कटारिया बोले-पंजाब में पीएम सिक्योरिटी में ब्लंडर नहीं षड़यंत्र:जयपुर में बीजेपी नेताओं ने गाए भजन, रघुपति राघव राजा राम, कांग्रेस को सदबुद्धि दे भगवान

जयपुर12 दिन पहले
कटारिया बोले-पंजाब में पीएम सिक्योरिटी में ब्लंडर नहीं षड़यंत्र

पंजाब में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का रूट डायवर्ट करने और सुरक्षा को लेकर मचे बवाल के बाद बीजेपी ने कांग्रेस के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। शुक्रवार को जयपुर के गांधी सर्किल पर राजस्थान बीजेपी ने धरना देकर पंजाब सरकार और कांग्रेस पर हमला बोला। नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया, पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अरुण चतुर्वेदी, अशोक परनामी, विधायक रामलाल शर्मा, अशोक लाहोटी, जयपुर ग्रेटर नगर निगम की मेयर शील धाभाई, जयपुर शहर अध्यक्ष राघव शर्मा समेत बीजेपी कार्यकर्ताओं ने रघुपति राघव राजा राम कांग्रेस को सद्बुद्धि दे भगवान के भजन गाते हुए नारेबाजी की। धरने में शामिल हुए नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि यह जानबूझकर और प्लानिंग के साथ किया गया षड़यंत्र है। इसके कई सबूत मिलते हैं। कांग्रेस चाहे कितने ही तर्क और कुतर्क दें, लेकिन एक नहीं चलेगा। कटारिया ने सवाल खड़े करते हुए कहा कि पीएम को रिसीव करने के लिए मुख्यमंत्री, चीफ सेक्रेट्री, डीजी जाते हैं। उनके काफिले में भी वो उनके साथ चलते हैं। लेकिन पंजाब में तीनों में से कोई एक भी नहीं पहुंचा। क्या उन सब को कोरोना हो गया।

ब्लंडर नहीं प्लानिंग के साथ किया गया षड़यंत्र

कटारिया ने कहा कि देश में पिछले 70 साल के इतिहास में अगर किसी भी प्रधानमंत्री को ऑन रोड 20 मिनट तक कभी किसी ने रोका हो, इसका जवाब कांग्रेस दे। अगर कभी ऐसा हुआ हो तो मैं उनसे सवाल नहीं करूंगा। कटारिया ने कहा कि पीएम को झंडे दिखाने और नारे लगाने का काम तो पहले भी होता रहा है। राजस्थान के झुंझुनूं में भी पिछले बीजेपी के शासन में ऐसा हुआ जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यक्रम में बेरोजगार बच्चों ने प्रदर्शन किया था। ऐसा तो कर सकते हैं, लेकिन पीएम का रास्ता 20 मिनट तक ब्लॉक हो जाए। पंजाब में सरकारी सिस्टम में कोई टेलीफोन रिसीव नहीं करे। इसका मतलब षड़यंत्र की ही कोशिश हुई है। कटारिया ने कांग्रेस की ओर से मोदी के कार्यक्रम में लोगों की संख्या कम होने के आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि संख्या कम थी, तो कार्यक्रम का फोटो पब्लिक में देकर कांग्रेस वाहवाही लूटने का काम करती, लेकिन ऐसा नहीं हुआ, इसका मतलब सब तर्क बेकार हैं। यह ब्लंडर नहीं बल्कि प्लानिंग के साथ किया गया षड़यंत्र है।

कांग्रेस देश के लोगों से माफी मांगे

बीजेपी प्रवक्ता रामलाल शर्मा ने कहा कि कांग्रेस शासन में पंजाब में प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक हुई है, लेकिन पंजाब के मुख्यमंत्री गलती स्वीकार करने के बजाय कह रहे हैं कि हमला तो नहीं हुआ। क्या पंजाब के मुख्यमंत्री हमले का इंतजार कर रहे थे। वह बीजेपी का कार्यक्रम नहीं, बल्कि सार्वजनिक कार्यक्रम था। प्रधानमंत्री पंजाब के लोगों को सरकारी कार्यक्रम में सौगात देने जा रहे थे। वहां के डीजीपी, मुख्य सचिव और मुख्यमंत्री का मौजूद नहीं होना संकेत देता है कि यह एक साजिश थी। उन्होंने मांग रखी कि कांग्रेस अपनी गलती स्वीकार करे और दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई करे। प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक को लेकर पूरे देश के लोगों से कांग्रेस माफी मांगे।

खबरें और भी हैं...