पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Gang Defrauding People Online Was Caught By The Police, The Account Documents Of More Than 300 Poor People Were Found With The Gang

अंग्रेजी बोलकर लोगों को देते थे झांसा:अधिकारी बनकर लालच दिया, झारखंड-बिहार की झुग्गियों में बैठकर गरीबों के अकाउंट डिटेल निकाले, 77 लाख लूटने वाले 6 गिरफ्तार

भीलवाड़ा2 दिन पहले
पुलिस गिरफ्त में सभी आरोपी।

ऑनलाइन और लोगों को फोन कर अकाउंट में सेंधमारी करने वाले एक गिरोह का भीलवाड़ा पुलिस ने पर्दाफाश किया है। भीलवाड़ा के प्रताप नगर पुलिस ने इस गिरोह के छह सदस्यों को गिरफ्तार किया है। जिनसे करीब 300 से ज्यादा गरीब लोगों के अकाउंट डिटेल बरामद किए गए हैं। यह बदमाश झारखंड और बिहार में झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले हैं। जो ऑनलाइन लोगों को लाखों रुपए का चूना लगाते हैं। यह बदमाश अलग-अलग क्षेत्रों से गरीब लोगों के अकाउंट डिटेल खरीदते थे। फिर बड़े-बड़े शहरों में रहने वाले लोगों के साथ ऑनलाइन ठगी करते हैं। उस पैसे को इन गरीब लोगों के अकाउंट में ट्रांसफर कर निकाल लेते हैं।

भीलवाड़ा में भी एक कपड़ा व्यवसायी के साथ 77 लाख रुपए की ऑनलाइन ठगी हुई थी। इसके बाद हरकत में आते हुए पुलिस ने पड़ताल कर इस गिरोह का पर्दाफाश किया। पुलिस ने इस गिरोह के छह सदस्यों को झारखंड और बिहार से गिरफ्तार किया है। इसमें दरभंगा बिहार के सोनू कुमार, राजू कुमार उर्फ प्रद्युमन, मुकेश उर्फ अमित, राज उर्फ अजीत, पटना निवासी कुंदन कुमार, नेपाल हाल दिल्ली निवासी विजय प्रसाद और बिहार के राजेश झा उर्फ छोटू को गिरफ्तार किया है। पुलिस के पहुंचने से पहले ही इस गिरोह का सरगना दुबई फरार हो गया।

साइबर ठगों को बेच देते हैं गरीबों के अकाउंट डिटेल
इस गिरोह से पूछताछ में सामने आया है कि यह झारखंड और बिहार के ग्रामीण क्षेत्रों में अपने गुर्गों से गरीब लोगों के अकाउंट डिटेल निकलवाते हैं। जिन्हें साइबर ठगों को बेच दिया जाता है। यह साइबर ठग अलग-अलग तरीकों से लोगों से ठगी करने के बाद उस पैसे को इन गरीब लोगों के अकाउंट में डाल देते हैं। इन साइबर ठगों के कई गुर्गे इन सभी अकाउंट के एटीएम रखते हैं। जो पैसा निकाल लेते हैं।

पुलिस अधीक्षक को विकास शर्मा ने बताया कि ऑनलाइन ठगी के देशभर में कई मामले सामने आ रहे हैं। भीलवाड़ा पुलिस ने पहली बार इतने बड़े स्तर पर काम कर रहे ठग गिरोह तक पहुंचने में सफलता हासिल की है। भीलवाड़ा पुलिस द्वारा करीब 5 राज्यों में एक गिरोह का पीछा किया गया। उसके बाद यह गिरोह पुलिस के हत्थे चढ़ा है।

ठगी के दो अगल-अलग ठिकाने-झारखंड और बिहार

  • पुलिस की जांच में सामने आया कि झारखंड का जामताड़ा से फोन पर ठगी के सबसे ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। यहां के युवा अनपढ़ या कम पढ़े लिखे हैं, लेकिन अपनी फर्राटेदार अंग्रेजी और अधिकारियों की तरह बोलने के लहजे के कारण लोगों के साथ फोन पर ठगी कर देते हैं। यह युवा लोगों को फोन करते हैं। बातों में उलझा कर उनसे ओटीपी मांगते हैं। उनके खातों में सेंधमारी कर देते हैं।
  • आपने कई बार मोबाइल में ऐसे ऑफर सुने होंगे जिसमें प्रतियोगिता खेलो और करोड़ जीतो, चेहरा पहचानो पैसा जीतो या आप सबसे ज्यादा भाग्यशाली हैं। इस तरह की धोखाधड़ी के लिए बिहार का शेखपुरा जिला काफी चर्चित हैं। यहां भी अनपढ़ या कम लिखे पढ़े लिखे युवाओं द्वारा लोगों के साथ ऑनलाइन ठगी की जाती है। यह दोनों ही मामले भीलवाड़ा पुलिस के सामने आ चुके हैं।
खबरें और भी हैं...