मंत्री गुढ़ा बोले- अब पायलट से बेस्ट कोई फेस नहीं:सचिन के नेतृत्व में सरकार रिपीट करेगी कांग्रेस, नवरात्र में CM बन जाएंगे

जयपुर4 महीने पहले

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष के चुनाव में नामांकन की तैयारियों के बीच राजस्थान में नए सीएम के लिए रेस शुरू हो गई है। गहलोत के अध्यक्ष बनने के बाद सीएम पद छोड़ने के बयान से पार्टी में दिल्ली से जयपुर तक सियासी सरगर्मियां बढ़ गई हैं।

सचिन पायलट विधायकों से मिल रहे हैं। पायलट और गहलोत के समर्थन में बयानबाजी का दौर शुरू हो गया है। ग्रामीण विकास राज्य मंत्री राजेंद्र सिंह गुढ़ा ने सचिन पायलट को सीएम बनाने की पैरवी करते हुए उन्हें सबसे बेस्ट फेस बताया है। उधर हेल्थ मिनिस्टर परसादीलाल मीणा ने गहलोत के साथ होने की बात कही है।

गुढ़ा ने कहा- अशोक गहलोत का अब कांग्रेस अध्यक्ष बनना तय हो गया है। गहलोत के बाद अब मेरी जानकारी में कांग्रेस में पायलट से बेस्ट कोई फेस नहीं है। गहलोत के बाद पायलट से बढ़कर कोई विकल्प नहीं है। मुझे लगता है अब नवरात्र में पायलट वाला काम हो जाएगा। वे सीएम बन जाएंगे। सचिन युवा नेता हैं। अपने अंदाज से राजनीति करते हैं। गुढ़ा जयपुर में मीडिया से बातचीत कर रहे थे।

21 सितंबर को सचिन पायलट ने भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होकर राहुल गांधी से चर्चा की।
21 सितंबर को सचिन पायलट ने भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होकर राहुल गांधी से चर्चा की।

गुढ़ा ने कहा- मुख्यमंत्री का फैसला अब आलाकमान को करना है। आलाकमान जो फैसला करेगी, उसका सभी कांग्रेस विधायक, हम बसपा से आने वाले छह विधायक, निर्दलीय और जितने भी सहयोगी हैं, सब साथ रहेंगे। यह गारंटेड बात है। कहीं कोई विरोधाभास नहीं है। 2023 में हम शानदार तरीके से चुनाव लड़ेंगे। कांग्रेस की सरकार रिपीट करेंगे। इस बार कांग्रेस सरकार ने अच्छा काम किया है। सचिन पायलट सीएम होंगे तो नेता के चेहरे का भी फर्क पड़ता है।

राजस्थान विधानसभा में सचिन पायलट ने शुक्रवार को कांग्रेस के विधायकों के साथ मुलाकात की। इनमें गहलोत गुट के भी कई विधायक शामिल थे।
राजस्थान विधानसभा में सचिन पायलट ने शुक्रवार को कांग्रेस के विधायकों के साथ मुलाकात की। इनमें गहलोत गुट के भी कई विधायक शामिल थे।

बारिश का शगुन अच्छा होता है
गहलोत जब दिल्ली गए, बारिश हुई। उन्होंने कहा- शगुन अच्छा है। इसका मतलब देश में कांग्रेस मजबूत होगी। पायलट जयपुर आए तब बारिश हो रही थी। यहां भी बारिश का शगुन अच्छा हुआ। मुझे लग रहा है कि पायलट के नेतृत्व में कांग्रेस 2023 में सरकार बनाएगी।

पायलट ने अमीन खान, मोरदिया ने की मुलाकात
पायलट आज भी जयपुर में अपने बंगले पर विधायकों से मुलाकात कर रहे हैं। पायलट से सुबह शिव से विधायक अमीन खान और धोद से विधायक परसराम मोरदिया ने मुलाकात की। दाेनों ही विधायक गहलोत खेमे के माने जाते हैं, लेकिन पिछले कुछ समय से नाराज बताए जा रहे हैं।

गहलोत गुट के विधायकों से मिले पायलट

शुक्रवार को राजस्थान विधानसभा में सचिन पायलट ने कांग्रेस के विधायकों के साथ मुलाकात की। सचिन पायलट ने सभी गुटों के कांग्रेस विधायकों से बात करना शुरू कर दिया है। इनमें वे विधायक भी शामिल हैं, जो कभी उनके कट्टर विरोधी माने जाते रहे हैं। राहुल गांधी से मुलाकात के बाद सचिन पायलट का एक्टिव होकर विधायकों से बात करना नई जिम्मेदारी मिलने के सिग्नल के तौर पर देखा जा रहा है। सचिन पायलट के अलावा पूर्व केंद्रीय मंत्री और विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी का नाम भी दावेदारों में शामिल है। पूरी खबर यहां पढ़ें...

सीएम के लिए सीपी जोशी की पैरवी पर बोले गहलोत
सीएम अशोक गहलोत अध्यक्ष पद के लिए नामांकन पेश करेंगे। भारत जोड़ो यात्रा पर निकले राहुल गांधी ने गुरुवार को केरल में कहा- हम एक नेता-एक पद का संकल्प निभाएंगे। गहलोत ने भी सीएम पद छोड़ने के संकेत दिए हैं। ऐसे में भास्कर के स्टेट एडिटर (प्रिंट) मुकेश माथुर ने गहलोत से बात की। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

गहलोत अध्यक्ष बने तो 4 बातें संभव
कांग्रेस में राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव राजस्थान में सबसे बड़ा चर्चा का मुद्‌दा बना हुआ है। इसमें राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का नाम भी एक मजबूत चेहरे के रूप में सामने आ रहा है। खुद उन्होंने विधायक दल की बैठक में इस बात के संकेत दिए हैं। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

ये भी पढ़ें...

विरोधी रहे सीपी जोशी की पैरवी क्यों करेंगे गहलोत:14 साल पहले राजनीति छोड़ने वाले थे; पढ़िए- कैसे CM की रेस में आ गए

अध्यक्ष के लिए गांधी परिवार की पसंद गहलोत ही क्यों?:भरोसेमंद होने के साथ भाजपा को दे रहे टक्कर, पायलट की राह आसान नहीं