कन्हैया मर्डर की साजिश में शामिल थे मौलाना-वकील:नूपुर के खिलाफ प्रदर्शन के बाद मीटिंग हुई; हत्या का प्रपोजल गौस ने रखा था

जयपुरएक महीने पहले

उदयपुर में कन्हैयालाल की बर्बर हत्या की साजिश 20 जून को उदयपुर कलेक्ट्रेट पर नूपुर शर्मा के खिलाफ हुए बड़े प्रदर्शन के बाद रची गई थी। यह खुलासा NIA के एक सीनियर अफसर ने किया है। अफसर ने बताया- 20 जून काे प्रदर्शन के बाद ही शहर के मुखर्जी चौक पर एक मीटिंग हुई थी। इसमें गौस मोहम्मद और रियाज अत्तारी के अलावा दो मौलाना और दो वकील शामिल थे।

NIA अफसर के मुताबिक, यहां गौस ने यह प्रस्ताव रखा कि मैं और रियाज, कन्हैयालाल की हत्या को अंजाम देंगे। इसी दिन यह तय हुआ कि रियाज अपनी टीम के साथ टेलर की दुकान की रेकी करेगा। इसके बाद रेकी की गई और 28 जून को तालिबानी तरीके से गला काट हत्या कर दी गई। एटीएस ने रेकी करने वालों में से आसिफ हुसैन और मोहसिन खान को पकड़ लिया है।

​​​​​राजस्थान बन रहा आतंक का सॉफ्ट टारगेट:500 से ज्यादा 'टेरर प्रोफेसर्स' सोशल मीडिया पर पढ़ा रहे दंगों का सिलेबस

यह फैक्ट्री रियाज के दोस्त शोएब की है। इसी फैक्ट्री में कन्हैयालाल की हत्या में काम लेने वाले हथियार बनाए गए थे।
यह फैक्ट्री रियाज के दोस्त शोएब की है। इसी फैक्ट्री में कन्हैयालाल की हत्या में काम लेने वाले हथियार बनाए गए थे।

गौस गया था कराची, 45 दिन की ट्रेनिंग लेकर लौटा
गौस मोहम्मद पाकिस्तान में दावत-ए-इस्लामी के कराची हेड क्वार्टर से 45 दिन की ट्रेनिंग लेकर लौटा था। उसे वहां भेजने का इंतजाम रियासत हुसैन और अब्दुल रजाक ने किया। उसके साथ करीब 30 लोग गए थे, जिनमें उदयपुर के वसीम अत्तारी व अख्तर रजा भी थे। ATS ने इन्हें भी राउंडअप किया है। एजेंसी ने पाकिस्तान गए सभी लोगों को ट्रेस कर लिया है।

यह पता लगाया जा रहा है कि इनमें से कितने संदिग्ध गतिविधियों में शामिल हैं। NIA को यह भी पता चला है कि गौस 2013 व 2019 में सऊदी अरब और 2017 व 2018 में नेपाल गया था। यह जांच की जा रही है कि वह नेपाल के रास्ते पाकिस्तान तो नहीं गया। वहीं, NIA ने जयपुर में सीरियल ब्लास्ट की साजिश में शामिल इस्लामिक स्टेट के स्लीपर सेल अलसूफा से रियाज अत्तारी के लिंक को फिर से खंगालना शुरू कर दिया है।
उदयपुर हत्याकांड का पीलीभीत कनेक्शन:शहर काजी का दावा- पाकिस्तानी संगठन है दावत-ए-इस्लामी, दुकानों पर गुल्लक रख इकट्‌ठा कर रहा फंड
LIVE कन्हैयालाल हत्याकांड:उदयपुर में सुबह 8 बजे से कर्फ्यू में ढील, जयपुर में होगा प्रदर्शन

आरोपियों को शनिवार को अजमेर की हाई सिक्योरिटी जेल से जयपुर लाया गया था। दोपहर में चारों आरोपियों को एनआईए कोर्ट में पेश किया गया।
आरोपियों को शनिवार को अजमेर की हाई सिक्योरिटी जेल से जयपुर लाया गया था। दोपहर में चारों आरोपियों को एनआईए कोर्ट में पेश किया गया।

उदयपुर से पहले महाराष्ट्र में भी रेता था केमिस्ट का गला
उदयपुर आतंकी हमले से पहले नूपुर शर्मा का समर्थन करने पर महाराष्ट्र में भी 21 जून को ऐसी ही बर्बर हत्या की गई थी। अमरावती निवासी केमिस्ट उमेश प्रहलाद राव कोल्हे (54) ने नूपुर के समर्थन में सोशल मीडिया पोस्ट की थी। रात को दुकान से लौटते समय उनकी गर्दन धारदार हथियार से काट दी गई। शनिवार को NIA ने इस मामले में भी जांच शुरू कर दी।

पुलिस ने मुख्य साजिशकर्ता इरफान को शनिवार को गिरफ्तार किया। इससे पहले मुदस्सर, शाहरुख पठान, अब्दुल तौफीक, शोएब, आतिब राशिद और युसूफ की गिरफ्तारी हो चुकी थी। इसके अलावा गुजरात के धंधुका में विवादित पोस्ट करने पर किशन भरवाड़ को मार डाला गया था। दोनों जगह हत्या का तरीका उदयपुर जैसा है। ऐसे में NIA तीनों वारदात के बीच लिंक की भी जांच कर रही है।
ये भी पढ़ें-