• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Rajasthan Coronavirus RT PCR Test Report Mandatory; Reality Check On Jaipur Railway Station And Sindhi Camp Bus Stand

भास्कर रियलिटी चेक:जयपुर में बाहर से आने वालों की कोरोना जांच के नाम पर केवल रस्मअदायगी, जयपुर जंक्शन पर एक काउंटर के भरोसे हजारों यात्री

जयपुर10 महीने पहले
जयपुर रेलवे जंक्शन पर बाहर से आए यात्री जिनके पास RTPCR रिपोर्ट नहीं थी उनका सैंपल लेती मेडिकल टीम।
  • राज्य सरकार ने गुरुवार से दूसरे प्रदेश से आने वालों के लिए कोरोना की RTPCR की निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य की है

दूसरे राज्यों से राजस्थान आने वाले लोगों के लिए गुरुवार से कोरोना की RTPCR की नेगेटिव रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य है। राज्य सरकार ने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग को रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड पर आने वाले हर यात्री की जांच रिपोर्ट देखने और सैंपलिंग के निर्देश दिए हैं। मेडिकल विभाग की ओर से यहां जांच के लिए जो व्यवस्थाएं की गई वह रस्मअदायगी से ज्यादा और कुछ नजर नहीं आई। हालांकि, जयपुर एयरपोर्ट पर फिर भी व्यवस्था इन दोनों जगहों के मुकाबले ज्यादा बेहतर रही।

गुरुवार को सुबह 6 से दोपहर 2 बजे तक जयपुर रेलवे स्टेशन पर दूसरे राज्यों से लगभग 9 गाड़ियां आई। इसमें से एक हजार यात्रियों की भी जांच बमुश्किल से की होगी। क्योंकि आधे से ज्यादा यात्री तो जयपुर जंक्शन पर उन गेट से बाहर निकल आए। जहां कोई रोकने टोकने वाला ही नहीं। वहीं जयपुर सिंधी कैंप बस स्टैंड पर तो जहां टीम जांच के लिए बैठी है वह ऐसी जगह है, जहां बस रूक ही नहीं सकती है।

सिंधी कैंप बस स्टैंड पर बैठी टीम एक महिला यात्री से पूछताछ करती हुई।
सिंधी कैंप बस स्टैंड पर बैठी टीम एक महिला यात्री से पूछताछ करती हुई।

सिंधी कैंप बस स्टैंड...
जयपुर का सिंधी कैंप बस स्टैंड पर स्वास्थ्य विभाग ने गेट नं. एक (जहां बस एंट्री होती है) पर 3 सदस्यों की एक टीम बैठा दी। टीम में दो महिलाएं, एक पुरूष है। वे सिर्फ वहां से गुजरने वाले लोगों को बुला-बुला कर RTPCR टेस्ट के लिए रैंडम सैंपल ले रही हैं। जबकि टीम जहां बैठी है वहां तो बस रूक भी नहीं रही है। बस प्लेटफार्म के सामने रूकती है, जहां से यात्री उतरकर आराम से चले जाते हैं। इन यात्रियों की RTPCR रिपोर्ट देखने वाला कोई नहीं है। सिंधी कैंप बस डिपो के मुख्य प्रबंधक भानु प्रताप सिंह बताते हैं कि यहां हर रोज हरियाणा, पंजाब, दिल्ली, उत्तर प्रदेश से लगभग 225 से 240 की संख्या में बसें आ रही हैं। जबकि दोपहर 3 बजे तक टीम ने यहां केवल 151 लोगों के ही सैंपल लिए।

जयपुर रेलवे जंक्शन पर यात्री की आरटीपीसीआर रिपोर्ट देखती मेडीकल टीम।
जयपुर रेलवे जंक्शन पर यात्री की आरटीपीसीआर रिपोर्ट देखती मेडीकल टीम।

जयपुर रेलवे जंक्शन...
जयपुर जंक्शन की बात करें तो यहां स्वास्थ्य विभाग ने गेट नं. 2 के सामने एस्केलेटर के पास एक टीम बैठा रखी है। इसी टीम पर जयपुर में आने वाली तमाम ट्रेनों के पैसेंजर की जांच की जिम्मेदारी है। इस टीम के पास भी केवल वही पैसेंजर आते हैं जो प्लेटफार्म नं. 2, 3, 4 और 5 पर आने वाली ट्रेनों से उतरते हैं। यहां भी स्थिति ये है कि बाहर से आने वाली ट्रेनों में आने वाले यात्रियों में से 20% यात्रियों की भी सैंपलिंग या RTPCR रिपोर्ट नहीं चेक कर पाते हैं। इसके पीछे कारण जंक्शन से निकलने के लिए यात्री गेट नं. 1, 2 के अलावा हसनपुरा स्थित गेट है। इन सभी जगहों पर यात्रियों की जांच की कोई व्यवस्था नहीं है। गुरुवार को जयपुर जंक्शन पर सुबह 6 से दोपहर 2 बजे तक करीब 380 लोगों के सैंपल लिए गए। जबकि यहां इलाहाबाद, मुंबई, वाराणासी, जबलपुर, जम्मू, काठगोदाम, भोपाल से ट्रेनें आ चुकी हैं।

जयपुर के सेटेलाईट रेलवे स्टेशन गांधी नगर का एग्जिट गेट जहां जांच की कोई व्यवस्था नहीं है।
जयपुर के सेटेलाईट रेलवे स्टेशन गांधी नगर का एग्जिट गेट जहां जांच की कोई व्यवस्था नहीं है।

सेटेलाइट स्टेशनों पर कोई व्यवस्था नहीं
जयपुर जंक्शन के अलावा सेटेलाइट स्टेशनों पर तो कोई व्यवस्था ही नहीं है। गांधी नगर, दुर्गापुरा, जगतपुरा, कनकपुरा स्टेशनों पर बड़ी संख्या में गाड़ी रूकती है, जहां जयपुर आने वाले 50% से ज्यादा यात्री उतर जाते है। इन स्टेशनों पर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से कोई टीम नहीं लगाई है। गांधी नगर स्टेशन की बात करें तो यहां दिल्ली-आगरा रूट से रोजाना लगभग 30 गाड़ियां आ रही है, लेकिन जांच करने वाला कोई नहीं है।

जयपुर सिंधी कैंप बस स्टैंड पर यात्रियों से सोशल डिस्टेंसिंग बनाने और मास्क लगाने के लिए समझाइश करते डिपो मैनेजर भानु प्रताप सिंह व अन्य अधिकारी।
जयपुर सिंधी कैंप बस स्टैंड पर यात्रियों से सोशल डिस्टेंसिंग बनाने और मास्क लगाने के लिए समझाइश करते डिपो मैनेजर भानु प्रताप सिंह व अन्य अधिकारी।

जिनके पास रिपोर्ट नहीं उनका सैंपल लिया
बाहर से आने वाले जो यात्री अपनी आरटीपीसीआर रिपोर्ट नहीं दिखा पा रहे उनसे उनका पहचान पत्र लेकर उसमें से नाम, फोन नं. पता लिखकर उनका सैंपल लिया जा रहा है। ताकि जांच रिपोर्ट आने के बाद उनको फोन करके सूचित किया जा सके।

जयपुर रेलवे स्टेशन पर बने टिकट काउंट पर टिकट लेने के लिए खड़े यात्री।
जयपुर रेलवे स्टेशन पर बने टिकट काउंट पर टिकट लेने के लिए खड़े यात्री।
खबरें और भी हैं...