइन की गैंग; मूसेवाला मर्डर केस में आया नाम

जयपुर11 दिन पहलेलेखक: मनीष व्यास

बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान और उनके पिता सलीम खान को धमकी देने के मामले में मुंबई पुलिस ने राजस्थान के गैंगस्टर विक्रम बराड़ के शामिल होने का दावा किया है। वहीं पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में पंजाब पुलिस की जांच में भी यह खुलासा हुआ है कि लॉरेंस ने ही तिहाड़ जेल से साजिश रची। इसके बाद कनाडा में बैठे गैंगस्टर गोल्डी बराड़ और दुबई में बैठे गैंगस्टर विक्रम बराड़ ने शार्प शूटर्स भेजकर मर्डर की साजिश को अंजाम दिया।

इतना ही नहीं, करण जौहर से 5 करोड़ की फिरौती मांगने की साजिश में विक्रम बराड़ भी लॉरेंस, गोल्डी बराड़, सचिन थापन, अनमोल बिश्नोई के साथ शामिल था।

आखिर कौन है विक्रम बराड़, जिसे 6 स्टेट की पुलिस ढूंढ़ रही है?
इसी सवाल का जवाब जानने के लिए भास्कर टीम उसके गांव पहुंची। हनुमानगढ़ जिले के पीलीबंगा कस्बे से पांच किलाेमीटर दूर सूरतगढ़ हाईवे पर है डिंगा गांव। 30 साल के विक्रम को गांव वाले बब्बू के नाम से जानते हैं।

गांव वालों ने आखिरी बार उसे 4 साल पहले देखा था, जब अपनी बहन समनदीप कौर की शादी में वह गांव आया था। उसके काले कारनामों से परेशान मां-बाप ने उससे सारे रिश्ते तोड़ दिए हैं। भास्कर टीम ने उसके मां-बाप सहित गांव के कई लोगों से बात की और जाना कि बब्बू कैसे गैंगस्टर विक्रम बराड़ बन गया।

पढ़िए पूरी रिपोर्ट…

वह मंदिर जहां विक्रम बराड़ के पिता जगराज सिंह पुजारी हैं। वे गांव में भंडारे और जागरण समेत धार्मिक कार्यक्रम भी कराते हैं।
वह मंदिर जहां विक्रम बराड़ के पिता जगराज सिंह पुजारी हैं। वे गांव में भंडारे और जागरण समेत धार्मिक कार्यक्रम भी कराते हैं।

पिता मंदिर के पुजारी और मां करती है सिलाई
विक्रम बराड़ के माता-पिता गांव के पुश्तैनी मकान में गरीबी की जिंदगी जी रहे हैं। विक्रम के बारे में रोज आ रही खबरों ने मां-बाप का तनाव बढ़ा दिया है। मां जसविंदर कौर बीमार हैं, दौरे भी आते हैं। भास्कर टीम पहुंची तो हमें देखकर भी वो परेशान हो गई।

इस बीच घर के पास ही बने रामदेव मंदिर से विक्रम के पिता जगराज (गुरजंट सिंह) आए और उन्हें संभाला। वे उन्हें घर के अंदर ले गए। जगराज रामदेव मंदिर में पुजारी है। गांव में भंडारे और जागरण समेत धार्मिक कार्यक्रम भी कराते हैं। काफी समझाइश के बाद वे बात करने के लिए तैयार हो गए।

विदेश जाना चाहता था विक्रम, IELTS की तैयारी के लिए चंडीगढ़ गया
जगराज ने बताया कि उनके एक बेटा विक्रम और एक बेटी समनदीप कौर है। विक्रम डिस्ट्रिक्ट लेवल क्रिकेटर था। पढ़ाई में भी अच्छा था। विदेश जाने का सपना था। इसी के लिए वो IELTS ( इंटरनेशनल इंग्लिश लैंग्वेज टेस्टिंग सिस्टम) का एग्जाम क्लियर करना चाहता था। बेटे के सपनों को पूरा करने के लिए उसे 2013 में चंडीगढ़ भेज दिया। यही हमारी सबसे बड़ी गलती हो गई।

विक्रम बराड़ का जून 2021 का फोटो दुबई का है। वह गैंग को वही से ऑपरेट कर रहा है।
विक्रम बराड़ का जून 2021 का फोटो दुबई का है। वह गैंग को वही से ऑपरेट कर रहा है।

चंडीगढ़ में सोपू से जुड़ा, लव मैरिज भी कर ली
जगराज ने बताया कि चंडीगढ़ जाने के बाद कुछ दिन सब ठीक रहा, लेकिन पता नहीं कब वो सोपू नाम के स्टूडेंट ग्रुप से जुड़ गया। उसने चंडीगढ़ में एक लड़की से लव मैरिज भी कर ली। उसकी पत्नी के आगे-पीछे कोई नहीं था।

