वैक्सीनेशन में चौथे नंबर पर राजस्थान:शुक्रवार को कुल 1.34 लाख टीके लगाकर 3 करोड़ वैक्सीनेशन की सूची में शामिल हुआ प्रदेश, 25 जिलों में कल बंद रहेंगे 90% से ज्यादा सेंटर

जयपुर3 महीने पहले

कोरोना वैक्सीनेशन के मामले में राजस्थान पूरे देश में चौथे नंबर पर है। राज्य में शुक्रवार को 1.34 लाख डोज लगाने के साथ राजस्थान 3 करोड़ डोज लगाने वाले राज्यों की लिस्ट में शामिल हो गया है। उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र और गुजरात के बाद राजस्थान ऐसा प्रदेश है, जहां 3 करोड़ से ज्यादा डोज लग चुकी है। भले ही राज्य ने वैक्सीनेशन में नया कीर्तिमान बना लिया हो, लेकिन वैक्सीन का संकट खत्म होने का नाम नहीं ले रहा। शनिवार को भी राज्य के 25 जिलों में वैक्सीनेशन के 90 फीसदी से ज्यादा सेंटर बंद रहेंगे। राजस्थान में टीकाकरण परियोजना के निदेशक डॉ. रघुराज सिंह ने बताया कि प्रदेश में अब तक 2.38 करोड़ से ज्यादा लोगों को ये 3 करोड़ 82,297 डोज लगाई जा चुकी है। इनमें से 62 लाख 18,287 लोग ऐसे हैं, जिनका वैक्सीनेशन पूरा (दोनों डोज लग चुकी) हो चुका है। डॉ. सिंह ने बताया कि शुक्रवार को राज्य में केवल 1.09 लाख डोज आई है, जो जयपुर, सीकर, कोटा, अजमेर सहित कुल 5 जिलों में भिजवा दी है। ऐसे में अब शनिवार को शेष जिलों में वैक्सीनेशन का संकट बना रहेगा।

MP, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, बिहार से भी आगे

राजस्थान वैक्सीनेशन के मामले में अपनी से ज्यादा आबादी वाले राज्य जैसे मध्य प्रदेश (MP), तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक और बिहार से भी आगे है। पश्चिम बंगाल में अब तक 2.70 करोड़ डोज, तमिलनाडु में 2.04 करोड़, मध्य प्रदेश में 2.68 करोड़, बिहार में 2.16 और कर्नाटक में 2.82 करोड़ डोज लगी है।

वैक्सीन नहीं मिलने के कारण चौथे नंबर पर आया

वैक्सीनेशन के मामले में मई तक राजस्थान की स्थिति पूरे देश में दूसरे नंबर पर थी, लेकिन जून और जुलाई में वैक्सीन का स्टॉक कम आने के कारण राजस्थान धीरे-धीरे पीछे हो गया और अब चौथे नंबर पर आ गया। राज्य में वर्तमान में 15 लाख डोज हर रोज लगाने की कैपेसिटी है।

31 फीसदी आबादी को कम से कम एक डोज लगी

राजस्थान की स्थिति देखें तो राज्य में अनुमानित 7.70 करोड़ की आबादी है। इस आबादी का 31 फीसदी लोग (कुल 2 करोड़ 38 लाख 64,010) कोरोना वैक्सीन की कम से कम एक डोज ले चुके हैं।

खबरें और भी हैं...