• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Gehlot Minister Govindram Meghwal And RTDC Chairman Dharmendra Rathore Release Cctv Video Footage Of MLA Solanki And State In charge Ajay Maken, Said They Are Traitor

सतीश पूनिया से मिले पायलट गुट के विधायक, VIDEO:मंत्री मेघवाल और RTDC चेयरमैन बोले- MLA सोलंकी और माकन ने की गद्दारी

जयपुर4 महीने पहले

गहलोत सरकार के आपदा प्रबंधन मंत्री गोविंदराम मेघवाल और RTDC चेयरमैन धर्मेंद्र राठौड़ ने पायलट गुट की BJP से सांठ-गांठ का CCTV वीडियो जारी किया है। दोनों नेताओं ने प्रदेश प्रभारी अजय माकन का भी VIDEO जारी कर पायलट गुट के विधायक वेदप्रकाश सोलंकी पर अनुशासनात्मक कार्रवाई नहीं करने पर कहा- सोलंकी और माकन ने गद्दारी की है।

मेघवाल और राठौड़ ने कांग्रेस विधायक वेदप्रकाश सोलंकी और BJP प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया की एक होटल में आधी रात 12 बजे मुलाकात का CCTV फुटेज जारी किया है। यह CCTV वीडियो जयपुर जिला प्रमुख के चुनाव से ठीक पहले आधी रात का है।

इसके बाद जयपुर में जिला प्रमुख चुनाव में कांग्रेस खेमे से क्रॉस वोटिंग हुई। BJP ने रमा चौपड़ा को जिला प्रमुख चुनाव जीतवा दिया। राठौड़-मेघवाल ने कांग्रेस प्रदेश प्रभारी अजय माकन की भी सियासी संकट के वक्त प्रेस काॅन्फ्रेंस का वीडियो जारी कर उन्हें गद्दार बताया है। उन्होंने कहा- वीडियो में माकन पायलट गुट को अमित शाह की पुलिस, दिल्ली पुलिस, हरियाणा पुलिस का संरक्षण और पहरे में होने की बात कहते सुनाई दे रहे हैं।

जयपुर के खासाकोठी स्थित होटल गणगौर में प्रेस काॅन्फ्रेंस बुलाकर दोनों नेताओं ने कांग्रेस विधायक वेदप्रकाश सोलंकी, प्रदेश कांग्रेस प्रभारी और हाल ही ऑब्जर्वर बनाए गए अजय माकन पर कांग्रेस पार्टी के खिलाफ जाकर काम करने के आरोप लगाए हैं। साथ ही BJP प्रदेशाध्यक्ष से सांठ-गांठ कर जयपुर जिला प्रमुख का चुनाव कांग्रेस प्रत्याशी को हराने और प्रदेश कांग्रेस की ओर से उसकी रिपोर्ट दिए जाने के बावजूद अनुशासनहीनता की घटना पर कोई कार्रवाई नहीं करने और नोटिस तक जारी करने के आरोप लगाए हैं।

सोलंकी ने दो जिला परिषद सदस्यों को बीजेपी के हाथों बेचा
प्रेस काॅन्फ्रेंस में मंत्री गोविंदराम मेघवाल और धर्मेंद्र राठौड़ ने कहा- चाकसू से कांग्रेस विधायक वेदप्रकाश सोलंकी की गद्दारी का वीडियो सबूत है। वीडियो में वेदप्रकाश सोलंकी और बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया रात को एक होटल में मिल रहे हैं। जयपुर जिला प्रमुख के चुनाव में कांग्रेस की हार से सबसे ज्यादा किरकिरी हुई थी। इसके पीछे की वजह बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष और सोलंकी की वोटिंग से एक रात पहले हुई मुलाकात रही। इसमें सोलंकी ने अपनी विधानसभा क्षेत्र से जीते दो जिला परिषद सदस्यों को बीजेपी के हाथों बेच दिया और कांग्रेस हार गई।

5 सितम्बर 2021 को रात 10.41 बजे होटल में विधायक वेदप्रकाश सोलंकी की एंट्री का CCTV फुटेज।
5 सितम्बर 2021 को रात 10.41 बजे होटल में विधायक वेदप्रकाश सोलंकी की एंट्री का CCTV फुटेज।

