पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Preparations Begin To Give Corona Vaccine To Front Line Warriors, Russian Vaccine Trials To Begin Soon, ZyCov D Results Satisfactory

राहत की खबर:कोरोना वॉरियर्स को सबसे पहले लगेगी वैक्सीन, डेटाबेस बन रहा; जल्द शुरू होगा स्पूतनिक का ट्रायल

जयपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर में पिछले चार महीने पहले हुए एक वैक्सीन के ट्रायल  के बाद अब रूस में बनी वैक्सीन के ट्रायल की तैयारियां चल रही हैं। - Dainik Bhaskar
जयपुर में पिछले चार महीने पहले हुए एक वैक्सीन के ट्रायल के बाद अब रूस में बनी वैक्सीन के ट्रायल की तैयारियां चल रही हैं।

रशियन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड (RDIF) और भारत की दवा कंपनी हेटरो ने कोरोना की वैक्सीन स्पूतनिक V तैयार करने के लिए करार किया है। यह करार भारत में हर साल 10 करोड़ डोज बनाने का है। प्रोडक्शन की शुरुआत अगले साल से होगा। राजस्थान में वैक्सीन सबसे पहले फ्रंट लाइन वॉरियर्स को दी जाएगी, वैक्सीन कौन सी लगेगी ये भारत सरकार तय करेगी। इसको लेकर प्रशासन ने तैयारियां शुरू कर दी है। प्रशासन ने कोरोना वॉरियर्स का डेटाबेस बनाना शुरू कर दिया है। जयपुर में वैक्सीन के ट्रायल की भी तैयारियां शुरू हो गई हैं।

गुरुवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कोरोना से संबंधित चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ एक रिव्यू बैठक की थी, तब उसमें वैक्सीन की तैयारियों पर चर्चा हुई थी। मुख्यमंत्री ने कहा था कि जब भी वैक्सीन आए उसे किसे प्राथमिकता से लगाना है, इसका पहले ही निर्धारण कर लें। साथ ही उन्होंने वैक्सीन के सुरक्षित परिवहन एवं सुरक्षित वैक्सीनेशन समेत अहम मुद्दों पर चर्चा की। वैक्सीन को सेफ रखने, कोल्ड चैन सुविधाओं को सुदृढ़ करने, वैक्सीन लगाने वाले लोगों की डाटा एनालिसिस पर काम शुरू कर दिया है।

कलेक्टर की अध्यक्षता में बनेगी टास्क फोर्स
राज्य में कोरोना वैक्सीन के टीकाकरण अभियान के लिए मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक कमेटी बनाई है। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सचिव की मॉनिटरिंग में राज्य स्तरीय टीम और जिला स्तर पर अभियान के संचालन और क्रियान्वयन के लिए संबंधित जिला कलेक्टर की अगुवाई में टीम गठित की जाएगी। इनमें राज्य स्तरीय संचालन समिति टीकाकरण से संबंधित विभिन्न गतिविधियों और अन्तर-विभागीय मुद्दों पर समन्वय के साथ-साथ अभियान के लिए संसाधनों की उपलब्धता की योजना बनाएगी और उसे क्रियान्वित करेगी।