बधाई,जन्मे कृष्ण कन्हाई-जयपुर के 3 मंदिरों में जन्माभिषेक:गोविंददेवजी की शरण में पहुंचे पायलट, राजस्थान के प्रमुख मंदिरों में रात को जन्मोत्सव

जयपुर6 महीने पहले
जयपुर के राधा-दामोदर मंदिर और अक्षय पात्र कृष्ण बलराम मंदिर में जन्मे कन्हा।

राजधानी जयपुर के तीन मंदिरों में दोपहर 12 बजे कृष्ण कन्हैया का जन्म हो गया है। तीनों मंदिरों में जन्मोत्सव मनाया जा रहा है। चौड़ा रास्ता में राधा दामोदर जी मंदिर, रामगंग में लाड़लीजी का मंदिर और जगतपुरा में अक्षय पात्र कृष्ण बलराम मंदिर में कान्हा का अभिषेक हो गया है। बधाई गीत और मंगल गान शुरू गए हैं। मंदिर में मिठाईयां बंट गई हैं। हाथी, घोड़ा पालकी, जय कन्हैयालाल की, नन्द के आनंद भयो, जय कन्हैयालाल से मंदिर प्रांगण गूंज उठे हैं।

जन्माष्टमी पर जयपुर के चौड़ा रास्ता में श्री राधा दामोदर जी मंदिर में किशन लला का जन्म हो गया है। दैनिक भास्कर सबसे पहले जन्मोत्सव की तस्वीरों और वीडियो दिखा रहा है। 500 साल पुरानी इस मंदिर की परंपरा है कि यहां दिन में जन्माष्टमी मना ली जाती है। वृन्दावन से ये परंपरा चली आ रह है। जिस तरह छोटे बच्चे को देर रात तक नहीं जगाया जाता, उसी तरह लड्डू गोपाल के जन्म के बाद अभिषेक कर नहला कर और नए वस्त्र पहनकर, भोग लगाकर आरती की जाती है। रात को उन्हें जल्दी सुला दिया जाता है। रात 12 बजे से पहले मंदिर के पट बंद हो जाते हैं। जबकि अन्य कृष्ण मंदिरों में रात 12 बजे कृष्ण जन्मोत्सव मनाया जाता है। जयपुर के लाड़ली जी का मंदिर और अक्षय पात्र श्री कृष्ण बलराम मंदिर में भी इसी तरह दिन में जन्मोत्सव की परम्परा निभाते हुए कृष्ण जन्म हो गया है। मंदिर में दोपहर 12 बजते ही बधाई गीत और अभिषेक शुरू हो गया है।

राजस्थान में ज्यादातर मंदिरों में रात 12 बजे ही मनेगी जन्माष्टमी

राजस्थान में आज धूम-धाम से सभी कृष्ण मंदिरों में जन्माष्टमी का महापर्व मनाया जा रहा है। प्रदेश के सभी बड़े-छोटे श्री कृष्ण मंदिरों में आज जन्माष्टमी महोत्सव है। जयपुर के गोविंददेवजी मंदिर, इस्कॉन मंदिर, नाथद्वारा के श्रीनाथजी मंदिर, चित्तौड़गढ़ के सांवलिया सेठ मंदिर, करौली के मदनमोहन मंदिर, जैसलमेर के गिरधारी और बांके बिहारी मंदिर, कोटा के राधा कृष्ण मंदिर, जोधपुर के श्याम मनोहर, बालकृष्ण लाल, कुंजबिहारी मंदिर, नागौर के मीरा और बंशीवाला मंदिर, उदयपुर के जगदीश मंदिर और श्रीनाथजी मंदिर समेत श्रीकृष्ण मंदिरों में आज दिनभर जन्माष्टमी महोत्सव मनाया जा रहा है। लेकिन जन्माभिषेक और कृष्ण जन्म रात 12 बजे ही होगा।

गोविंद देवजी मंदिर में दिनभर में उमड़ेंगे लाखों श्रद्धालु।
गोविंद देवजी मंदिर में दिनभर में उमड़ेंगे लाखों श्रद्धालु।

गोविंद देवजी मंदिर में 31 हवाई तोपों की सलामी से मनेगा जन्मोत्सव

गोविंददेवजी मंदिर में 31 हवाई तोपों (आतिशबाजी) की सलामी के साथ जन्मोत्सव मनाया जाएगा। सुबह मंगला आरती से ही भक्तों का मंदिर में जुटना शुरू हो गया है। गोविंद देवजी मंदिर में जन्माष्टमी पर सुबह 4.30 बजे मंगला आरती हुई। दिनभर में लाखों श्रद्धालु मंदिर दर्शन करेंगे। रात 12 बजे तिथि पूजन के साथ ठाकुरजी का जन्माभिषेक होगा। जन्माभिषेक में 425 लीटर दूध, 365 लीटर दही, 11 किलो घी, 85 किलो बूरा, 11 किलो शहद से जन्माभिषेक होगा। सालिगराम पूजन और पंचामृत अभिषिक होगा। 6 पंडित वेदपाठ करेंगे।