वीडियो के जरिए बताया गया कि 5 सितम्बर 2021 की रात को 10 बजकर 40 मिनट पर वेदप्रकाश सोलंकी जयपुर के मानसरोवर स्थित एक होटल मानसरोवर पैलेस में पहुंचे। डेढ़ घंटे के बाद 12 बजकर 1 मिनट पर जब तारीख बदलकर 6 सितम्बर 2021 को हुई। सतीश पूनिया उसी होटल में पहुंचे। दोनों के बीच मुलाकात हुई। 10 मिनट की मुलाकात के बाद सतीश पूनिया बाहर निकले और इसके थोड़ी देर बाद वेदप्रकाश सोलंकी भी होटल से निकल गए।

रात 12 बजकर 1 मिनट पर बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया की उसी होटल में एंट्री का CCTV फुटेज।
रात 12 बजकर 1 मिनट पर बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया की उसी होटल में एंट्री का CCTV फुटेज।

पूनिया-सोलंकी की मुलाकात के बाद चाकसू के दो वार्डों से हुई क्रॉस वोटिंग
RTDC चेयरमैन धर्मेंद्र राठौड़ ने कहा- 6 सितम्बर को जयपुर में जिला प्रमुख पद के लिए वोटिंग होनी थी। 51 जिला परिषद सदस्यों वाली जयपुर जिला परिषद में कांग्रेस के 27 और बीजेपी के 24 सदस्य निर्वाचित हुए थे। संख्या बल के आधार पर कांग्रेस की जीत तय थी।

सतीश पूनिया और वेदप्रकाश सोलंकी की इस मुलाकात के बाद चाकसू विधानसभा इलाके के दो वार्डों से कांग्रेस के टिकट पर जीते जिला परिषद सदस्य रमा देवी चौपड़ा और जैकी टाटीवाल ने कांग्रेस की जगह बीजेपी के पक्ष में क्रॉस वोटिंग कर दी। इन दोनों को वेदप्रकाश सोलंकी की सिफारिश पर ही टिकट मिला था। जैकी टाटीवाल वोट देने के लिए भी वेदप्रकाश सोलंकी के साथ ही आया।

कांग्रेस की रमा देवी चौपड़ा बीजेपी में जाकर जिला प्रमुख बनीं
उन्होंने कहा- रमा देवी चौपड़ा ने खुद जिला प्रमुख पद के लिए पर्चा भरा और बीजेपी के समर्थन से जिला प्रमुख बन गईं। उन्हें 26 वोट मिले। जिसमें बीजेपी के 24 और खुद रमा देवी और जैकी टाटीवाल के 1-1 वोट शामिल थे। जबकि कांग्रेस को 25 वोट मिले और पार्टी उम्मीदवार सरोज की हार हो गई।

कांग्रेस प्रदेश प्रभारी अजय माकन के जारी वीडियो , जिसमें माकन पायलट गुट को अमित शाह की पुलिस, दिल्ली पुलिस, हरियाणा पुलिस के संरक्षण और पहरे में बता रहे हैं।
कांग्रेस प्रदेश प्रभारी अजय माकन के जारी वीडियो , जिसमें माकन पायलट गुट को अमित शाह की पुलिस, दिल्ली पुलिस, हरियाणा पुलिस के संरक्षण और पहरे में बता रहे हैं।

अजय माकन ने गद्दारी की
राठौड़ ने कहा- इस घटना की रिपोर्ट भी प्रदेश कांग्रेस ने अजय माकन को भेजी थी। अनुशासनहीनता की इस तरह की घटनाओं पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। आज जो लोग अनुशासनहीनता की बात कह रहे हैं, वो ध्यान करें कि कांग्रेस का नुकसान कर बीजेपी को जिताने वाले गद्दारों का कौनसा अनुशासन था।

अजय माकन ने कांग्रेस से गद्दारी की, इस घटना पर प्रदेश कांग्रेस की रिपोर्ट के बावजूद कार्रवाई क्यों नहीं की गई और पायलट समर्थक वेदप्रकाश सोलंकी को क्यों बचाकर रखा गया। इनको नोटिस तक नहीं जारी किया गया। ये सवाल आज राजस्थान का हर कांग्रेस कार्यकर्ता पूछ रहा है। वेदप्रकाश सोलंकी बताएं कि मानेसर गैंग और बीजेपी के बीच दलाली का ये काम उन्होंने किसके इशारे पर किया ?

