• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Married The Victim To A Retarded Youth, Raped Before Marriage And Then Also In In laws' House; The Tea Hotel Was Gang raped While Being Taken To Delhi Under Pressure.

गैंगरेप का आरोपी दुष्कर्मी फूंफा गिरफ्तार:मंदबुद्धि युवक से पीड़िता का विवाह कराया, शादी से पहले और फिर ससुराल में भी करता दुष्कर्म; दबाव बना दिल्ली ले जाते समय चाय की होटल पर किया गैंगरेप

जयपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दुष्कर्म का आरोपी फूंफा - Dainik Bhaskar
दुष्कर्म का आरोपी फूंफा

जयपुर में 10 महीने से फरार दुष्कर्म के आरोपी फूंफा को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दुष्कर्मी फूंफा ने ही मंदबुद्धि युवक से पीड़िता का विवाह कराया था। उस पर दबाव बनाकर ससुराल से दिल्ली ले गया। रास्ते में उसने चाय की होटल पर ले जाकर दुष्कर्म किया। उसके साथ अन्य लोगों ने भी दुष्कर्म किया था। आरोपी ने पूछताछ में कई खुलासे किए है।

एसपी ग्रामीण शंकरदत्त शर्मा ने बताया कि गोविंदगढ़ पुलिस ने जगदीश बगडिया(52) पुत्र सूरजाराम निवासी पलसाना, रानोली सीकर को गोरधनपुरा से गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि वह मोबाइल बंद कर पिछले 10 महीने से फरार चल रहा था। वह नागौर में मजदूरी करने लग गया था। पुलिस ने उसकाे दो दिन के रिमांड पर लिया है। पुलिस दुष्कर्म के फरार अन्य आरोपियों की तलाश कर रही है।

शादी से पहले और बाद में करता रहा दुष्कर्म

जांच में पता लगा कि आरोपी जगदीश पीड़िता का धर्म का फूंफा लगता है। उसने ही पहचान वाले एक मंदबुद्धि युवक से विवाह करवाया था। वह पीड़िता के साथ शादी से पहले भी ड़रा-धमका कर दुष्कर्म करता था। शादी होने के बाद भी ससुराल में जाकर दुष्कर्म करने लगा था। वह दबाव बनाकर उसे साथ में दिल्ली ले गया। उसके साथ अन्य लोग भी थे। रास्ते में उसने चाय की होटल पर गाड़ी रोकी। वहां पर उसके साथ दुष्कर्म किया।

ठेकेदार के पास करने लगा मजदूरी
पीड़िता के दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराने के बाद आरोपी फरार हो गया। पुलिस ने उसे पकड़ने के लिए कई बार दबिश दी। वह नागौर में जाकर मजदूरी करने लग गया था। वह सड़क बनाने वाले ठेकेदार के पास पानी डालने का काम करता था। पिछले 10 महीने से उसने मोबाइल भी बंद कर लिया था। किसी भी परिजन से संपर्क नहीं किया। वह नागौर से खाटूुश्यामजी में आया था। वहां पर छिपने के लिए घूम रहा था। सूचना पर पुलिस टीम ने उसे दबोच लिया। खाटूश्यामजी थाने के हेड़ कांस्टेबल लालचंद का सराहनीय कार्य रहा।

खबरें और भी हैं...