पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota Boat Accident: Chambal RiverNews Today Updates, 32 People Drown As Boat Capsizes Today In Chambal Rescue Opretion By Ndrf And Sdrf

चंबल नदी में मौत की लहर:हादसे के 24 घंटे बाद दो युवतियों के शव बरामद, मौके से आधा किलोमीटर दूर मिले; कुल 13 लोगों के शव मिले

जयपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एक युवती का शव मिला है, जो बरनाहाली गांव की रहने वाली थी।
  • बुधवार सुबह 9 बजे खातोली गांव के पास चंबल नदी में 32 लोगों और 14 बाइकों ने लदी नाव डूब गई थी

कोटा जिले के खातोली गांव के पास चंबल नदी में नाव पलटने से अब तक 13 लोगों की मौत हो गई। गुरुवार सुबह 2 शव नदी से निकाले गए। जो मौके से करीब आधा किलोमीटर दूर गोठड़ा खुर्द से मिली। यह दो शव ज्योति और गोलमा नाम की दो युवतियों के हैं। इसके साथ रेस्क्यू ऑपरेशन पूरा हो गया है। बुधवार को सुबह 9 बजे नाव पलटने के हादसे के बाद 13 लोग लापता हो गए थे।

मौके पर एनडीआरएफ और एसडीआरएफ दोनों की टीमें मौजूद रहीं। बुधवार को अंधेरा होने के कारण रेस्क्यू रोक दिया गया था। जो गुरुवार सुबह फिर से शुरू किया गया। इस दौरान कई अधिकारी भी मौके पर मौजूद रहे।

एनडीआरएफ और एसडीआरएफ चला रही रेस्क्यू अभियान।
एनडीआरएफ और एसडीआरएफ चला रही रेस्क्यू अभियान।

क्या है मामला

बुधवार सुबह कोटा जिले में खातोली गांव के पास चंबल नदी में 32 लोगों और 14 बाइकों से लदी नाव डूब गई थी। जिसमें 13 लोग लापता हो गए थे। बुधवार देरशाम तक 11 शव बरामद कर लिए गए थे। इनमें 6 पुरुष, 4 महिलाएं और 1 बच्चा शामिल था। नाव चलाने वाला तैरकर बाहर निकल आया था। नाव 25 लोगों का भार उठा सकती थी, लेकिन उसमें 32 लोग सवार थे। यही नहीं, इन लोगों ने नाव में 14 बाइक भी रख दी थीं। इसी वजह से नाव पलट गई। जहां हादसा हुआ, वहां नदी की गहराई 40 से 50 फीट थी।

घटना के तुरंत बाद मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने लोगों को बचाने की कोशिश की, लेकिन बहाव तेज होने की वजह से कुछ लोग बह गए। पुलिस ने बताया कि ये लोग कमलेश्वर धाम जा रहे थे। मारे गए ज्यादातर लोग गोठड़ा कला के रहने वाले हैं।

लड़कों ने 25 लोगों की जान बचाई

चार लड़कों ने मिलकर कुल करीब 25 लोगों की जान बचाई। उन्होंने बताया कि नाव वाले ने ज्यादा लोगों को बैठाने से इनकार किया था, फिर भी लोग नहीं माने और नाव में चढ़ते गए। लोगों को बचाने के लिए कुछ देर में दूसरी नाव भी गहरे पानी में पहुंची, लेकिन तब तक काफी लोग डूब चुके थे।

पहले से जर्जर थी नाव

लोगों ने बताया कि लकड़ी की नाव की हालत पहले से खराब थी। इसके बाद भी क्षमता से ज्यादा यात्रियों को बैठाया गया था। साथ ही नदी पार करवाने के लिए नाव पर बाइकें भी बांध दी गई थीं। इस वजह से नाव वजन नहीं सह सकी और डूब गई।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन परिवार व बच्चों के साथ समय व्यतीत करने का है। साथ ही शॉपिंग और मनोरंजन संबंधी कार्यों में भी समय व्यतीत होगा। आपके व्यक्तित्व संबंधी कुछ सकारात्मक बातें लोगों के सामने आएंगी। जिसके ...

और पढ़ें