गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करने की मांग:राज्यसभा में सांसद किरोड़ीलाल मीणा बोले- गौ रक्षा को हिन्दुओं का मूल अधिकार बनाएं

जयपुरएक महीने पहले
गाय की पूजा कर हरा चारा खिलाते सांसद डॉ किरोड़ीलाल।

राजस्थान से बीजेपी सांसद डॉ किरोड़ीलाल मीणा ने राज्यसभा में गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करने की मांग रखी। सांसद किरोड़ीलाल ने गौ रक्षा की पुरजोर वकालत करते हुए कहा है कि गाय भारतीय संस्कृति का हिस्सा है। जिसमें गाय को पूजा जाता है। गौ, गीता, गंगा और गायत्री सनातन संस्कृति की पहचान हैं। इसलिए यह वक्त की मांग है। उन्होंने गायों की रक्षा को हिन्दुओं का मूल अधिकार (Fundamental Right) बनाने की भी मांग रखी।

राज्यसभा में सांसद किरोड़ीलाल मीणा। सौजन्य से-संसद टीवी।
राज्यसभा में सांसद किरोड़ीलाल मीणा। सौजन्य से-संसद टीवी।

गाय की रक्षा को हिन्दुओं का मूल अधिकार बनाया जाए

राज्यसभा में विशेष उल्लेख के दौरान मीणा ने कहा कि जब किसी देश की संस्कृति और उसकी आस्था को ठेस पहुंचती है, तो देश कमजोर होता है। चाणक्य ने अर्थशास्त्र में लिखा है कि किसी देश को नष्ट करना है, तो पहले उसकी संस्कृति नष्ट कर दो। देश अपने आप ही नष्ट हो जाएगा। इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए ज्यादातर राज्यों में गायों की हत्या पर रोक है। उन्होंने कहा सनातन धर्म में गाय को माता मानकर पूजा जाता है। गाय हिंदू संस्कृति का मजबूत प्रतीक और आस्था का केंद्र है। इसलिए जब कोई भी गौ हत्या कर देता है, तो सामाजिक सौहार्द्र बिगड़ जाता है। गाय का मांस खाना किसी का मौलिक अधिकार नहीं हो सकता, बल्कि जो लोग गाय की पूजा करते हैं,गाय की रक्षा करना उनका सबसे बड़ा कर्तव्य है।

5 मुस्लिम शासकों ने भी गौ हत्या पर पाबंदी लगाई

सांसद मीणा ने कहा कि लोग आर्थिक तौर पर भी गाय पर निर्भर रहते हैं। गौ रक्षा किसी धर्म से जुड़़ा विषय नहीं है। मुस्लिम शासकों ने भी गाय को भारतीय संस्कृति का महत्वपूर्ण हिस्सा माना है। बाबर, हुमायूं और अकबर सहित कम से कम 5 मुस्लिम शासकों ने गौ हत्या पर पाबंदी लगाई थी। किरोड़ीलाल ने मांग रखी कि सरकार गौ हत्या को रोकने के लिए प्रभावी कानून लाए।

खबरें और भी हैं...