पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना वैक्सीन चोरी:जयपुर के सरकारी अस्पताल से कोवैक्सिन के 320 डोज चोरी, देश में वैक्सीन चोरी का यह पहला मामला

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भारत बायोटेक की बनाई कोवैक्सिन अस्पताल की 32 शीशियां गायब हुई हैं, हर शीशी से 10 लोगों को वैक्सीन लगाई जा सकती है। - Dainik Bhaskar
भारत बायोटेक की बनाई कोवैक्सिन अस्पताल की 32 शीशियां गायब हुई हैं, हर शीशी से 10 लोगों को वैक्सीन लगाई जा सकती है।

राजस्थान में कोरोना वैक्सीन की किल्लत के बीच जयपुर के एक सरकारी अस्पताल से वैक्सीन चोरी होने का मामला सामने आया है। शहर के शास्त्री नगर में स्थित कावंटिया अस्पताल से कोवैक्सिन टीके की 32 शीशियां चोरी हाे गई हैं। एक शीशी (वायल) में 10 डोज रहते हैं। इस लिहाज से कुल 320 डोज चोरी गए हैं। अस्पताल प्रबंधन ने शास्त्री नगर थाने में वैक्सीन चोरी होने का केस दर्ज कराया है। देश में वैक्सीन चोरी का यह पहला मामला है।

टीके के 320 डोज 12 अप्रैल को गुम हुए थे। इन्हें जयपुर के शास्त्री नगर में स्थित कावंटिया अस्पताल को आवंटित किया गया था।
टीके के 320 डोज 12 अप्रैल को गुम हुए थे। इन्हें जयपुर के शास्त्री नगर में स्थित कावंटिया अस्पताल को आवंटित किया गया था।

वैक्सीन 12 अप्रैल को गुम हुई थी। दो दिन बाद बुधवार सुबह इसकी रिपोर्ट दर्ज कराई गई। रिपोर्ट में कहा गया है कि CMHO ऑफिस से मिली भारत बायोटेक की बनाई कोवैक्सिन की 32 शीशी चोरी हो गई है। वैक्सीनेशन सेंटर के नोडल अधिकारी ने बताया कि सेंटर पर आने वाली वैक्सीन का पूरा रिकॉर्ड रहता है। इसलिए स्टोर से ही टीके गायब होने की आशंका है।

जांच के लिए पहुंची पुलिस को CCTV कैमरे खराब मिले
केस की जांच कर रहे शास्त्री नगर के थाना प्रभारी दिलीप सिंह ने कहा कि अस्पताल प्रबंधन की तरफ से मिली शिकायत के बाद मौके पर पुलिस पार्टी गई थी। जब पुलिस ने CCTV कैमरों की जांच की, तो स्टोर के आसपास के सभी कैमरे खराब मिले।

कागजों में वैक्सीन का स्टॉक सही, लेकिन हकीकत में नहीं
वैक्सीन चोरी होने के मामले में अस्पताल के अधीक्षक ने भी अपने स्तर पर जांच कराई है। जांच में सामने आया कि वैक्सीन स्टोर से ही गायब हुई है। अस्पताल में मौजूद वैक्सीन सेंटर से दूसरे सेंटरों को भी वैक्सीन भेजी जाती है, जिसका पूरा रिकॉर्ड रखा जाता है। इसकी पड़ताल से पता चला है कि स्टोर में वैक्सीन की इन्वेंटरी में पूरी मात्रा दिखाई गई है, लेकिन स्टॉक में वैक्सीन गायब है।

अस्पताल के अधीक्षक ने भी अपने स्तर पर जांच कराई है। जांच में सामने आया कि वैक्सीन स्टोर से ही गायब हुई है।
अस्पताल के अधीक्षक ने भी अपने स्तर पर जांच कराई है। जांच में सामने आया कि वैक्सीन स्टोर से ही गायब हुई है।

प्रदेश में बुधवार सुबह तक 4 लाख डोज ही बचे
राजस्थान में वैक्सीन को लेकर पहले ही किल्लत चल रही है। प्रदेश में बुधवार सुबह तक करीब 4 लाख डोज ही उपलब्ध थीं। हालांकि देर शाम तक 2 लाख डोज और आने की संभावना जताई गई है। प्रदेश के CM अशोक गहलोत वैक्सीन की कमी को लेकर प्रधानमंत्री को चिट्ठी भी लिख चुके हैं।

मेमोरी लॉस के 3 लक्षण; आप भी पढ़िए- इनकी भूल से कैसे हमारी वैक्सीन चोरी हो गईं
सबसे बड़ी भूल... स्टोर को ताला ही नहीं लगाया गया

कांवटिया अस्पताल के स्टोर की जिम्मेदारी डॉ. बसंत सिंघल और अशोक खंडेलवाल की थी। उन्होंने नर्सिंग स्टाफ को चाबी सौंपी और बेपरवाह हो गए। जूनियर सोमवार को स्टोर रूम का ताला लगाना भूल गए। अगले दिन पता चला- 16-16 वॉयल के 2 बॉक्स गायब हैं। एक वॉयल में 10 डोज होती हैं।

सीसीटीवी ठीक कराना तक याद नहीं रहा विभाग को
पुलिस ने जांच के लिए सीसीटीवी फुटेज मांगी तो पता चला कि अस्पताल के सीसीटीवी कैमरे ताे कई महीनों से खराब हैं और अस्पताल प्रशासन ने इसी ठीक ही नहीं करवाया है। ऐसे में पुलिस को चोरी का सुराग तक नहीं लग पा रहा है। ऐसे में सवाल यह है कि दोषियों को कैसे पकड़ा जाएगा।

प्रशासन पुलिस में मामला दर्ज कराना तक भूल गया
अस्पताल से वैक्सीन चोरी होने का मामला मंगलवार को ही पकड़ में आ गया था, लेकिन 2 दिन तक अस्पताल प्रशासन चोरी की घटना को दबाए ही रहा। भास्कर ने सबसे पहले मामले का खुलासा किया। मंगलवार रात को भास्कर ने पूछा तो बुधवार को केस दर्ज करवाया गया।