ठाकुरजी को विशेष भोग में पंजीरी के लड्डू, खीर-रबड़ी का भोग लगाया जाएगा। रात को 11 बजे से ही श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की व्रत कथा शुरू हो जाएगी। मंदिर परिसर और बाहर 1100 स्वयंसेवक दर्शन और व्यवस्थाएं संभालेंगे। 13 LED स्क्रीन और 3 प्लाज्मा टीवी पर LIVE दर्शन की व्यवस्था भी की गई है।

पूर्व डिप्टी CM सचिन पायलट ने जयपुर के श्रीगोविंददेवजी मंदिर पहुंचकर जन्माष्टमी पर दर्शन किए और ठाकुरजी का आशीर्वाद लिया।
पूर्व डिप्टी CM सचिन पायलट ने जयपुर के श्रीगोविंददेवजी मंदिर पहुंचकर जन्माष्टमी पर दर्शन किए और ठाकुरजी का आशीर्वाद लिया।

गोविंददेवजी की शरण में पहुंचे पायलट

राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट जन्माष्टमी पर जयपुर के आराध्य श्रीगोविंददेवजी की शरण में पहुंचे, उन्हें शीश नवाया और दर्शन लाभ लिए। पायलट ने ठाकुरजी के दर्शन कर आरती में हिस्सा लिया। इस दौरान मंदिर के पुजारी ने उन्हें गले में दुपट्टा पहनाकर ठाकुरजी का आशीर्वाद प्रदान किया। पायलट ने देश-प्रदेश की खुशहाली, भाईचारे और अमन-चैन की प्रार्थना की।

जन्माष्टमी पर जयपुर के कृष्ण मंदिरों में सुरक्षा चाक-चौबंद

जन्माष्टमी पर राजस्थान के प्रमुख कृष्ण मंदिरों में सुरक्षा बंदोबस्त चाक-चौबंद कर दिए गए हैं। दो साल बाद कान्हा के दर्शन के लिए उमड़ने वाले लाखों लोगों की भीड़ को देखते हुए पुलिस फोर्स को अलर्ट रहने को कहा गया है। खाटू श्यामजी मंदिर हादसे से सबक लेते हुए प्रमुख कृष्ण मंदिरों में भीड़ नियंत्रण के लिए विशेष बंदोबस्त किए गए हैं। बैरिकेटिंग, कतार से व्यवस्थित दर्शन व्यवस्था, दर्शन के तुरंत बाद एक्जिट, मंदिर से दूर पार्किंग, एक जगह भीड़ जमा नहीं होने देने के लिए वॉल्युंटियरिंग भी की जा रही है। गोविंददेवजी मंदिर में अस्थाई कंट्रोल रूम बनाया गया है। पुलिस प्रशासन के साथ निजी सिक्योरिटी गार्ड्स तैनात हैं। 10 मेटल डिटेक्टर से मंदिर में श्रद्धालुओं को एंट्री दी जा रही है। मंदिर प्रशासन ने बीमार और बहुत ज्यादा बुजुर्ग, गर्भवती महिलाओं और बच्चों को मंदिर में नहीं आने की अपील की है।

गोविंददेवजी मंदिर के अंदर और बाहर कई जगह अस्थाई सीसीटीवी कैमरे लगाकर मॉनटरिंग की जा रही है। जिसमें पुलिस, होमगार्ड, वॉल्युंटियर्स और हथियारबंद कमांडो तैनात किए गए हैं। रिजर्व पुलिस लाइन से एडिशनल फोर्स, अधिकारी, आरएसी बटालियन, क्यूआरटी टीम और मंदिर प्रशासन के वॉल्युंटीयर्सस लगाए गए हैं। हर दर्शनार्थी को मेटल डिटेक्टर से होकर ही मंदिर में एंट्री दी जा रही है। संदिग्धों पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है।

जन्माष्टमी पर श्री गोविंददेवजी मंदिर में आरती दर्शन

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर जयपुर शहर के आराध्य गोविंदेदवजी मंदिर में कृष्ण जन्मोत्सव मनाया जा रहा है। जिसकी शुरूआत आज सुबह 4.30 बजे मंगला आरती में ठाकुर जी की आराधना से हुई। सुबह 7.30 बजे धूप आरती सम्पन्न हुई।

