राजस्थान / आरएएस मुख्य परीक्षा का परिणाम जारी करने पर लगी हाईकोर्ट की रोक हटी, अब रिजल्ट का इंतजार

High court orders release of RAS Main Examination result
X
High court orders release of RAS Main Examination result

  • 2018 की आरएएस भर्ती का मामला

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 07:57 PM IST

जयपुर. (संजीव शर्मा)। हाईकोर्ट ने आरएएस भर्ती-2018 की मुख्य परीक्षा का परिणाम जारी करने पर लगी रोक हटाते हुए इस संबंध में दायर याचिकाओं को सारहीन मानते हुए निस्तारित कर दिया। जस्टिस एके गौड़ ने यह आदेश सुरज्ञान सिंह, भाग्यश्री और अन्य की याचिकाओं पर मंगलवार को दिया।

मामले की सुनवाई के दौरान राज्य के एजी एमएस सिंघवी व आरपीएससी की ओर से कहा कि पूर्व में आरएएस भर्ती नियम, 1999 के नियम 15 के तहत विज्ञापित पदों के 15 गुणा अभ्यर्थियों को वर्गवार मुख्य परीक्षा में बुलाया जाता था लेकिन अब सरकार ने नियमों में संशोधन कर दिया और इसके अनुसार अब मेरिट के आधार पर 15 गुणा अभ्यर्थियों को बुलाए जाने का प्रावधान किया है।

सामान्य वर्ग की कट ऑफ करीब 76 फीसदी तथा ओबीसी की कट ऑफ करीब 99 फीसदी थी  
राज्य सरकार की ओर से कहा गया कि संशोधित नियम को वर्ष 2013 से लागू किया गया है लिहाजा प्रार्थियों का विवाद तय हो गया है। इसलिए भर्ती के मुख्य परीक्षा परिणाम पर लगी रोक हटाई जाए। दरअसल आरएएस और अधीनस्थ सेवा के एक हजार से ज्यादा पदों के लिए आयोजित की गई प्रारंभिक परीक्षा में सामान्य वर्ग की कट ऑफ करीब 76 फीसदी तथा ओबीसी की कट ऑफ करीब 99 फीसदी रही थी। 

आरपीएससी ने सामान्य वर्ग से ज्यादा लेकिन ओबीसी की कट ऑफ से कम अंक लाने वाले अभ्यर्थियों को मुख्य परीक्षा में शामिल नहीं किया था। इस कार्रवाई को हाईकोर्ट में चुनौती दी थी। हाईकोर्ट ने मामले में सुनवाई करते हुए एक दिसंबर 2018 के अंतरिम आदेश से प्रार्थियों को मुख्य परीक्षा में शामिल करने का निर्देश देते हुए परीक्षा का परिणाम जारी करने पर रोक लगा दी थी। परिणाम जारी करने पर लगी रोक हटवाने के लिए राज्य सरकार व आरपीएससी ने प्रार्थना पत्र दायर किया था। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना