• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • For 25 Lakh 35 Thousand Candidates, More Than 200 Social And Non social Organizations Will Make Arrangements For Lodging And Food At 3993 Centers.

REET के लिए रहना, खाना-पीना सब फ्री:सामाजिक संस्थाएं आगे आईं, कई समाज के लोगों ने अपने भवनों में व्यवस्थाएं कीं; 33 जिलों में 23 लाख से ज्यादा परीक्षार्थी

जयपुरएक महीने पहलेलेखक: मनीष व्यास

राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (REET) 2021 का आयोजन 26 सितंबर को होगा। इसमें शामिल होने वाले परीक्षार्थियों को कोई परेशानी नहीं हो, इसके लिए सरकार ने तो विशेष इंतजाम किए हैं। पूरे प्रदेश में 200 से ज्यादा सामजिक संगठनों ने भी तैयारियां की है।

प्रदेश में REET परीक्षा के लिए 3993 सेंटर्स पर करीब 23 लाख से ज्यादा परीक्षार्थियों के रहने और खाने-पीने के इंतजाम किए गए हैं। इसे लेकर 36 कौम के लोगों ने अपने सामाजिक भवनों में अभी से ही व्यवस्थाएं कर दी हैं। इतना ही नहीं कई प्राइवेट स्कूल्स और कोचिंग इंस्टीट्यूट्स के साथ क्लब ऑर्गेनाइजेशन भी दिल खोलकर इन व्यवस्थाओं में जुट गए हैं। सभी का एक ही मकसद है कि राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (REET) 2021 के दौरान प्रदेश में एक भी परीक्षार्थी को कोई दिक्कत न हो और सरकारी व्यवस्थाएं भी न बिगड़े।

CM अशोक गहलोत ने VC के माध्यम से सभी अधिकारियों को पूरी व्यवस्थाएं चाक-चौबंद रखने के निर्देश दिए है।
CM अशोक गहलोत ने VC के माध्यम से सभी अधिकारियों को पूरी व्यवस्थाएं चाक-चौबंद रखने के निर्देश दिए है।

प्रदेश में ये रहेगी व्यवस्थाएं ...

नागौर : शहर में सभी समाज के भवन और धर्मशालाओं में REET परीक्षा के दौरान बाहरी जिलों से पहुंचने वाले हजारों परीक्षार्थियों के रहने और खाने पीने की व्यवस्थाएं की गई हैं। कई प्राइवेट स्कूलों, कॉलेज और कोचिंग इंस्टीट्यूट ने भी व्यवस्थाएं की हैं। REET परीक्षार्थियों को उनके सेंटर तक पहुंचाने को लेकर ऑटो रिक्शा का किराया भी ऑटो रिक्शा यूनियन ने फिक्स किया है। शहर में कुल 175 ऑटो सेंटर के लिए चलेंगे। शहर के रोडवेज बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, पशु प्रदर्शनी स्थल, कांकरिया स्कूल व माडी बाई राजकीय बालिका विद्यालय में 25 सितंबर की दोपहर 2 बजे हेल्प डेस्क सक्रिय रहेंगी।

कोटा : REET परीक्षा को लेकर जिला प्रशासन ने रोडवेज की सभी बसें, 200 प्राइवेट बड़ी बसें, 100 निजी छोटी बसें और शहर में लगभग 1 हजार ऑटो रिक्शा संचालित कराने का निर्णय लिया है। शहर में दशहरा मैदान और कॉमर्स कॉलेज मैदान में अस्थाई बस स्टॉप बनाया जाएगा। परीक्षार्थियों के ठहरने के लिए रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड के आस-पास और अन्य प्रमुख क्षेत्रों में सामुदायिक भवनों व मैरिज गार्डन में स्थान चिन्हित किए गए हैं। परीक्षार्थियों के लिए हेल्प डेस्क भी लगाई जाएगी। महिला परीक्षार्थियों के लिए 18 महिला ड्राइवर के ऑटो भी संचालित होंगे।

अजमेर : परीक्षार्थियों के लिए रोडवेज की 200 बसें उपलब्ध होंगी। वहीं भीड़ कम करने को लेकर शहर में 4 जगहों पर अस्थाई पार्किंग स्टैंड बनेंगे। पहला स्टैंड रोडवेज बस स्टैंड ही होगा, लेकिन इसके अतिरिक्त तीन स्टैंड पुष्कर रोड पर रीजनल कॉलेज तिराहा, आदर्श नगर में सात पीपली बालाजी मंदिर के आसपास और एक स्टैंड हजारी बाग में बनाया गया है। ताकि कम दूरी में अभ्यर्थियों की आवाजाही हो सके। ऑटो और टेम्पो चालकों के साथ बात कर व्यवस्था की गई है। वे अजमेर में बनाए गए चार स्टैंड से अभ्यर्थियों को परीक्षा सेंटर के पास छोडे़ंगे। अजमेर सहित जिले के ब्यावर, केकड़ी, किशनगढ़ में सेंटर ज्यादा है। यहां पर अभ्यर्थियों के रहने और खाने-पीने की व्यवस्था भी कईं समाज सेवियों और सामाजिक संगठनों ने की है।

