• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kirori Lal Meena Wanted Criminal: Ashok Gehlot Minister Ramesh Chandra Meena On Rajasthan BJP MP Kirori Lal Meena Wanted Criminal: Ashok Gehlot Minister Ramesh Chandra Meena On Rajasthan BJP MP

मंत्री रमेश मीणा बोले- किरोड़ीलाल वांटेड अपराधी:पुलिस को बोल रखा है गिरफ्तार करे, किरोड़ीलाल बोले- गिरफ्तार करवा दे

जयपुर4 दिन पहले
मंत्री रमेश मीणा बोले-किरोड़ीलाल वांटेड अपराधी।

राजस्थान की गहलोत सरकार में पंचायती राज मंत्री रमेश चन्द्र मीणा और बीजेपी के राज्यसभा सांसद डॉ किरोड़ीलाल मीणा भिड़ गए हैं। मंत्री रमेश मीणा ने कहा कि किरोड़ीलाल मीणा पर 5 केस प्रमाणित हैं। वह वांटेड अपराधी है। पुलिस को उन्हें गिरफ्तार करने को बोल रखा है। उन्हें तो खुद सरेंडर करके अंदर जाना चाहिए। मंत्री रमेश मीणा को ललकारते हुए डॉ किरोड़ीलाल मीणा ने पलटवार में कहा कि मुझे गिरफ्तार करवा दें। मुझे उदयपुर में गिरफ्तार नहीं किया। अजमेर में गिरफ्तार नहीं किया। अब फिर से मैं उदयपुर जा रहा हूँ।

किरोड़ीलाल मीणा वांटेड अपराधी

रमेश मीणा ने भरतपुर में मीडिया से रूबरू होकर कहा कि किरोड़ी लाल मीणा पर 5 केस हैं। वो प्रमाणित हो चुके हैं। वह खुद अपराधी है कानून की बात करता है। कानून का उल्लंघन कर रहा है। उसे तो खुद सरेंडर कर देना चाहिए। वो कौनसी बात करता है। किस अधिकार की बात करता है। किसके लिए लड़ रहा है वो। जो खुद अपराधी है जिस पर 5 केस लगे हुए हैं उसे सरेंडर करके अंदर जाना चाहिए। न्यूसेंस करने के अलावा उसके पास काम क्या है। हम वही बात कर रहे हैं कि उसे अरेस्ट करने के लिए पुलिस को कह रखा है। माहौल खराब करते हैं और वातावरण बनाते हैं कि हम सही हैं। मैं तो किरोड़ीलाल को कहता हूँ कि वह कानून की बात कहता है कि कानून का उल्लंघन नहीं करेंगे। लेकिन वह कानून का वांटेड और अपराधी है। सीआईडी-सीबी से कितनी ही बार उसकी जांच हो चुकी है। वह खुद अपराधी है उसे खुदको सरेंडर कर देना चाहिए।

माई ने दूध पिलाया है तो मुझे गिरफ्तार करवा दे

जयपुर में प्रेसवार्ता में डॉ किरोड़ीलाल मीणा ने मंत्री रमेश मीणा के बयान पर तीखा पलटवार करते हुए कहा- उसकी माई ने दूध पिलाया है तो मेरे को गिरफ्तार करवा दे ना। उदयपुर में भी नहीं किया, अजमेर में भी नहीं किया। मैं फिर जा रहा हूँ। वो अपनी मां को लेकर आ जाए वहां पर दूध पिलाया है तो। मेरे को गिरफ्तार करवा दे। मैं कोई अपराधी नहीं हूँ। राजनीतिक दृष्टि से आंदोलन करना मेरा अधिकार है और मैं कानून को तोडूंगा तो मेरे को गिरफ्तार कर लें। मैं कब मना कर रहा हूं। मैं कानून से बड़ा थोड़े ही हूँ। मैं कानून को तोड़ूंगा तो पुलिस स्वतंत्र है गिरफ्तार करने के लिए। ये चवन्ने आदमी राजनीति में आ गए भूमाफिया....इनकी बातों पर मैं जवाब नहीं देना चाहता। ये भूमाफिया हैं लुटेरे हैं।

क्यों भिड़े दोनों मीणा नेता ?

उदयपुर में कांग्रेस पार्टी का चिन्तन शिविर चल रहा है। जहां से बीजेपी के राज्यसभा सांसद डॉ किरोड़ीलाल मीणा को पुलिस ने जिला बदर कर दिया। डॉ़ किरोड़ीलाल मीणा ने इसके बाद से लगातार कांग्रेस सरकार को घेर रहे हैं। कांग्रेस के चिन्तन शिविर स्थल पर सवाल खड़े कर रहे हैं। कांग्रेस सरकार की नाक में उन्होंने दम कर रखा है। पिछले दिनों सीएम गहलोत ने डॉ किरोड़ीलाल मीणा के लिए धमाल करने की बात कही थी। रमेश मीणा कांग्रेस सरकार में मंत्री हैं। साथ ही मीणा समाज में दोनों नेता अपनी पैठ मजबूत रखना चाहते हैं। विरोधी दलों से होने और आपसी खींचतान के चलते यह जुबानी जंग तेज हो गई है।