कांग्रेस नेता सुचित्रा आर्य बोलीं- सचिन पायलट को सीएम बनाएं:कहा- सीएम नहीं बनाया तो पार्टी का बंटाधार होगा, अति हो गई है

जयपुर10 दिन पहले

कांग्रेस में बागियों के खिलाफ कार्रवाई और लीडरशिप बदलाव की मांग को लेकर एक बार फिर बयानबाजी शुरू हो गई है। वन मंत्री हेमाराम चौधरी के बाद अब स्टेट एग्रीकल्चर इंडस्ट्री बोर्ड की उपाध्यक्ष सुत्रित्रा आर्य ने पायलट को सीएम बनाने की मांग उठाते हुए देरी पर सवाल उठाए हैं। सुचित्रा आर्य ने कहा- सचिन पायलट को अब मुख्यमंत्री बना देना चाहिए, अति हो गई है। पायलट को सीएम नहीं बनाया तो पार्टी का बंटाधार हो जाएगा। सुचित्रा आर्य जयपुर में पंत कृषि भवन में मीडिया से बातचीत कर रही थीं।

सुचित्रा आर्य ने कहा- प्रदेश में असमंजस की स्थिति को जल्द से जल्द दूर किया जाना चाहिए। ​असमंजस के हालात को जल्द दूर नहीं किया तो स्थिति और बिगड़ सकती है। हेमाराम चौधरी का बयान आने के बाद कुछ कहना बाकी नहीं रह गया है। कांग्रेस में सचिन पायलट बड़ा चेहरा हैं। पायलट आज जहां भी जाते हैं, लाखों आदमी उनका भाषण सुनने इकट्ठा होते हैं। अब अति हो गई है। सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बना देना चाहिए। पंजाब वाली स्थिति राजस्थान में नहीं है। सचिन पायलट को सीएम बना दिया जाता है तो सरकार दोबारा बन जाएगी।

सुचित्रा आर्य ने कहा- सचिन पायलट को सीएम नहीं बनाया तो फिर पार्टी का बंटाधार होगा। राहुल गांधी के राजस्थान में घुसने की देर है। पूरा राजस्थान राहुल के पीछे खड़ा है। राजस्थान में यात्रा को लेकर भारी उत्साह है।

बागियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई हो, कार्यकर्ता आहत हैं
सुचित्रा आर्य ने 25 सितंबर को विधायक दल की बैठक का बहिष्कार करने वाले तीनों नेताओं के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। सुचित्रा आर्य ने ट्वीट करके विधायक दल की ​बैठक का बहिष्कार करने वालों पर कार्रवाई नहीं करने पर सवाल उठाए हैं।
सुचित्रा आर्य ने लिखा- 25 सितंबर को टेंट, बसें और इस्तीफों पर जबरन दस्तखत साफ बता रहे थे, अनुशासनहीनता के साथ पार्टी के विरुद्ध षड्यंत्र हुआ। सरकार में प्रमुख ओहदे पर रहते हुए पार्टी हाईकमान की अवहेलना करके अनुशासन तोड़कर दूषित परम्परा कायम करना चाहते थे। उस घटना से संगठन के नेता,कार्यकर्ता तो आहत हैं ही, पार्टी विचारधारा से सहमति रखने वाला आम वोटर भी आहत है। पार्टी को नुकसान पहुंचाने वाले अनैतिक काम को कतई स्वीकार नहीं करना चाहिए, पार्टी हित में कठोर कार्रवाई जरूरी है।

पायलट समर्थक सुचित्रा आर्य दिग्गज कांग्रेस नेता और राजस्व मंत्री रहे कुंभाराम आर्य की पुत्रवधू हैं। वे कांग्रेस टिकट पर चुनाव लड़ चुकी हैं।

मंत्री हेमाराम चौधरी भी उठा चुके बागियों पर कार्रवाई करने और पायलट को जिम्मेदारी देने की मांग

सचिन पायलट समर्थक वन मंत्री हेमाराम चौधरी ने शनिवार को सियासी बवाल के जिम्मेदार तीनों नेताओं पर जल्द कार्रवाई करने और पायलट को जिम्मेदारी देने की मांग उठाई है। हेमाराम चौधरी ने कहा था कि 25 सितंबर को हुए घटनाक्रम के बाद राजस्थान में कांग्रेस कार्यकर्ता व जनता में अनिश्चितता का वातावरण है। सरकार अनिश्चितता से गुजर रही है। हाईकमान को 25 सितंबर की घटना के जिम्मेदार तीनों नेताओं के खिलाफ जल्द कार्रवाई करनी चाहिए। सचिन पायलट ने विपक्ष में रहते हुए पार्टी को फिर से जीवित किया। उनकी वजह से ही पार्टी सत्ता में आई। पायलट ने मेहनत की, उस मेहनत को देखते हुए उन्हें जिम्मेदारी दी जानी चाहिए। अगर एक तरफा चलेंगे तो पार्टी को नुकसान होगा।

ये भी पढ़ें

​​​​​​​मंत्री ने कलेक्टर को मंच से बाहर निकाला, VIDEO:फोन पर बात कर रहे थे कलेक्टर, नाराज रमेश मीणा बोले- आप यहां से जाइये

पंचायत राज मंत्री रमेश मीणा ने बीकानेर में एक कार्यक्रम के दौरान कलेक्टर भगवती प्रसाद कलाल को बाहर निकाल दिया। दरअसल, मीणा मंच से भाषण दे रहे थे। उस वक्त कलेक्टर मोबाइल फोन पर बात कर रहे थे। मीणा इससे नाराज हो गए। कलेक्टर को कहा- आप यहां से जाइये। तब कलेक्टर बाहर चले गए। बाद लोगों के बूलाने पर वापस आ गए।​​​​​​​ (पूरी खबर पढ़ें)

खबरें और भी हैं...