वेदप्रकाश सोलंकी, कांग्रेस विधायक।
वेदप्रकाश सोलंकी, कांग्रेस विधायक।

वेदप्रकाश सोलंकी बोले- RTDC चेयरमैन धर्मेंद्र राठौड़ रजिस्टर्ड दलाल
पायलट समर्थक विधायक वेद प्रकाश सोलंकी ने एक दिन पहले ही गहलोत समर्थक RTDC चेयरमैन धर्मेंद्र राठौड़ को रजिस्टर्ड दलाल बताते हुए कहा कि वह तो कांग्रेस और बीजेपी में दलाली करते हैं। सब लोग जानते हैं कि कौन सच्चा और कौन ईमानदार है, कौन गद्दार है।

सोलंकी ने कहा- कांग्रेस में भावना रखने वाले सभी वरिष्ठ कांग्रेसी 25 सितम्बर को सीएम निवास पर बुलाई गई विधायक दल की बैठक में मौजूद थे। कांग्रेस के बड़े घराने जो हमेशा से कांग्रेस पार्टी के साथ रहे। जिन्होंने पार्टी को हमेशा से सींचा है। मदेरणा परिवार, ओला परिवार, नारायण सिंह, नरेन्द्र बुढ़ानिया, परसराम मोरदिया,रामनारायण मीणा, जाहिदा खान भी विधायक दल की बैठक में पहुंची थीं। कांग्रेस में आस्था रखने वाले विधायक वहां मौजूद थे और रात 12 बजे तक वो वेट करते रहे। सोलंकी ने कहा पार्टी आलाकमान राजस्थान में सही फैसला लेगा। आज तो पार्टी आलाकमान ने जो निर्णय लिए, वही हुआ है।

ये भी पढ़ें...

मंत्री परसादी लाल बोले- इस्तीफा देकर चुनाव लड़ने को तैयार:गोविंदराम मेघवाल बोले- मैं समर्थन करता हूं, CM कैसे बदलेंगे, MLA तो हम

गहलोत सरकार के दो कैबिनेट मंत्रियों ने राजस्थान में एक साल पहले ही सरकार गिरने और मिड टर्म इलेक्शन में जाने की चेतावनी दे दी है। स्वास्थ्य मंत्री परसादी लाल मीणा न कहा है कि हम इस्तीफा देकर एक साल पहले चुनाव लड़ने को तैयार हैं। एक साल बाद विधानसभा चुनाव होगा। हम उससे एक साल पहले आज भी इस्तीफा मंजूर करवाकर चुनाव लड़ने को तैयार हैं। वहीं, आपदा प्रबंधन मंत्री गोविंदराम मेघवाल ने कहा- मैं परसादीलाल जी का समर्थन करता हूं। दोनों ने जयपुर के गणगौरी होटल में मीडिया से बात की। (पढ़ें पूरी खबर)

क्या गहलोत CM बने रहेंगे? : पढ़िए उन सवालों के जवाब जो उन्होंने 5 मिनट की प्रेस कॉन्फ्रेंस में नहीं दिए

मैं अध्यक्ष का चुनाव नहीं लड़ूंगा...

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस एक लाइन के साथ राजस्थान में 20 सितंबर से चल रहे पॉलिटिकल ड्रामे के सेशन-2 को एक बार खत्म कर दिया। गहलोत ने इस दौरान एक और लाइन कही...

CM का फैसला सोनिया गांधी करेंगी......

यानी पॉलिटिकल ड्रामा अभी बाकी है। ये भी रहस्य, रोमांच और एंटरटेनमेंट से भरपूर होगा। रोमांचक इसलिए क्योंकि गहलोत की प्रेस ब्रीफिंग के साथ ही पॉलिटिकल पंडितों ने अटकलें लगानी शुरू कर दी हैं।(यहां पढ़ें पूरी खबर)

आखिर कैसे लीक हो गया गहलोत का माफीनामा?:इमोशनल कार्ड खेला, सीएम की कुर्सी बचाने की रणनीति, पायलट कैंप वेट एंड वॉच पर

राजस्थान में चल रहे सियासी बवाल के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोनिया गांधी से मिलकर माफी मांगी है। गहलोत ने इमोशनल कार्ड खेलते हुए गांधी परिवार और कांग्रेस के प्रति निष्ठा जताई है। इस बवाल की जिम्मेदारी लेते हुए गहलोत ने इसके बाद बने माहौल में अध्यक्ष का चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया। (पढ़ें पूरी खबर)

खबरें और भी हैं...