पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्टेट लेवल बॉक्सर ने किया सुसाइड:बेंगलुरु में जिम ट्रेनर का काम भी करता था; लॉकडाउन में बंद होने से अपने घर सिरोही में रह रहा था, तनाव में पेड़ से फंदा लगाया

सिरोही11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक महेंद्र माली। - Dainik Bhaskar
मृतक महेंद्र माली।

शहर के नयावास में रहने वाले बॉक्सर ने माताजी के पीछे जंगल में पेड़ से लटककर सुसाइड कर लिया। मृतक की पहचान महेंद्र माली के रूप में हुई। वह स्टेट लेवल का बॉक्सर था और जिम ट्रेनर का भी काम कर रहा था। 2 दिन से घर से लापता था। परिजन उसकी तलाश कर रहे थे। एक दिन पहले ही उसकी मां किरण पवार ने कोतवाली में गुमशुदगी दर्ज कराई थी।

कपड़ों का बैग लेकर निकला था घर से
CI अनीता रानी ने बताया कि पीड़ित की मां ने युवक की गुमशुदगी की रिपोर्ट में बताया था कि घर से कपड़ों का एक बैग भी लेकर गया, वह मिल नहीं रहा है। इस पर पुलिस ने उसकी लोकेशन ट्रेस की तो पहले दूधिया तालाब व आदर्श नगर के आस पास की लोकेशन आई। बुधवार सुबह मातरमाता जी मंदिर की ओर गए के कुछ लोगों ने पुलिस को सूचना दी कि जंगल में पेड़ से युवक का शव लटक रहा है। कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची। फिर पता चला कि ये तो दो दिन से लापता युवक महेंद्र माली का शव है। वहीं, मृतक के भाई नरपत ने बताया कि वह आंध्रप्रदेश में काम करता है। महेंद्र का उसके पास फोन आया और कहा मम्मी पापा का ख्याल रखना।

नरपत ने भास्कर से बातचीत में बताया कि उसका भाई बॉक्सर था। स्टेट लेवल पर कई खिताब भी जीत चुका था। साथ ही जिम में ट्रेनर का भी काम करता था। महेंद्र ने उदयपुर समेत कुछ जिलों में हुए बॉक्सिंग ट्रर्नामेंट में हिस्सा भी लिया था। फिलहाल नेशनल की तैयारी में जुटा था।

स्टेट लेवल की बॉक्सिंग कर चुका था युवक। नेशनल खेलने की तैयारी कर रहा था।
स्टेट लेवल की बॉक्सिंग कर चुका था युवक। नेशनल खेलने की तैयारी कर रहा था।

लॉकडाउन में जिम बंद होने से चल रहा था तनाव में
परिजनों ने पुलिस को बताया कि पिछले चार-पांच महीनों से लॉकडाउन के चलते बेंगलुरु में जिम बंद होने के बाद से वह सिरोही रह रहा था और इसके चलते बेंगलुरु वापस नहीं जाने से लगातार तनाव में था। कई बार उसने जिम बंद होने से परेशानी की बात परिजनों को बताइए। फिलहाल पुलिस हर पहलू पर जांच कर रही है।

जोधपुर का रहने वाला है परिवार
पुलिस के अनुसार महेंद्र के पिता वीरम राम माली मूल रूप से जोधपुर के रहने वाले हैं। पिछले कई सालों से यहां ठेकेदारी का काम कर रहे हैं और शहर के नयावास में रह रहे थे।

खबरें और भी हैं...