मंत्री के सामने ऊंची आवाज, महिला को धक्के देकर निकाला:महिला बाल विकास मिनिस्टर ममता भूपेश के बंगले पर हुई बदसलूकी

जयपुर17 दिन पहले

महिला बाल विकास मंत्री ममता भूपेश के सरकारी बंगले पर आई महिला को धक्के देकर बाहर निकाल दिया गया। यह पूरी घटना मंत्री की मौजूदगी में हुई। शिकायत लेकर पहुंची महिला किसी बात को लेकर मंत्री से तेज आवाज में बात करने लगी थी। घटना 18 जनवरी को अस्पताल रोड की है। इसका VIDEO शनिवार को सामने आया है।

वीडियो में मंत्री ममता भूपेश भी दिख रही हैं। महिला इस वीडियो में मंत्री से कुछ कह रही है। इस पर मंत्री कहते सुनाई दे रही है कि मेरा जो कुछ होगा वह मैं देख लूंगी। इसके बाद मंत्री के स्टाफ में से एक व्यक्ति उस महिला को धक्के देकर बाहर निकालते हुए दिख रहा है। मंत्री ने इस मुद्दे पर कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है।

ममता भूपेश राजस्थान सरकार में महिला बाल विकास मंत्री हैं।
ममता भूपेश राजस्थान सरकार में महिला बाल विकास मंत्री हैं।

कांग्रेस मुख्यालय में सुनवाई बंद,अब मंत्रियों के बंगलों के अलावा फरियादी कहां जाएं?
दरअसल, पहले प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में सोमवार से गुरुवार तक मंत्रियों की जनसुनवाई शुरू की गई थी। आम लोग अपनी शिकायत लेकर जा सकते थे।

अब प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में सुनवाई लंबे समय से बंद है। किसी को शिकायत लेकर जाना हो तो मंत्रियों के सरकारी बंगलों पर जाने के अलावा कोई चारा नहीं है। मंत्री के घर फरियादी महिला को धक्का देकर निकाले जाने की घटना के बाद मंत्रियों की जनसुनवाई और पब्लिक​ डीलिंग के तरीके पर सवाल उठाए जा रहे हैं।

राहुल गांधी ने मंत्रियों को जनता के लिए दरवाजे खुले रखने को कहा था

राहुल गांधी ने चुनाव से पहले वादा किया था कि सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री से लेकर सरकार के मंत्रियों के दरवाजे जनता के लिए खुले रहेंगे। सरकार बनने के बाद भी राहुल गांधी ने कई बार मंत्रियों को जनता के बीच रहने और सुनवाई करने की नसीहत दी थी।

सीएम अशोक गहलोत और प्रदेश प्रभारी भी बैठकों में कई बार निर्देश दे चुके हैं। इसके बावजूद कई मंत्रियों के बंगलों पर आम लोगों को मिलने में दिक्कतें आती हैं।

ग्रामीण विकास मंत्री के बंगले के गेट बंद होने पर जिला परि​षद सदस्यों ने हंगामा किया था

दो दिन पहले 19 जनवरी को जिला परिषद सदस्यों ने ग्रामीण विकास मंत्री रमेश मीना के सरकार बंगले के बाहर हंगामा किया था। जिला परिषद सदस्यों का मंत्री के बंगले के बाहर गेट खोलने का आग्रह करते हुए वीडियो भी सामने आया था।

जिला परिषद सदस्य और कांग्रेस नेता इस बात से नाराज थे कि उन्हें टाइम देने के बावजूद मंत्री के बंगले के बाहर दरवाजा लॉक कर दिया गया।

ये भी पढ़ें

पायलट को कोरोना-गद्दार कहने पर थरूर का तंज:गहलोत के लिए कहा- सोच-समझकर बोलें; राजनीति के कारण रोमांस पर लिखने का समय नहीं मिल रहा

पूर्व डिप्टी CM सचिन पायलट को नकारा-निकम्मा, गद्दार-कोरोना कहने पर सांसद शशि थरूर ने सीएम अशोक गहलोत को नसीहत दी है। उन्होंने कहा- जब हम अपने साथियों के बारे में बोल रहे हैं तो सोच समझकर बोलना चाहिए। मैंने विरोधियों को भी ऐसे शब्द नहीं कहे। थरूर शनिवार को जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल (जेएलएफ) में गहलोत की ओर से पायलट को गद्दार और कोरोना कहने को लेकर पूछे गए सवाल का जवाब दे रहे थे। (पूरी खबर पढ़ें)