पाली में वैष्णव समाज की ओर से धर्मशाला में की गई ठहरने की व्यवस्था।
पाली में वैष्णव समाज की ओर से धर्मशाला में की गई ठहरने की व्यवस्था।

पाली : जिले में अभ्यर्थियों को रोकने के लिए अलग-अलग समाज की ओर से पहल की गई है। पाली जिले में विभिन्न समाज के लोग अपने स्तर पर समाज भवन में रीट परीक्षा देने आने वाले समाज के युवाओं के लिए रुकने ओर उनके भोजन की व्यवस्था कर रहा है। सभी समाज स्वप्रेरणा से जिले भर में ऐसा कर रहे हैं। यहां 11 हजार 86 अन्य जिलों से पाली में परीक्षा देने आएंगे तथा 10 हजार 235 अभ्यर्थी पाली जिले से अन्य जिलों में परीक्षा देने जाएंगे। पाली जिला मुख्यालय पर 49 परीक्षा केन्द्र निर्धारित किए गए हैं। प्रत्येक केन्द्र के लिए 2 महिला कांस्टेबल, 2 पुलिस कांस्टेबल एवं 2 होम गार्ड की नियुक्ति रहेंगे।

बीकानेर : बीकानेर में जिला प्रशासन ने अभ्यर्थियों के रहने के लिए रैन बसेरों को तैयार किया है। जो भी इनमें रहना चाहेगा,उनके लिए आवास की माकूल व्यवस्था रहेगी। इसके अलावा पुलिस व्यवस्था सख्त कर दी गई है। शहर में अधिकांश अभ्यर्थी जोधपुर, झुंझुनूं व सीकर से आ रहे हैं। ऐसे अभ्यर्थियों के बीकानेर में प्रवेश करने के साथ ही वाहन खड़ा करने की सुविधा होगी। शहर के सभी धर्मशाला संचालकों से भी पुख्ता व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं। चार कंट्रोल रूम बनाए गए हैं। कोई भी अभ्यर्थी समस्या होने पर 9829791393 नंबर पर कॉल कर सकता है। उरमूल डेयरी की ओर से शहर के अनेक क्षेत्रों में पानी के टैंकर खड़े किए जा सकेंगे, जहां से शुद्ध पानी मुफ्त में मिल सकेगा।

उदयपुर : शहर में परिवहन विभाग प्रत्येक केन्द्र के बाहर दो मिनी बस और दस-दस ऑटो की व्यवस्था करेगा। एसआई परीक्षा की तरह नकल नहीं हो, इसको लेकर जिला प्रशासन नेटबंदी भी करेगा। वहीं जैन समाज, विप्र फाउंडेशन, मुस्लिम महासभा, बोहरा समुदाय सहित करीब 90 सामाजिक नोहरों में परीक्षार्थियों के रुकने की व्यवस्थाएं की गई हैं। साथ ही निगम के दो दर्जन रैन बसेरों और सामुदायिक भवनों को भी तैयार किए गए हैं।

जैसलमेर : धर्मशाला संचालकों की बैठक लेकर परीक्षार्थियों को धर्मशाला में फ्री या रियायती दर पर ठहराव व्यवस्था के लिए निर्देश दिए गए हैं। परीक्षा के लिए सिर्फ रोडवेज प्रबंधन 3-4 बसों का ही अतिरिक्त संचालन कर पाएगा। ऐसे में जिला परिवहन अधिकारी अलग से 50 बसों की व्यवस्था करेंगे।

सीकर : जिला कलेक्टर द्वारा परीक्षार्थियों के रहने के की व्यवस्था के लिए बुधवार को होटल और धर्मशालाओं के प्रबंधकों की बैठक ली जाएगी। जिले के कस्बों में परीक्षा वाले दिन आवश्यक सेवाओं को छोड़कर अन्य प्रतिष्ठानों को बंद रखने का निर्णय किया गया है। रोडवेज द्वारा ऐसी बसें जिनके वर्तमान रूटों में यात्रीभार कम है उन्हें परीक्षार्थियों के आवागमन के अनुसार चलाया जाएगा।

कई शहरों में धर्मशालाओं में स्टूडेंट्स के लिए ठहरने की व्यवस्था की गई है।
कई शहरों में धर्मशालाओं में स्टूडेंट्स के लिए ठहरने की व्यवस्था की गई है।

सवाई माधोपुर : REET परीक्षार्थियों को रुकने के लिए परेशानी नहीं हो, इसकी व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए सभी धर्मशालाओं एवं मैरिज गार्डन संचालकों को अपने यहां ठहरने तथा रात्रि विश्राम के लिये पर्याप्त मात्रा में पानी, बिस्तर आदि की व्यवस्था करने के लिए निर्देशित किया गया है। सभी धर्मशालाओं एवं मैरिज गार्डनों के संचालकों ने करीबन 1500-2000 परीक्षार्थियों को ठहरने की व्यवस्था करने का आश्वासन दिया है । नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है जो दूरभाष नम्बर 07462-221555 पर संचालित रहेगा। रात्रि रैन बसेरों में परीक्षार्थियों को ठहरने के लिए व्यवस्था करने और इंदिरा रसोई में भोजन व्यवस्था करने के लिये निर्देशित किया है। वहीं विभिन्न सामाजिक संगठनों ने भी परीक्षार्थियों के लिए व्यवस्थाएं की हैं।

