मंत्री गुढ़ा के बयान पर कांग्रेस में बवाल:प्रियंका के नजदीकी आचार्य कृष्णम का ट्वीट: पार्टी मां की तरह, किसी मंत्री को अपमान की छूट नहीं

जयपुर9 महीने पहले

बसपा से चुनाव जीतकर कांग्रेस में मंत्री बनने और दरी बिछाने का टाइम आने पर निकलने वाले मंत्री राजेंद्र गुढ़ा के बयान पर कांग्रेस में विवाद हो गया है। इस बयान की गूंज अब दिल्ली तक पहुंच गई है। सचिन पायलट समर्थक नेताओं ने भी इस बयान का विरोध किया है। पायलट समर्थक नेता के ट्वीट के बाद प्रियंका गांधी के नजदीकी कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने भी गुढ़ा के बयान पर आपत्ति जताते हुए मुख्यमंत्री से इस पर संज्ञान लेने को कहा है।

आचार्य प्रमोद कृष्णम ने ट्वीट किया- पार्टी मां
कृष्णम ने ट्वीट किया कि पार्टी मां की तरह होती है और किसी को भी पार्टी का अपमान करने की छूट नहीं दी जा सकती और वो भी किसी मंत्री को जो कांग्रेस की सरकार में शामिल हो। मुख्यमंत्री जी को संज्ञान लेना चाहिए। इससे पहले सचिन पायलट समर्थक कांग्रेस नेता ने गुढ़ा के बयान पर पलटवार करते हुए ट्वीट किया- राजेंद्र गुढ़ाजी, BSP से आकर आप मंत्री पद के लिए हमें गाली दो पर हम हमारी कांग्रेस के लिए दरी बिछाकर गर्व महसूस करते हैं।

इस बयान पर है विवाद
बसपा से कांग्रेस में शामिल हुए गुढ़ा ने अपने निर्वाचन क्षेत्र में लोगों से कहा-मैं चुनाव बसपा से जीतता हूं और कांग्रेस में जाकर मंत्री बन जाता हूं। वापस जब कांग्रेस में दरी उठाने का टाइम आता है तो निकल लेता हूं। कह देता हूं, आप संभालो, आपकी कांग्रेस। अभी चुनाव में वापस बहनजी से टिकट ले आया। पहले बसपा से टिकट लिया जीता, फिर कांग्रेस में घुसा और मंत्री बन गया। ऐसा दो बार कर चुका हूं, खेल में कोई कमी है तो बताओ।

पायलट समर्थकों ने सोशल मीडिया पर खोला मोर्चा
आचार्य प्रमोद कृष्णम के गुढ़ा के खिलाफ ट्वीट करने के बाद सचिन पायलट समर्थकों ने इसका समर्थन किया है। पायलट समर्थक इस मुद्दे पर जमकर ट्वीट कर रहे हैं। कई दूसरे लोग भी इस बयान पर ट्वीट कर रहे हैं। एक यूजर ने लिखा- आप लोगों की मजबूरी है ऐसे नेताओं को पार्टी में रखना क्योंकि ऐसे नेता अपने क्षेत्र में जनता के प्रतिनिधि हैं वहां से जीतेंगे और आपकी मजबूरी होगी उनकी सीट को अपनी पार्टी में लाना। सुरेंद्र सिंह ने लिखा- कोई संज्ञान नहीं लेगा, क्योंकि इनको यहां फ़्री हैंड मिला हुआ है तभी तो सचिन पायलट इनको बुरा लगता है क्योंकि वो हमेशा सच ओर पार्टी के साथ रहते हैं। भंवर लाल सारण ने लिखा- जिन सचिन पायलट ने पांच सालों तक दरी पट्टी बिछाकर मेहनत करके कांग्रेस को सत्ता में वापसी कराई उनको गद्दार की उपाधि और जो कांग्रेस को गाली दे उनको मंत्री। क्या ऐसे ही कांग्रेस मजबूत होगी?शायद कांग्रेस के कमजोर होने की वजह भी यही है।

गुढ़ा के बयान पर विवाद और गहराने की संभावना
मंत्री गुढ़ा के बयान से कांग्रेस में विवाद और गहराने के आसार हैंं। सचिन पायलट समर्थकों ने इसे कांग्रेस पार्टी के अपमान से जोड़ दिया है। इस बयान से गहलोत कैंप के खिलाफ एक मुद्दा भी मिल गया है। गहलोत विरोधी खेमा इस बयान को अब यह कहकर प्रचारित करेगा कि दूसरी पार्टियों से आए हुए लोग अब कांग्रेस का ही मखौल बना रहे हैं। कई नेताओं ने इस बयान को लेकर दिल्ली तक शिकायत भी की है।

खबरें और भी हैं...