अध्यक्ष पद को लेकर गहलोत बोले- जो हाईकमान का आदेश:नामांकन भरने के संकेत, विधायक दल की बैठक में कहा- राहुल को आखिरी बार मनाऊंगा

जयपुर5 महीने पहले

कांग्रेस विधायक दल की बैठक में मंगलवार देर रात सीएम अशोक गहलोत ने राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर नामांकन दाखिल करने के संकेत दिए हैं। गहलोत ने बैठक में कहा कि मैं आखिरी बार राहुल गांधी से मिलकर उन्हें मनाने का प्रयास करूंगा, अगर राहुल नहीं माने तो फिर हाईकमान का जो आदेश होगा, उसके लिए आपको तकलीफ दूंगा।

गहलोत के यह कहने पर बैठक में कई विधायकों ने कहा कि आपको यहीं पर रहना है। इस पर गहलोत ने कहा कि मैं कुछ भी बन जाऊं, लेकिन आपसे दूर नहीं रहूंगा, अंतिम सांस तक राजस्थान की सेवा करूंगा। गहलोत ने बैठक में विधायकों से कहा कि आपके इलाके से जुड़ी जो भी मांगे हैं, वो पूरी होंगी। बजट जल्दी आ सकता है।

इससे पहले सीएम हाउस में उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ के सम्मान में सभी विधायकों का डिनर रखा गया। डिनर के बाद कांग्रेस विधायक दल की बैठक हुई। विधानसभा सत्र की रणनीति तय करने के अलावा कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर भी इस बैठक में चर्चा की गई।

सीएम हाउस में विधायक दल की बैठक को संबोधित करते कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा।
सीएम हाउस में विधायक दल की बैठक को संबोधित करते कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा।

गहलोत आज दिल्ली दौरे पर
गहलोत बुधवार सुबह दिल्ली दौरे पर जा रहे हैं। दिल्ली में गहलोत वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात करेंगे। शाम को दिल्ली से केरल के कोच्चि जाएंगे। गहलोत राहुल गांधी से मुलाकात करेंगे और सिंबोलिक रूप से यात्रा में शामिल होंगे। गहलोत राहुल को अध्यक्ष पद पर नामांकन भरने के लिए मनाने का प्रयास कर सकते हैं। गहलोत ने बैठक में खुद इसके संकेत दिए हैं। राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने की मांग पर डेलिगेट्स की बैठक में गहलोत हाथ खड़े करवा कर प्रस्ताव पारित करवा चुके हैं।

विधानसभा सत्र की रणनीति पर भी चर्चा
विधायक दल की बैठक में विधानसभा सत्र की रणनीति पर भी चर्चा हुई। सोमवार से विधानसभा की बैठकें चालू होने के बाद पहली बार विधायक दल की बैठक बुलाई गई है। आमतौर पर विधानसभा की बैठक से एक दिन पहले ही विधायक दल की बैठक करके रणनीति बनाई जाती है। इस बार दाे दिन बाद यह बैठक की जा रही है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 17 सितंबर को पीसीसी मेंबर्स की बैठक में राहुल गांधी को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव रखते हुए डेलिगेट्स से हाथ खड़े करवाए थे।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 17 सितंबर को पीसीसी मेंबर्स की बैठक में राहुल गांधी को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव रखते हुए डेलिगेट्स से हाथ खड़े करवाए थे।

इससे पहले 17 सितंबर को नए बने पीसीसी मेंबर्स की बैठक में गहलोत ने राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने की राय पर हाथ खड़े करवाए थे। सभी नेताओं ने राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने के प्रस्ताव का समर्थन किया था।

कांग्रेस अध्यक्ष पद पर गहलोत के नाम की चर्चाएं
सियासी हलकों में गहलाेत का नाम कांग्रेस अध्यक्ष के दावेदारों में चल रहा है। गहलोत की उम्मीदवारी को लेकर नामांकन के वक्त ही तस्वीर साफ होगी।

ये खबरें भी पढ़ें...

कांग्रेस अध्यक्ष पद की दौड़ में गहलोत-थरूर:राजस्थान के CM अगले हफ्ते नामांकन कर सकते हैं

कांग्रेस के दो दिग्गज नेता पार्टी के अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ सकते हैं। एक तरफ राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत हैं तो दूसरी तरफ केरल से पार्टी सांसद शशि थरूर। सूत्रों के मुताबिक गहलोत 26 से 28 सितंबर के बीच कभी भी नामांकन दाखिल कर सकते हैं। वहीं थरूर ने भी सोमवार को सोनिया गांधी से मिलकर मैदान में उतरने की तैयारी कर ली है। पढ़ें पूरी खबर...

7 राज्यों ने दिया राहुल को अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव, 17 अक्टूबर को होना है चुनाव

कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव से पहले 7 राज्यों की कांग्रेस कमेटियों ने राहुल गांधी को पार्टी की कमान सौंपने का प्रस्ताव पास किया है। हाल ही में महाराष्ट्र, बिहार,जम्मू-कश्मीर और तमिलनाडु कांग्रेस कमेटी ने इसका प्रस्ताव पास किया, जबकि राजस्थान, गुजरात और छत्तीसगढ़ पहले ही इसे मंजूरी दे चुके हैं। कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव के लिए 23 सितंबर को अधिसूचना जारी होगी, जबकि 17 अक्टूबर को चुनाव प्रस्तावित है। पढ़ें पूरी खबर...