चित्तौड़गढ़ : शहर में भील समाज की ओर से गांधीनगर स्थित राणा पुंजा भवन में रात्रि विश्राम, गुर्जरगौड़ ब्राह्मण समाज नवयुवक मंडल बेगूं ने ठहरने, भोजन, चाय नाश्ता की व्यवस्था की जाएगी। बस स्टैंड पर हेल्प डेस्क की व्यवस्था होगी। विप्र फाउंडेशन की ओर से नाहर बिल्डिंग के पास सुखवाल समाज के नोहरे में व्यवस्था की जाएगी। ब्राह्मण महासभा की ओर से सेंगवा हाउसिंग बोर्ड में आवास भोजन की फ्री व्यवस्था की जाएगी। मंडफिया सरपंच द्वारा भी परीक्षार्थियों के लिए सभी व्यवस्था फ्री रखी गई है। वहीं सोशल मीडिया पर दी बेस्ट ऑफ बेगूं ग्रुप के युवाओं ने अलग-अलग कमेटियां बनाकर काम शुरू किया है। यहां हर जाति धर्म के महिला-पुरुष परीक्षार्थियों के ठहरने, भोजन, नाश्ते की फ्री व्यवस्था करने का दावा किया गया है।

सिरोही : रोडवेज प्रशासन ने 20 सितंबर की रात 12 बजे के बाद से 30 सितंबर की रात 12 बजे तक परीक्षार्थियों के लिए फ्री यात्रा के तहत बसों की सुविधा उपलब्ध करवाई गई हैं। निजी वाहनों की भी फ्री व्यवस्था की गई है। रोडवेज के सभी कर्मचारियों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं। बस स्टैंड से परीक्षा केंद्र तक के लिए ऑटो और टैक्सी सेवा सशुल्क रहेगी। रूप रजत इंटरनेशनल स्कूल में रीट परीक्षार्थियों के लिए फ्री सेवाएं उपलब्ध रहेंगी। इसके लिए वे मोबाइल नंबर 70141 97846 पर संपर्क कर सकते हैं।

बांसवाड़ा : जिला प्रशासन एवं परिवहन विभाग ने मिलकर 306 बस और 1216 टैक्सियां अधिग्रहित की हैं। ये वाहन सुबह 6 बजे परीक्षा केंद्र के लिए रवाना हो जाएंगे। अभ्यर्थियों के ठहरने के हिसाब से बांसवाड़ा में होटल्स नाकाफी हैं। शहर में कुल 25 होटलें हैं। इनमें बहुत अच्छे प्रयासों के बावजूद केवल 1200 लोगों को ठहराया जा सकता है। करीब 17 सामाजिक संस्थाएं भी आगे आई हैं, जबकि मुस्लिम समाज के युवकों के लिए अंजूमन इस्लामिया की ओर से सहयोग का आश्वासन दिया गया है। इसके लिए कुछ संगठनों ने तो बकायदा नंबर भी जारी किए हैं। इसी तरह खाने-पीने की व्यवस्था के लिए प्रशासनिक स्तर पर लोगों से सहयोग का आह्वान किया गया है।

करौली : बाहर से आने वाले परीक्षार्थियों के लिए मीणा समाज, ब्राह्मण समाज और जांगिड़ समाज सहित विभिन्न सामाजिक संगठनों द्वारा फ्री ठहरने और भोजन की व्यवस्था की गई है। प्रचार प्रसार के लिए संगठन सोशल मीडिया का सहारा ले रहे हैं।

बाड़मेर : सामाजिक स्तर पर अलग-अलग समाज के अध्यक्षों और लोगों ने वाट्सएप ग्रुप पर मैसेज किए है। मैसेज में लिखा है कि REET अभ्यर्थियों के रहने और खाने-पीने की व्यवस्था की गई है।

टोंक : REET रीट परीक्षा को लेकर नगर परिषद आयुक्त धर्मपाल जाट ने सभी मैरिज हॉल, धर्मशालाओं, गेस्ट हाउस, होटल संचालकों से चर्चा कर परीक्षार्थियों के ठहरने की व्यवस्था करने को कहा है। बस स्टैंड पर भी बड़ा टेंट लगाकर परीक्षार्थियों के लिए रात्रि विश्राम की व्यवस्था की जाएगी। परिवहन सेवा के लिए रोडवेज की 72 बसों समेत 200 निजी बस की व्यवस्था हुई है। भोजन के लिए इंदिरा रसोई समेत कुछ सामाजिक संगठन आदि आगे आए हैं।

खबरें और भी हैं...