दो साल बाद जयपुर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की भव्य शोभायात्रा निकलेगी। 20 अगस्त को सुबह 9.15 से 10 बजे तक नंदोत्सव के तहत श्रृंगार झांकी निकाली जाएगी। शाम को शोभायात्रा निकाली जाएगी।
दो साल बाद जयपुर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की भव्य शोभायात्रा निकलेगी। 20 अगस्त को सुबह 9.15 से 10 बजे तक नंदोत्सव के तहत श्रृंगार झांकी निकाली जाएगी। शाम को शोभायात्रा निकाली जाएगी।

गोविंददेवजी से पुरानी बस्ती स्थित मंदिरश्री गोपीनाथजी तक निकलने वाली शोभायात्रा में श्रद्धालु उमड़ेंगे। शहर के आराध्य देव नगर भ्रमण पर निकलेंगे। 2 साल कोरोना पीरियड के कारण मंदिरों में भक्तों के लिए पट बंद रहे थे।

रथ में बैठकर कल नगर भ्रमण पर निकलेंगे आराध्य देव। नन्दोत्सव मनेगा और शोभायात्रा निकाली जाएगी।
रथ में बैठकर कल नगर भ्रमण पर निकलेंगे आराध्य देव। नन्दोत्सव मनेगा और शोभायात्रा निकाली जाएगी।

जन्माष्टमी पर ठाकुरजी के ऑनलाइन दर्शन करवाए गए थे। जयपुर के आराध्य गोविंद देवजी मंदिर में इस बार भक्त लड्डू गोपाल का अभिषेक, प्राकट्योत्सव जन्मोत्सव, नए वस्त्र धारण करवाने और पूजा अर्चना आरती के साक्षात दर्शन कर सकेंगे।

कृष्ण भक्ति में सरोबार हुईं मशहूर इंटरनेशनल कालबेलिया नृत्यांगना गुलाबो सपेरा। स्थान-श्री राधा दामोदर मंदिर,बनीपार्क,जयपुर।
कृष्ण भक्ति में सरोबार हुईं मशहूर इंटरनेशनल कालबेलिया नृत्यांगना गुलाबो सपेरा। स्थान-श्री राधा दामोदर मंदिर,बनीपार्क,जयपुर।

कालबेलिया डांसर गुलाबो कृष्ण भक्ती में डांस करती दिखीं
जयपुर के बनीपार्क स्थित मंदिर श्री राधा दामोदर ट्रस्ट की ओर से जन्माष्टमी महोत्सव भक्ति भाव से मनाया जा रहा है। जन्माष्टमी पर मंदिर में झांकियां सजाई जा रही हैं। ठाकुर जी को नए पोशाक धारण कराई गई है। इस मौके पर भजनों का आयोजन किया गया। कालबेलिया डांसर गुलाबो और उनके साथी कलाकारों ने मंदिर में भक्ति भाव से डांस करती दिखी। इस मौके पर बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने पूजा अर्चना की।

मंदिर में VIP दर्शन बंद कर दिए गए हैं। क्योंकि 8 अगस्त को एकादशी के मासिक मेले के दौरान भगदड़ मचने से 3 महिला श्रद्धालुओं की मौत हो गई थी।
मंदिर में VIP दर्शन बंद कर दिए गए हैं। क्योंकि 8 अगस्त को एकादशी के मासिक मेले के दौरान भगदड़ मचने से 3 महिला श्रद्धालुओं की मौत हो गई थी।

खाटू श्याम की यात्रा का मार्ग बदला गया

सीकर जिले के रींगस में बाबा श्री खाटू श्याम की यात्रा का मार्ग भक्तों की सुरक्षा के मद्देनजर बदल दिया गया है। मंदिर परिसर में भीड़ इकट्ठी न हो, इसके लिए भक्तों की एंट्री तोरण द्वार से शनि मंदिर होते हुए मेला मार्ग से की गई है। दर्शनार्थियों के लिए जिगजैग व्यवस्था की गई है। मेला मार्ग से यात्रा में समय ज्यादा लगता है। भक्तों को 2 से 3 किलोमीटर पैदल चलना पड़ता है। पहले सामान्य दिनों में यात्रा मेन मार्केट से होकर जाने वाले रास्ते से की जाती थी।

मंदिर में VIP दर्शन बंद कर दिए गए हैं। क्योंकि 8 अगस्त को एकादशी के मासिक मेले के दौरान भगदड़ मचने से 3 महिला श्रद्धालुओं की मौत हो गई थी। इसके बाद से खाटू श्याम में पुलिस- प्रशासन काफी अलर्ट है। कुछ जगह पर बैरिकेडिंग भी की गई है।

खबरें और भी हैं...