• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • On The Very Next Day, Leaving The AC, Fan, Cooler Running In The Offices, The Officers Disappeared, Dainik Bhaskar's Reality Check

अधिकारियों की कुर्सी को हवा दे रहे पंखे:गहलोत ने अपील की- बिजली बचाओ, अगले ही दिन AC, पंखे, लाइट, कूलर चालू छोड़कर अफसर दफ्तर से गायब

जयपुरएक वर्ष पहलेलेखक: नीरज शर्मा
विद्युत भवन के ऑफिसों में AC,पंखे,लाइटें खुले छोड़कर नदारद दिखे अफसर।

बिजली संकट झेल रहे राजस्थान में बिजली की बर्बादी पर सरकारी अफसर-कर्मचारी किस तरह आमादा हैं, इसका नजारा दैनिक भास्कर की टीम को आज रियल्टी चैक में देखने को मिला। कल मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 7 घंटे की कटौती पर प्रतिक्रिया देते वक्त जनता से बिजली बचाने की अपील की थी। इससे उलट अफसर AC, पंखा, कूल, लाइट चालू छोड़कर अपने दफ्तरों से गायब मिले। ऐसा लगा कि अधिकारी ही मुख्यमंत्री के निर्देशों को मानने को तैयार नहीं हैं।

RVPN के एक RAS की गैर मौजूदगी में ऑफिस रूम में चलते एसी और लाइट।
RVPN के एक RAS की गैर मौजूदगी में ऑफिस रूम में चलते एसी और लाइट।
जयपुर डिस्कॉम के अफसर की गैर मौजूदगी में ऑफिस रूम की जलती लाइटें।
जयपुर डिस्कॉम के अफसर की गैर मौजूदगी में ऑफिस रूम की जलती लाइटें।

रियलिटी चेक-1, विद्युत भवन: अफसर मीटिंग में, ऑफिस में चालू छोड़ी एसी-लाइटें और पंखें
मामला बिजली संकट से जुड़ा है इसलिए दैनिक भास्कर ने पहला रियलिटी चेक विद्युत भवन में किया। इस भवन में प्रदेश के बिजली विभाग, डिस्कॉम्स, प्रसारण निगम, वितरण निगमों, उत्पादन निगम के अफसर और खुद विभाग के ऊर्जा मंत्री, CMD, ACS बैठते हैं। दिनभर मीटिंग लेते हैं। यहीं से राज्यभर की बिजली के प्रोडक्शन, टेक्निकल प्रोबलम्स, बिजली खरीद, बिजली बेचने और मॉनिटरिंग का काम होता है। लेकिन विद्युत भवन के अधिकारी-कर्मचारी ही मनमाने ढंग से बिजली फूंकते नजर आए।

विद्युत भवन
विद्युत भवन

पड़ताल में सामने आया कि कई अधिकारी अपने रूम में मौजूद नहीं थे। खाली पड़े कमरों में लाइटें और AC ऑन दिखाई दिए। बिल्डिंग में सेंट्रल कूलिंग सिस्टम चालू मिला। लिफ्टों में पंखे भी चलते हुए मिले। जब लिफ्ट में कोई नहीं था, तब भी पंखे चलते दिखे। अधिकारी बोर्ड रूम में AC चलाकर मीटिंग कर रहे थे। जाते वक्त कमरों की लाइटें, पंखे और AC बन्द तक नहीं करके गए।

विद्युत भवन में खाली लिफ्टों में चलते रहते हैं पंखे
विद्युत भवन में खाली लिफ्टों में चलते रहते हैं पंखे

रियलिटी चेक-2, पंत कृषि भवन: वर्कर गॉन, एसी-पंखे-लाइटें सब ऑन
दैनिक भास्कर की टीम पंत कृषि भवन पहुंची तो वहां भी कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला। अलग-अलग अफसरों के कमरों में एसी, पंखे, लाइटें चालू मिली जबकि वहां कोई अधिकारी तक मौजूद नहीं था।

पंत कृषि भवन में कृषि विपणन विभाग में अफसरों-कर्मचारियों की गैरमौजूदगी में जलते लाइट पंखे।
पंत कृषि भवन में कृषि विपणन विभाग में अफसरों-कर्मचारियों की गैरमौजूदगी में जलते लाइट पंखे।

सीटों से अफसर और कर्मचारी नदारद मिले, लेकिन, AC और लाइटें बंद नहीं की गईं। बिल्डिंग में बड़ी संख्या में AC लगे हुए हैं। लगभग सभी एसी चालू दिखाई दिए।

पंत कृषि भवन में सचिव के ऑफिस में चलते एसी और लाइटें
पंत कृषि भवन में सचिव के ऑफिस में चलते एसी और लाइटें

रियलिटी चेक-3 सिविल लाइंस- VVIP इलाके सिविल लाइंस में बिजली कटौती नहीं
जयपुर के VVIP इलाके सिविल लाइंस में मुख्यमंत्री निवास, गवर्नर हाउस, लगभग सभी मंत्रियों के बंगले मौजूद हैं। यहां बिजली के लिए अलग से सेटअप लगाया हुआ है। जहां 24 घंटे मॉनिटरिंग होती है कि कहीं लाइट न चली जाए।

सिविल लाइंस पावर हाउस।
सिविल लाइंस पावर हाउस।

जिस समय शहर के कई हिस्सों में बिजली कटौती हुई, उस वक्त सिविल लाइंस में बिजली की कटौती नहीं की गई। इन तमाम माननीयों के निवासों की सप्लाई चालू मिली। मंत्रियों के अलावा VVIP के निवास यहां होने के कारण यहां बिजली कटौती करने की स्पष्ट मनाही है।

सिविल लाइंस में VVIP के लिए स्पेशल ट्रीटमेंट-यहां बिजली कटौती मना है।
सिविल लाइंस में VVIP के लिए स्पेशल ट्रीटमेंट-यहां बिजली कटौती मना है।

रियलिटी चेक-4 मानसरोवर : कई रिहायशी कॉलोनियों में बिजली कटौती हुई
मानसरोवर इलाके में धौलाई, पत्रकार कॉलोनी, रामपुरा रोड, मुहाना रोड इलाके में बिजली कटौती मिली। खम्भों और पावर हाउस पर बिजली विभाग के कर्मी मेंटेनेंस का काम करते हुए नजर आए। कई कॉलोनियों में घंटों तक बिजली गुल रही। जयपुर के करीब 200 इलाकों में बिजली कटौती को लेकर JVVNL ने जानकारी दी।

बिजली बचाने के CM के निर्देशों की अनदेखी कर रहे अफसर-कर्मचारी
7 अक्टूबर को मुख्यमंत्री निवास पर CM अशोक गहलोत ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बिजली संकट पर बैठक की थी। इसमें बिजली विभाग के आला अफसर, मुख्य सचिव सहित अलग-अलग जिलों के अफसरों से बिजली बचाने के लिए जागरूक करने को कहा था।

सीएम ने एक दिन पहले बैठक में अफसरों को दिए थे बिजली बचाने के सख्त आदेश।
सीएम ने एक दिन पहले बैठक में अफसरों को दिए थे बिजली बचाने के सख्त आदेश।

गहलोत ने सरकारी अफसरों को निर्देश दिए थे कि AC बन्द रखें। बिजली की बचत करें। केवल जरूरत पड़ने पर ही बिजली उपकरणों का इस्तेमाल करें,वरना उन्हें बाकी समय उपकरणों को बंद रखा जाए। लेकिन, सरकारी अफसर मनमानी करने से बाज नहीं आ रहे।

खबरें और भी हैं...