पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Nagar Nigam Election Jaipur Heritage Voters Choosing The Heritage Government, Many Leaders Including Former Ministers Cast Their Votes

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जयपुर नगर निगम चुनाव लाइव रिपोर्ट:मतदाता चुन रहा है हेरिटेज सरकार, परिवहन मंत्री, मुख्य सचेतक, विधायक व पूर्व मंत्री सहित कई नेताओं ने डाले वोट

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोना महामारी को देखते हुए पोलिंग बूथ पर गोले बनाए गए थे। पूर्व महापौर ज्योति खंडेलवाल ने भी अपने परिवार के साथ वोटिंग की। सभी ने सोशल डिस्टेंसिंग की पालना की।
  • पहले ढाई घंटे में 16.91 फीसदी हुआ मतदान, पहली बार मतदान करने वालों में उत्साह
  • पैदल, ई-रिक्शा व अपने निजी व प्रत्याशियों के वाहनों से वोटिंग बूथों तक पहुंचे मतदाता

दिनेश पालीवाल. राजधानी जयपुर में आज नगर निगम चुनाव के दो रूप देखने को मिल रहे हैं। जहां एक तरफ आधे जयपुर में लोग उत्साह के साथ मतदान केन्द्रों पर जाकर वोट दे रहे हैं। वहीं, दूसरी तरफ प्रत्याशी वोटरों को लुभाने के लिए जी जान लगा रहे हैं। जयपुर नगर निगम हेरिटेज क्षेत्र में सुबह 7.30 बजे से मतदान शुरू हो गया और सुबह 10 बजे यानी ढाई घंटे में 16.91 फीसदी लोगों ने वोट डाले। पुराने जयपुर यानी चारदीवारी क्षेत्र में लोग घरों से वोटिंग के लिए मतदान केन्द्र पहुंच रहे हैं।

किशनपोल विधानसभा क्षेत्र से विधायक अमीन कागजी ने जालूपुरा में डाला वोट (सबसे पीछे खडे़ नजर आए)
किशनपोल विधानसभा क्षेत्र से विधायक अमीन कागजी ने जालूपुरा में डाला वोट (सबसे पीछे खडे़ नजर आए)

किशनपोल विधानसभा से विधायक अमीन कागज़ी ने अपना वोट जालूपुरा स्थित गौड़ विप्र स्कूल में बने सेंटर पर डाला। इधर, जयपुर की पूर्व महापौर और वर्तमान में कांग्रेस की प्रदेश महासचिव ज्योति खण्डेलवाल भी अपनी पति शरद खण्डेलवाल संग मतदान करने किशनपोल बाजार स्थित राजकीय महाराजा बालिका विद्यालय में मतदान करने आई।

हवामहल विधानसभा क्षेत्र से विधायक और मुख्य सचेतक महेश जोशी ने बडोदिया बस्ती में पत्नी के साथ हेरिटेज नगर निगम के चुनाव में वोट किया।
हवामहल विधानसभा क्षेत्र से विधायक और मुख्य सचेतक महेश जोशी ने बडोदिया बस्ती में पत्नी के साथ हेरिटेज नगर निगम के चुनाव में वोट किया।

इधर, जयपुर की पूर्व महापौर और वर्तमान में कांग्रेस की प्रदेश महासचिव ज्योति खण्डेलवाल भी अपनी पति शरद खण्डेलवाल संग मतदान करने किशनपोल बाजार स्थित राजकीय महाराजा बालिका विद्यालय में मतदान करने आई। मुख्य सचेतक और हवामहल विधानसभा के विधायक महेश जोशी ने बड़ौदिया बस्ती में पत्नी के साथ वोट डाला।

इससे पहले एक अन्य पोलिंग बूथ पर पहुंच गए। लेकिन वहां उनका नाम नजर नहीं आया। वहीं, दोपहर 1 बजे पूर्व राजकुमारी और भाजपा सांसद दीया कुमारी ने जनानी ड्योढी स्थित पेंशन कार्यालय में स्थित बूथ पर वोट डाला।

भाजपा सरकार में पूर्व मंत्री रहे डॉ. अरुण चतुर्वेदी ने अपने परिवार के साथ जवाहर नगर में अपने पोलिंग बूथ पर वोट डाला।
भाजपा सरकार में पूर्व मंत्री रहे डॉ. अरुण चतुर्वेदी ने अपने परिवार के साथ जवाहर नगर में अपने पोलिंग बूथ पर वोट डाला।

भाजपा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष व पूर्व कैबिनेट मंत्री डॉ. अरूण चतुर्वेदी ने आज अपनी पत्नी, माता—पिता व बच्चों के साथ वार्ड संख्या 46 में गीता आश्रम स्कूल सोडाला, अजमेर रोड पर मतदान किया। इसी तरह, परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने वार्ड 47 के मतदान केंद्र टिनी ब्लॉसम स्कूल में मतदान किया और लोगों से अपील की। कोरोना की गाइडलाइन की पूरी पालना करते हुए वोट करने आए और ज्यादा से ज्यादा इस लोकतंत्र के पर्व में अपनी हिस्सेदारी दें। पूर्व विधायक अशोक परनामी ने गीता भवन, आदर्श नगर में वोट डाला।

परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने सिविल लाइंस में वोट डाला
परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने सिविल लाइंस में वोट डाला

मास्क बांटे, सेनेटाइज करने के साथ सोशल डिस्टेंसिंग

कोरोना को देखते हुए इस बार निर्वाचन आयोग ने भी मतदान केन्द्र पर विशेष व्यवस्था कर रखी थी। कोई मतदाता अगर मास्क् पहनकर नहीं आया तो उसे मास्क दिए। वहीं सभी मतदाताओं को प्रवेश करने और वोट डालकर निकलने के बाद हैंड सेनेटाइज की व्यवस्था की गई। इसी तरह बीमार-बुजुर्गो के लिए वाहनों से बूथ तक लाने ले जाने के लिए व्हील चेयर की व्यवस्था की गई।

मतदान केंद्रों पर वोट डालने आने वाले मतदाताओं के हाथ सेनेटाइज करवाए गए। जिन्होंने मास्क नहीं लगा रखा था। उन्हें मास्क वितरित किया गया।
मतदान केंद्रों पर वोट डालने आने वाले मतदाताओं के हाथ सेनेटाइज करवाए गए। जिन्होंने मास्क नहीं लगा रखा था। उन्हें मास्क वितरित किया गया।

व्हीलचेयर मतदाताओं को बूथ तक जाने के लिए पुलिसकर्मी भी सहयोग करते नजर आए। वहीं, एक पोलिंग बूथ पर तो सुंदर सा नजारा देखने को मिला, जब एक 5 साल की बच्ची अपनी दादी के साथ मतदान केन्द्र पर पहुंची। दादी के हाथ से छड़ी लेकर पौती ने खुद पकड़ी और अपना हाथ दादी के हाथ में थमा उनको सहारा दिया।

पैदल, ई—रिक्शा व अपने निजी वाहनों से वोटिंग बूथों पर पहुंचे मतदाताओं का उत्साह ही अलग देखने को मिला
पैदल, ई—रिक्शा व अपने निजी वाहनों से वोटिंग बूथों पर पहुंचे मतदाताओं का उत्साह ही अलग देखने को मिला

पैदल, ई—रिक्शा व अपने निजी वाहनों से वोटिंग बूथों पर पहुंचे मतदाताओं का उत्साह ही अलग देखने को मिला। हालांकि इस बार पोलिंग बूथों पर मतदाताओं की लम्बी कतारें देखने को नहीं मिली, जो पहले लोकसभा, विधानसभा या निकाय चुनावों में देखने को मिलती थी। इसके पीछे कारण कोरोना संक्रमण का डर और दूसरा कारण बूथों की संख्या में इजाफा हर बूथ पर वोटरों की संख्या को कम करना रहा।

पहली बार वोट डालने आए तन्मय खण्डेलवाल ने बताया कि एक बार तो लिस्ट नाम नहीं देखकर उनको निराशा हुई। फिर जब सूची में काफी ढूंढने पर नाम नजर आया तो काफी खुशी हुई।
पहली बार वोट डालने आए तन्मय खण्डेलवाल ने बताया कि एक बार तो लिस्ट नाम नहीं देखकर उनको निराशा हुई। फिर जब सूची में काफी ढूंढने पर नाम नजर आया तो काफी खुशी हुई।

नहीं मिला वोटर लिस्ट में नाम तो बड़े भाई ने की मदद

इस बार चुनाव में कई ऐसे भी मतदाता थे, जो पहली बार वोट डालने आए। इनमें से एक मतदाता तन्मय खण्डेलवाल से जब भास्कर संवाददाता ने बात की तो उन्होने बताया कि वे यहां सुबह—सुबह अकेले आए, लेकिन तब वह गलत बूथ पर पहुंच गए और वोटिंग लिस्ट में नाम नहीं मिलने से निराश लौट गए। घर आकर जब बडे़ भाई के साथ दोबारा मतदान स्थल पर पहुंचे तो दूसरे बूथ पर जाकर सूची में नाम ढूंढा। लिस्ट में नाम मिलने के बाद वोट डालने बड़े भाई संग गए। वहीं 19 साल की खुशी शर्मा ने भी पहली बार वोट डालकर अपनी खुशी व्यक्त की और कहा कि मैं इसलिए वोट डालने आई हूं ताकि मेरी कॉलोनी का विकास और वहां सफाई की अच्छी व्यवस्था हो।

एक पोलिंग बूथ पर प्रत्याशी के आने जाने पर विवाद होने लगा। तब पुलिसकर्मियों ने समझाइश कर बाहर निकाला।
एक पोलिंग बूथ पर प्रत्याशी के आने जाने पर विवाद होने लगा। तब पुलिसकर्मियों ने समझाइश कर बाहर निकाला।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- परिस्थिति तथा समय में तालमेल बिठाकर कार्य करने में सक्षम रहेंगे। माता-पिता तथा बुजुर्गों के प्रति मन में सेवा भाव बना रहेगा। विद्यार्थी तथा युवा अपने अध्ययन तथा कैरियर के प्रति पूरी तरह फोकस ...

और पढ़ें