गांव आया तो हमें भी गांव में सब कुछ बेचकर चंडीगढ़ चलने के लिए कहा। मुझे उसकी खराब संगत का पता चल गया था। मैंने उसे चंडीगढ़ चलने से साफ इनकार कर दिया।

जगराज बताते हैं- उसके कारण हमने बहुत परेशानी झेली है। कई बार पुलिस ने परेशान किया। आखिरकार रिश्तेदारों और परिजनों से बात करने के बाद करीब ढाई साल पहले उसे घर-परिवार से बेदखल कर दिया। अखबार में भी बेदखल करने का विज्ञापन छपवाया।

2013 में विक्रम चंडीगढ़ पढ़ाई करने गया था। वह लॉरेंस के स्टूडेंट ग्रुप सोपू से जुड़ गया। साल 2014-2015 में लॉरेंस के साथ इसको भी पकड़ा था। (ब्लैक शर्ट में विक्रम )
2013 में विक्रम चंडीगढ़ पढ़ाई करने गया था। वह लॉरेंस के स्टूडेंट ग्रुप सोपू से जुड़ गया। साल 2014-2015 में लॉरेंस के साथ इसको भी पकड़ा था। (ब्लैक शर्ट में विक्रम )

दोस्त की मौत के बाद विक्रम को भी मिली थी धमकी
जगराज ने बताया कि बेदखली से पहले आखिरी बार वह अपनी बहन समनदीप की शादी में आया था। एक दिन यहीं रुका था पर डरा-डरा रहता था। उसने बताया था कि कुछ लोगों ने उसके दोस्त का मर्डर किया है और अब उसे धमकी दे रहे हैं। अगर वो छिप कर नहीं रहा तो उसे भी मार देंगे। इसके बाद वो चला गया।

मीडिया में उसके बारे में खबरें आती हैं तो दुख भी होता है और डर भी लगता है। अब जो जैसा करेगा वैसा भरेगा। कई लोग उसे गोल्डी बराड़ का भाई बता रहे तो कोई उसे ऑस्ट्रेलिया में बता रहा है, जबकि ऐसा नहीं है।

इस दौरान विक्रम की मां जसविंदर ने बताया, विक्रम की पत्नी चंडीगढ़ में अकेले रह रही है और वो भी परेशान हो चुकी है। उसने भी तलाक के कागज तैयार करा रखे हैं।

पड़ोसी ने विक्रम की वॉट्सऐप पोस्ट दिखाई, दावा- साल भर से नहीं किया कोई क्राइम
इस दौरान वहीं खड़े एक पड़ोसी ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि मूसेवाला मर्डर और सलमान खान मामले में विक्रम का नाम सामने आने के बाद से गांव में विक्रम के वॉट्सऐप स्टेटस की पोस्ट शेयर हुई है। इस पोस्ट में विक्रम इन दोनों ही मामलों में कोई लेना-देना होने से इनकार कर रहा है। वह तो यहां तक कह रहा है कि उसने अपराध की दुनिया छोड़ दी है और शांति से अपनी जिंदगी जी रहा है। पुलिस उसे झूठा फंसाकर दुबारा अपराध की दुनिया में न धकेले। साल भर से तो उसने कोई क्राइम नहीं किया है।

विक्रम बराड़ हनुमानगढ़ के पीलीबंगा में सूरतगढ़ हाईवे पर डिंगा गांव का रहने वाला है। बराड़ का घर और घरवालों की ओर से नंवबर 2020 में बेदखल करने का जारी करवाया गया नोटिस।
विक्रम बराड़ हनुमानगढ़ के पीलीबंगा में सूरतगढ़ हाईवे पर डिंगा गांव का रहने वाला है। बराड़ का घर और घरवालों की ओर से नंवबर 2020 में बेदखल करने का जारी करवाया गया नोटिस।

दुबई से चला रहा है लॉरेंस गैंग
पुलिस के मुताबिक विक्की बराड़ लॉरेंस ग्रुप का गैंगस्टर है। वह राजस्थान के कुख्यात गैंगस्टर आनंदपाल सिंह का भी करीबी रह चुका है। फिलहाल दुबई से लॉरेंस के लिए काम करता है। हनुमानगढ़ SP अजय सिंह ने बताया कि 12वीं पास विक्रमजीत उर्फ विक्की बराड़ ने एक बुकी से फिरौती मांगी थी। इस मामले में वह वांटेड है। उसका एक्टिव एरिया चंडीगढ़ और उसके आसपास का है। देश भर में बराड़ पर 24 से ज्यादा मामले दर्ज हैं। महाराष्ट्र, पंजाब, दिल्ली, राजस्थान, हरियाणा और उत्तरप्रदेश की पुलिस उसे ढूंढ रही है।

वहीं पीलीबंगा थाने में उस पर पिछले साल एक आढ़त व्यापारी पुरुषोत्तम अग्रवाल को वॉट्सऐप कॉल पर मारने की धमकी देकर 30 लाख रुपए मांगने का मामला दर्ज है। इस मामले में लोकल पुलिस लंबे समय से उसकी तलाश कर रही है।