31 जनवरी तक पूरा करना होगा वैक्सीनेशन टारगेट:टारगेट पूरा नहीं होने पर CMHO होंगे जिम्मेदार, ऑफिस, मॉल और कार्यक्रम में डबल डोज वालों को ही एंट्री

जयपुर7 महीने पहले

राजस्थान सरकार ने सभी जिलों के चीफ मेडिकल एंड हेल्थ ऑफिसर (CMHO) को 31 जनवरी तक वैक्सीनेशन का काम पूरा करने का सख्त आदेश निकाला है। निदेशक आरसीएच डॉ. केएल मीना ने आदेश में कहा है कि मुख्यमंत्री और चिकित्सा मंत्री के आदेशों के अनुसार कोविड-19 वैक्सीन की पहली डोज और दूसरी डोज 31 जनवरी 2022 तक 100 फीसदी लगाई जानी है। स्टेट लेवल पर कोविड वैक्सीनेशन अभियान की प्रोग्रेस के रिव्यू में पाया गया है कि प्रदेश में 16 जनवरी तक टारगेट के मुकाबले कोविड वैक्सीन की पहली डोज 94.10 फीसदी और दूसरी डोज 77.70 फीसदी ही लग सकी है। इसलिए उन्होंने सभी सीएमएचओ को साफ निर्देश दिए हैं कि तय तारीख तक टारगेट पूरा करें। वरना सीएमएचओ के खिलाफ होने वाली कार्यवाही के लिए वो खुद जिम्मेदार होंगे।

CM ने 31 जनवरी दी 100 फीसदी डबल डोज वैक्सीनेशन डेडलाइन
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 100 फीसदी दोनों वैक्सीनेशन डोज के लिए पिछले दिनों वीडियो कान्फ्रेंस में सख्त हिदायत दी। जिसके बाद 3 जनवरी से वैक्सीनेशन ड्राइव भी तेज की गई। लेकिन अब केवल 13 दिन बचे हैं। गहलोत ने 31 जनवरी के बाद नो वैक्सीन, नो एंट्री की बात कही थी। लेकिन सूत्र बताते हैं कि इसमें कुछ बदलाव करना पड़ सकता है। सरकार चाहती है कि वैक्सीन की कम से कम पहली डोज सभी के लग जाए। ताकि दूसरी डोज भी तय टाइम पर लगाई जा सके। इससे कोविड से होने वाली मौतों की संख्या घटाने और महामारी से निपटने में बड़ी मदद मिलेगी। हालांकि वैक्सीनेशन की दोनों डोज के बीच के समय के अंतर को कम नहीं किया गया है। दूसरी डोज वैक्सीन के हिसाब से तय समय पर ही लगेगी।

शादी समारोह,सार्वजनिक कार्यक्रम,ऑफिस में डबल डोज पर ही एंट्री

14 जनवरी के बाद से शादियों और मांगलिक कामों का माहौल शुरू हो चुका है। शादियों और भीड़भाड़ वाले आयोजन को लेकर 7 जनवरी से गाइडलाइन भी लागू है। जिसमें मेहमानों की संख्या 100 से ज्यादा नहीं होने के निर्देश हैं। साथ ही कोरोना गाइडलाइन फॉलो होना चाहिए। कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लेने वाले मेहमान घराती-बराती बन पाएंगे। प्रशासन शादी से लेकर हर इवेंट की निगरानी के लिए अनिवार्य तौर पर वीडियो ग्राफी कराएगा। साथ ही शामिल होने वाले व्यक्तियों की अंडरटेकिंग भी देनी होगी। इसके अलावा हर सार्वजनिक कार्यक्रम यानी राजनीतिक, धार्मिक और सामा​जिक आयोजन, रैलियां, मनोरंजन से जुड़े प्रोग्राम, धरने और प्रदर्शन में वैक्सीन की डबल डोज वालों को ही शामिल होने की अनुमति होगी। वरना कार्यक्रम आयोजक पर जुर्माना लगाया जाएगा। ऑफिस में वैक्सीनेट कर्मचारी ही काम कर सकेंगे। प्रदेश में 31 जनवरी के बाद सरकार हर जगह नो वैक्सीन, नो एंट्री का नियम लागू करेगी।

जिलेवार वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज का प्रतिशत

जिलापहली डोज प्रतिशतदूसरी डोज प्रतिशत
जालोर82.473.7
बाड़मेर87.269.9
नागौर91.686.6
बारां93.478.1
हनुमानगढ़99.796.1
भरतपुर83.276.5
सिरोही88.484.9
भीलवाड़ा91.983
चूरू94.183
उदयपुर99.966.3
दौसा84.375.2
पाली88.574.9
बीकानेर9277.3
झुंझुनूं96.589.4
चित्तौड़गढ़100.181.8

धौलपुर

8570.4
बांसवाड़ा89.475.4

झालावाड़

92.382

अजमेर

96.786.8

सीकर

100.579.3

करौली

85.375.3
टोंक89.881.3

राजसमंद

92.774.3

अलवर

97.477.3

जयपुर-1

104.469.6

जयपुर-2

100.272.6

डूंगरपुर

8771

जैसलमेर

90.771.1
जोधपुर9373.5

कोटा

99.287.5
प्रतापगढ़102.797.5
श्रीगंगानगर95.270.6
सवाईमाधोपुर96.674
बूंदी104.282.1
खबरें और भी हैं...