• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • On October 8, The Four Veterans Will Go From Jaipur To Vallabhnagar And Dhariyavad, Trying To Erase Political Distances On The Pretext Of Nomination Meetings Of Congress Candidates.

गहलोत-पायलट-डोटासरा-माकन फिर एक हेलिकॉप्टर उड़ान:आज जयपुर से वल्लभनगर और धरियावद जाएंगे, नामांकन सभाओं के बहाने सियासी दूरियां मिटाने की कोशिश

जयपुर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
इसी साल फरवरी में दो किसान सभाओं को संबोधित करने गहलोत-पायलट-माकन-डोटासरा एक साथ हेलिकॉप्टर में गए थे। - Dainik Bhaskar
इसी साल फरवरी में दो किसान सभाओं को संबोधित करने गहलोत-पायलट-माकन-डोटासरा एक साथ हेलिकॉप्टर में गए थे।

लम्बे समय के बाद सीएम अशोक गहलोत, पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट, कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी अजय माकन और प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा एक बार फिर एक साथ एक ही हेलिकॉप्टर में उड़ान भरेंगे। फिर एक ही मंच से चुनावी सभाओं को सम्बोधित करेंगे। उदयपुर के वल्लभनगर और प्रतापगढ़ के धरियावद में चारों नेता शुक्रवार को पार्टी प्रत्याशियों की चुनाव नामांकन की जनसभाओं को सम्बोधित करेंगे। इससे पहले ये चारों नेता फरवरी में डूंगरगढ़ और मातृकुंडिया में हुई किसान सभाओं के लिए जयपुर से एक साथ हेलिकॉप्टर में रवाना हुए थे।

सुबह 9:15 बजे जयपुर से हेलिकॉप्टर भरेगा उड़ान

ये चारों नेता सुबह 9:15 बजे हेलिकॉप्टर से जयपुर से रवाना होंगे। सुबह 11 बजे उदयपुर के वल्लभनगर पहुंचकर कांग्रेस प्रत्याशी प्रीति शक्तावत के समर्थन में नामांकन जनसभा को सम्बोधित करेंगे। इसके बाद दोपहर 12:30 बजे वल्लभनगर से रवाना होकर दोपहर 1 बजे प्रतापगढ़ के धरियावद पहुंचेंगे। वहां कांग्रेस प्रत्याशी नगराज मीणा के समर्थन में जनसभा करेंगे। दोपहर 2:30 बजे धरियावद से जयपुर के लिए रवाना होने और शाम 4:15 बजे जयपुर पहुंचने का कार्यक्रम है।

आमने-सामने बैठकर संवाद के प्रयास

कांग्रेस के ये चारों दिग्गज नेता एक मंच पर लम्बे वक्त के बाद नजर आएंगे। इस वक्त में बहुत कुछ बदला है। कई जुबानी तीर चले हैं। ऐसे में सियासी चर्चाएं ये हैं कि प्रभारी अजय माकन ने इन नेताओं के बीच की फिर से दूरियां मिटाने और पार्टी में एकता का संदेश देने के लिए एक ही हेलिकॉप्टर से जाने का प्लान तैयार करवाया है। इस बीच कोशिश रहेगी कि गहलोत और पायलट में संवाद हो।

पहले इन नेताओं के साथ होते थे दौरे
पहले इन नेताओं के साथ होते थे दौरे

गहलोत और पायलट के साथ चुनावी सभाओं में जाने के पीछे की रणनीति

कांग्रेस ने वल्लभनगर से सचिन पायलट के समर्थक रहे दिवंगत विधायक गजेन्द्र सिंह शक्तावत की पत्नी प्रीति शक्तावत को ही टिकट देकर सहानुभूति फैक्टर को भुनाने की कोशिश की है। ऐसे में पायलट अपने समर्थक दिवंगत विधायक के परिवार के साथ खड़े होकर चुनावी सभा करके जनता में संदेश देंगे। वल्लभनगर में कांग्रेस को बगावत का भी खतरा है, क्योंकि प्रीति शक्तावत के खिलाफ उनके जेठ देवेन्द्र शक्तावत खुलकर सामने आ गए हैं और बागी चुनाव लड़ने पर अड़े हुुए हैं। वहीं बीजेपी ने हिम्मत सिंह झाला को टिकट दिया है। इससे राजपूत वोट बंट सकते हैं। इससे कांग्रेस के वोट बैंक में सेंध लग सकती है और पार्टी को नुकसान हो सकता है। इसलिए भी चारों नेता एक साथ कांग्रेस वोटर्स को एक ही जगह प्रीति शक्तावत के समर्थन में वोट डालने की अपील करेंगे।

गहलोत-पायलट को साथ लाकर वोटबैंक साधने की कोशिश
गहलोत-पायलट को साथ लाकर वोटबैंक साधने की कोशिश

वहीं दूसरी ओर धरियावद में कांग्रेस ने पू्र्व विधायक नगराज मीणा को टिकट दिया है। जबकि बीजेपी ने खेत सिंह मीणा को टिकट दिया है। लेकिन बीजेपी के दिवंगत विधायक गौतमलाल मीणा के पुत्र कन्हैयालाल मीणा का टिकट नहीं दिया गया है। कांग्रेस इस मुद्दे को जनता के बीच भुना सकती है। वहीं नगराज मीणा दो बार के पूर्व विधायक रहे हैं और तीन बार विधानसभा चुनाव हार चुके हैं। ऐसे में उनके चुनाव लड़ने के अनुभव का भी फायदा उठा सकती है।

खबरें और भी हैं...